अपना शहर चुनें

States

'साइकिल' का हैंडल और 'हाथी' की पूंछ पकड़कर लटक गया है 'पंजा': दिनेश शर्मा

यूपी के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा (फाइल फोटो)
यूपी के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा (फाइल फोटो)

मायावती ने वर्ष 1995 में हुए गेस्ट हाउस कांड के लिये सपा के लोगों पर जान लेने का प्रयास करने का आरोप लगाया था. उस समय भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उनकी जान बचाई थी लेकिन आज ‘मोदी और योगी’ सत्ता में न आने पाएं, इसके लिए वह अपनी ही हत्या का प्रयास करने वालों के साथ गठबंधन कर रही हैं.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने रविवार को कहा कि भाजपा को सत्ता में नहीं आने देने के लिए एकजुट हुई सपा और बसपा का गठबंधन, दरअसल कभी टूटा ही नहीं था. शर्मा ने यहां मोहिउद्दीपुर कोन में आयोजित विकलांग सम्मान समारोह से इतर संवाददाताओं से बातचीत में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सपा और बसपा के गठबंधन के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा, 'इन दोनों पार्टियों का गठबन्धन तो कभी टूटा ही नहीं था'.

उन्होंने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार थी, तब सपा और बसपा दोनों उसके साथ थे. हालांकि शर्मा ने कहा कि यह खेद का विषय है कि बसपा मुखिया मायावती पहले सपा को गुंडों की पार्टी कहती थीं और अब उसी पार्टी के साथ गठबंधन कर रही हैं.

मायावती ने वर्ष 1995 में हुए गेस्ट हाउस कांड के लिए सपा के लोगों पर जान लेने का प्रयास करने का आरोप लगाया था. उस समय भाजपा के कार्यकर्ताओं ने उनकी जान बचाई थी. लेकिन आज ‘मोदी और योगी’ सत्ता में न आने पाएं, इसके लिए वह अपनी ही हत्या का प्रयास करने वालों के साथ गठबंधन कर रही हैं.



उन्होंने कांग्रेस का जिक्र करते हुए कहा कि उसने हाथ के ‘पंजे’ से देश को खूब लूटा-खसोटा. अब वह साइकिल (सपा का चुनाव निशान) का हैंडल और हाथी (बसपा का चुनाव चिह्न) की पूंछ पकड़कर लटक गई है.
प्रदेश के माध्यमिक एवं उच्च शिक्षा विभाग का भी जिम्मा सम्भाल रहे शर्मा ने एक सवाल पर कहा कि विद्यालयों में शिक्षकों और छात्रों की उपस्थिति दर्ज करने के लिए बायोमेट्रिक व्यवस्था लागू की जाएगी. अब सरकारी विद्यालयों में भी एनसीईआरटी की तर्ज पर पाठ्यक्रम लागू होंगे और शिक्षण सत्र अप्रैल माह से शुरू कर दिए जाएंगे.

ये भी पढ़ें- अवैध संबंधों के चलते मां ने की 9 साल के मासूम बेटे की हत्या

अखिलेश बोले- अपनी सीट भी नहीं बचा सके योगी, BJP को अब कहीं भी हराना आसान

जो अपने पिता-चाचा का नहीं हुआ वह अपनी बुआ का कैसे होगा: केशव मौर्य

बसपा के कारण अखिलेश नहीं मनाएंगे जया बच्चन की जीत का जश्न
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज