मुंबई से बिहार जा रहे प्रवासी कामगारों को मिर्जापुर में बेकाबू डंपर ने कुचला, तीन की मौत, एक घायल

इनोवा ने सात कामगार मुम्बई से बिहार के गोपालगंज को निकले थे

इनोवा ने सात कामगार मुम्बई से बिहार के गोपालगंज को निकले थे

शुक्रवार तड़के तीन बजे के करीब खाली डंपर जमीन पर सो रहे लोगों को कुचलते हुए दीवार से जा टकरायी. इस हादसे में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी. जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. एक अन्य व्यक्ति भी इसमें घायल हुआ है

  • Share this:
मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मिर्जापुर जनपद में हाइवे किनारे सो रहे प्रवासी श्रमिकों को एक तेज रफ्तार डंपर ने कुचल दिया. इस दर्दनाक हादसे (Road Accident) में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. मृतक मुंबई (Mumbai) में काम करते थे जो लॉकडाउन (Lockdown) में काम-धंधा ठप होने के बाद अपने घर बिहार के गोपालगंज लौट रहे रहे थे. पुलिस ने डंपर को कब्जे में लेकर आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है. हादसे की सूचना मिलने पर जिले के आलाधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया. उन्होंने मृतकों के परिजनों को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया.

चार लोग सड़क पर सो रहे थे

यह दर्दनाक हादसा गुरुवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात हुआ. जानकारी के मुताबिक दुर्घटना के शिकार लोग हाइवे से तकरीबन चालीस फीट दूर सड़क किनारे इनोवा गाड़ी खड़ी कर जमीन पर सो रहे थे. डंपर चालक के मुताबिक स्टेरिंग फेल होने की वजह से वाहन पर उसका नियंत्रण नहीं रहा जिससे ये दुर्घटना हुई. रिपोर्ट के मुताबिक सात प्रवासी कामगार किराये की इनोवा गाड़ी लेकर अपने घर वापस जा रहे थे. यह लोग 20 मई को मुंबई के अंधेरी से चले थे, देर रात लालगंज पहुचने के बाद इन्होंने थाने के थोड़ी दूर हाइवे किनारे इनोवा गाड़ी खड़ी कर दी. इसके बाद चार लोग गाड़ी के बाहर जमीन पर सो गए जबकि तीन लोग गाड़ी में सोये. इस बीच शुक्रवार तड़के तीन बजे के करीब एक खाली डंपर जमीन पर सो रहे लोगों को कुचलते हुए दीवार से जा टकरायी. इस हादसे में दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी. जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. एक अन्य व्यक्ति भी इसमें घायल हुआ है.

मिर्जापुर के जिलाधिकारी (डीएम) सुशील पटेल के मुताबिक मृतकों के गृह जिले के डीएम और एसपी से बात हो गई है और उन्हें इसकी सूचना दे दी गई है. दुर्घटना की सूचना मिलने पर मिर्जापुर एसपी, कमिश्नर मैडम और आईजी ने घटनास्थल का दौरा किया और मृतकों के शेष चारों साथियों से बातचीत की. शवों का पोस्टमॉर्टम करवाने के बाद उसे और बाकी के प्रवासी श्रमिकों को प्रशासन की तरफ से बिहार के गोपालगंज जिला जाने के लिए गाड़ी की व्यवस्था कर दी गई.
ये भी पढ़ें- भीषण गर्मी की चपेट में पूरा उत्तर प्रदेश, झांसी में पारा 46 डिग्री के पार


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज