मिर्जापुर: परिवार का प्यार परखने के लिए खुद के अपहरण की रची साजिश, पहुंचा सलाखों के पीछे

पुलिस की गिरफ्त में इश्तियाक

पुलिस की गिरफ्त में इश्तियाक

Mirzapur News: तीन दिन पूर्व इश्तियाक अचानक घर से गायब हो गया. उसके भाई असलम ने अपहरण की आशंका जताते हुए थाना कटरा कोतवाली में तहरीर दी थी. इस केस पर लगी पुलिस ने गायब हुए युवक को प्रयागराज जनपद के सोराव इलाके से बरामद किया.

  • Share this:

मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मिर्जापुर (Mirzapur) जिले में एक व्यक्ति ने अपने प्रति परिवार का प्यार परखने के लिए खुद के अपहरण (Kidnapping) की फर्जी कहानी बना कर लापता हो गया. परिवार की तरफ से तहरीर मिलने के बाद सक्रिय हुई पुलिस (Police) ने युवक को पकड़ा तो पूरा मामला सामने आ गया. अपने प्रति परिवार में प्यार का पैमाना नापने के लिए इमामबाड़ा निवासी इश्तियाक को यह साजिश अब महंगी पड़ गई है. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

दरअसल, तीन दिन पूर्व इश्तियाक अचानक घर से गायब हो गया. उसके भाई असलम ने अपहरण की आशंका जताते हुए थाना कटरा कोतवाली में तहरीर दी थी. इस केस पर लगी पुलिस ने गायब हुए युवक को प्रयागराज जनपद के  सोराव इलाके से बरामद किया. उसे वार्निंग देने के साथ ही पुलिस ने कानूनी कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया.

जानना चाहता था कि परिवार उससे कितना प्यार करता है

कटरा कोतवाली में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान एडिशनल एसपी संजय कुमार ने बताया कि इमामबाड़ा निवासी असलम ने तीन दिन पूर्व अपने भाई इश्तियाक के अपहरण की आशंका जताते हुए तहरीर दिया था. उस पर पुलिस ने जांच शुरू किया तो गायब युवक प्रयागराज जनपद के सोराव इलाके में मिला। उसके मन में यह था कि उसका परिवार उससे कितना प्यार करता है. इसे देखने के लिए वह अपने घर से निकलकर अचानक गायब हो गया. गायब होने की सूचना उसके भाई असलम ने पुलिस को दी थी. लिहाजा सक्रिय पुलिस ने इश्तियाक को ढूंढ निकाला. पूछताछ में  इश्तियाक ने बताया कि वह जानना चाहता था कि उसके लिए परिवार में कितना प्रेम है. यह देखने के लिए घर से निकल गया और खुद फोन करके एक व्यक्ति के द्वारा पकड़े जाने की सूचना दी थी. पुलिस ने गलत सूचना देकर परेशान करने वाले युवक को वार्निंग देने के साथ ही वैधानिक कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज