अपना शहर चुनें

States

मिर्जापुर नमक-रोटी परोसने का मामला, पत्रकार ने कहा- डीएम पर नहीं है भरोसा, सीएम करें हस्तक्षेप

मिर्जापुर में बच्चों को खाने में परोसी गई नमक और रोटी
मिर्जापुर में बच्चों को खाने में परोसी गई नमक और रोटी

पवन ने पूरे घटनाक्रम को साझा करते हुए कहा कि मैंने ही इस सच को उजागर किया था कि स्कूलों में बच्चों को नमक-रोटी परोसा जा रहा है. अब मुझे ही आरोपी बनाकर मुकदमा दर्ज करवा दिया गया.

  • Share this:
मिर्जापुर (Mirzapur) के एक प्राइमरी स्कूल (Primary School) में मिड डे मील (Mid Day Meal) में छात्रों को खाने में नमक-रोटी परोसने के मामले को उजागर करने वाले स्थानीय पत्रकार के खिलाफ ही मुकदमा दर्ज होने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. पत्रकार पवन जायसवाल का आरोप है कि डीएम अनुराग पटेल (DM Anurag Patel) के रहते उन्हें न्याय नहीं मिल सकता. अब इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ के हस्तक्षेप से ही कुछ हो सकता है.

न्यूज18 से बातचीत में पवन ने पूरे घटनाक्रम को साझा करते हुए कहा कि मैंने ही इस सच को उजागर किया था कि स्कूलों में बच्चों को नमक-रोटी परोसा जा रहा है. अब मुझे ही आरोपी बनाकर मुकदमा दर्ज करवा दिया गया. उन्होंने कहा कि वह मामले की रिपोर्टिंग तब करने गए थे जब ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि ने उन्हें बताया कि स्कूल में तीन चार दिन से बच्चों को नमक रोटी दी जा रही है. इसके बाद उन्होंने संबंधित अधिकारी को भी इसकी सूचना दी थी. जब मैंने स्कूल में बच्चों को नमक रोटी खाते देखा तो दंग रह गया. मैंने इसकी सूचना डीएम को दी. उन्होंने कहा कि अभी मामले को मीडिया में न उछाले मैं जांच करवा रहा हूं. जांच के बाद उन्होंने वीडियो को सही माना था और मामले में दो लोगों को सस्पेंड भी कर दिया था.

पवन जायसवाल ने बताया कि मीडिया में मामला आने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी संज्ञान लिया. इसके बाद कई जांच और रिपोर्ट आई. इस पर भी कई अन्य पर एक्शन हुआ. लेकिन अब पता नहीं क्या हुआ कि मेरे खिलाफ साजिश का मुकदमा जिलाधिकारी के निर्देश पर दर्ज करवाया गया है. इन डीएम के रहते अब न्याय की उम्मीद तो नहीं की जा सकती. मुख्यमंत्री ऑफिस ही हस्तक्षेप करे तो कुछ संभव है.



नमक-रोटी खाने का बनाया था वीडियो
एफआईआर में पत्रकार के खिलाफ ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि के साथ मिलकर साजिशन नमक-रोटी खाने का वीडियो बनाने का आरोप लगा है. पुलिस ने पत्रकार पवन जायसवाल (Pawan Jaiswal) और ग्राम प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार पाल व एक अन्य अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 120-B, 186, 193 और 420 के तहत केस दर्ज किया है.

एक गिरफ्तार

मामले में पुलिस अधीक्षक अवधेश पांडेय ने बताया कि सीडीओ और अन्य द्वारा की गई जांच के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है. इसकी विवेचना थाना अहरौरा द्वारा की जा रही है. दो नामजद व एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. सोमवार को एक आरोपी की गिरफ्तारी की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज