किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाने वालों को क्यों नहीं दिखीं अधूरी सिंचाई परियोजनाएं: मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि बाणसागर परियोजना अपूर्ण सोच और सीमित इच्छाशक्ति का उदाहरण है, जिसकी एक बहुत बड़ी कीमत यूपी की जनता को चुकानी पड़ी है.

News18Hindi
Updated: July 15, 2018, 12:59 PM IST
किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाने वालों को क्यों नहीं दिखीं अधूरी सिंचाई परियोजनाएं: मोदी
मिर्जापुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. Photo: Twitter
News18Hindi
Updated: July 15, 2018, 12:59 PM IST
पूर्वांचल के दो दिन के दौरे के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मिर्जापुर पहुंचे. यहां उन्होंने वर्षों से लंबित बाणसागर परियोजना का उद्घाटन किया. इस अवसर पर उन्‍होंने मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास सहित करोड़ों की योजनाओं की सौगात दी. मोदी ने बाण सागर परियोजना को लेकर विपक्ष पर जमकर निशाना भी साधा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि बाणसागर परियोजना उस अपूर्ण सोच और सीमित इच्छाशक्ति का उदाहरण है, जिसकी एक बहुत बड़ी कीमत यूपी की जनता को चुकानी पड़ी है. इस कारण देश को आर्थिक रूप से नुकसान सहना पड़ा. उन्होंने कहा कि जो लोग आजकल किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाते हैं, आखिर क्यों उन्हें अपने शासनकाल में देश भर में फैली इस तरह की अधूरी सिंचाई परियोजनाएं नहीं दिखाई दीं? क्यों ऐसे कार्यों को अधूरा ही छोड़ दिया गया?

पीएम ने चिर-परिचित अंदाज ​में की संबोधन की शुरुआत

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिर्जापुर में भी जनसभा की शुरुआत अपने चिरपरिचित अंदाज में क्षेत्रीय भाषा में की. उन्होंने कहा कि आज मिर्जापुर में हमरे बदे बहुत गर्व का बात ब. जगद्जननी माई विंध्यवासिनी के गोदी में तोहई सबके देखी के हमके बहुत खुशी होत ब. तू सबे बहुत देर से हमी जोहत रहा. एकरे खातिर हम पांव छुइ के प्रणाम करत हई. आज इतना भीड़ देखि के हमका विश्वास हुई गवा कि माई की कृपा हमपर बना बा और आप लोगन की कृपा से आगे भी ऐसी ही बना रहे.

पीएम ने कहा कि विंध्य पर्वत और भागीरथी के बीच बसा ये क्षेत्र सदियों से अपार संभावनाओं का केंद्र रहा है. इन्हीं संभावनाओं को तलाशने और यहां हो रहे विकास कार्यों के बीच आज मुझे आपका आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य मिला है.

'...और अचंभित हो गए थे फ्रांस के राष्ट्रपति'

मोदी ने कहा कि पिछली बार मार्च में जब मैं यहां सोलर प्लांट का उद्घाटन करने आया तो मेरे साथ फ्रांस के राष्ट्रपति भी आए थे. तब हमारा स्वागत माता की तस्वीर और चुनरी से किया गया था. इस सम्मान से फ्रांस के राष्ट्रपति बहुत खुश हो गए थे और मां की महिमा को जानना चाहते थे. जब मैंने उनको बताया तो वे अचंभित रह गए थे. उन्होंने कहा कि जबसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में सरकार बनी है. तब से पूर्वांचल और पूरे यूपी के विकास की जो गति बढ़ी है, उसके परिणाम आज नजर आने लगे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दो दिनों में विकास की अनेक परियोजनाओं का जनता को समर्पित करने और नई योजनाओं को शुरू करने का अवसर मुझे मिला है. देश का सबसे लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे हो, वाराणसी में किसानों के लिए शुरू हुआ कार्गो हो, रेलवे से जुड़ी योजनाएं हों. ये पूर्वांचल में हो रहे विकास कार्यों को अभूतपूर्व गति देने का काम करेंगे. विकास के इसी क्रम को बढ़ाने के लिए फिर से एक बार मैं आप सबके बीच आया हूं. अभी थोड़ी देर पहले 4000 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया. स्वास्थ्य, सिंचाई से जुड़ी ये योजनाएं सामान्य मानवी के जीवन को बेहतर बनाने वाली हैं.

'बाणसागर परियोजना देगी 1.5 लाख हेक्टेयर जमीन को सिंचाई की सुविधा'

उन्होंने कहा कि करीब 3500 करोड़ की बाणसागर परियोजना से इस पूरे क्षेत्र की 1.5 लाख हेक्टेयर जमीन को सिंचाई की सुविधा मिलने जा रही है. इस क्षेत्र के लिए यहां के गरीब, वंचित, शोषित के लिए जो सपने सोनेलाल पटेल जैसे कर्मशील लोगों ने देखे, उन्हें पूरा करने की तरफ हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं. पिछले 2 दिनों में विकास की अनेक योजनाओं को पूर्वांचल की जनता को समर्पित करने या फिर नए काम शुरू करने का अवसर मुझे मिला है.

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में सरकार में आने के बाद हमारी सरकार ने जब अटकी-लटकी-भटकी हुई योजनाओं को खंगालना शुरू किया तो उसमें इस प्रोजेक्ट का भी नाम आया. इसके बाद बाण सागर परियोजना को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत जोड़ा गया और इसे पूरा करने के लिए सारी ऊर्जा लगा दी गई.

क्यों 300 करोड़ की बाणसागर योजना 3500 करोड़ में पूरी हो सकी?

बाण सागर परियोजना में देरी के कारण देश को भी आर्थिक रूप से नुकसान सहना पड़ा. लगभग 300 करोड़ के बजट से शुरू हुई ये परियोजना लगभग 3,500 हज़ार करोड़ रुपए लगाने के बाद पूरी हुई है.

'सोनभद्र से इलाहाबाद तक लोगों को लाभ देगा मिर्जापुर के मेडिकल कॉलेज'

पीएम मोदी ने कहा कि सस्ती और बेहतर स्वास्थ्य सेवा गरीब को सुलभ कराना भी इस सरकार का एक बड़ा संकल्प है. यहां बनने वाले नए मेडिकल कॉलेज से न सिर्फ मिर्जापुर, बल्कि सोनभद्र, भदोही, चंदौली और इलाहाबाद के लोगों को भी बड़ा लाभ मिलने वाला है. वहीं आज यहां 100 जन औषधि केंद्रों का भी लोकार्पण किया गया है. ये जन औषधि केंद्र गरीब, निम्न मध्यम वर्ग के लिए बहुत-बड़ा सहारा बन रहे हैं. इन केंद्रों में 700 से अधिक दवाइयां और डेढ़ सौ से अधिक सर्जरी के सामान सस्ते दाम पर उपलब्ध हैं.

'भारत में 5 करोड़ लोग भीषण गरीबी से बाहर निकले हैं'

पीएम ने कहा कि एक और अंतरराष्ट्रीय रिपोर्ट आई है, जिसमें कहा गया है कि बीते 2 वर्षों में भारत में 5 करोड़ लोग भीषण गरीबी से बाहर निकले हैं. इसमें सरकार की योजनाओं का भी बड़ा प्रभाव है, जो गरीबों का खर्च कम कर रही हैं. निश्चिंतता का यही भाव, उन्हें नए अवसर भी दे रहा है. पीएम ने कहा कि हम लगातार अमीरी और गरीबी के बीच खाई को पाटने में कदम बढ़ा रहे हैं. इसके परिणाम जल्द ही सामने आएंगे. अब गरीब बेहतर आत्मविश्वास से निगाहें मिला सकता है.

ये भी पढ़ें:

यूपी के किसानों के लिए बड़ी सौगात है एशिया की सबसे बड़ी बाणसागर नहर परियोजना

यूपी में 4-4 बार रही सपा-बसपा की सरकार लेकिन बाणसागर परियोजना उपेक्षित ही रही: सीएम योगी

मुस्लिम 'पुरुषों' की पार्टी है कांग्रेस, चुनाव होते ही दलितों को भूल जाती हैं SP-BSP: पीएम मोदी

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर