Home /News /uttar-pradesh /

UP Chunav: ताकि अखिलेश के CM बनने में न आए कोई बाधा, शत्रुओं पर मिले विजय, इसलिए शुरू हुई ये पूजा

UP Chunav: ताकि अखिलेश के CM बनने में न आए कोई बाधा, शत्रुओं पर मिले विजय, इसलिए शुरू हुई ये पूजा

शत्रु विजय और अखिलेश को सीएम बनाने के लिए मां विंध्यवासनी मंदिर में पूजा शुरू की गई है.

शत्रु विजय और अखिलेश को सीएम बनाने के लिए मां विंध्यवासनी मंदिर में पूजा शुरू की गई है.

UP VidhanSabha Election 2022: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को पूर्ण बहुमत की सरकार के साथ मुख्यमंत्री बनने की कामना को लेकर विंध्यवासनी मंदिर में अनुष्ठान शुरू कर दिया गया. यह चुनाव परिणाम आने यानी 10 मार्च तक चलेगा. अखिलेश के तीर्थ पुरोहित राज मिश्रा ने बताया कि यह शत्रुओं के नाश और अखिलेश को सीएम बनाने की मनोकामना के साथ शुरू किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

मिर्जापुर. विंध्याचल धाम (Vindhyachal Dham) में सपा मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को पुनः पूर्ण बहुमत के साथ मुख्यमंत्री पद पर आसीन होने के संकल्प के साथ 10 मार्च तक चलने वाले मां बगलामुखी अनुष्ठान गुरुवार से आरंभ किया गया. शत्रुओं के नाश और सत्तासीन होने की कामना के साथ अनुष्ठान को शुरू किया गया है. अखिलेश यादव के तीर्थ पुरोहित राज मिश्रा ने बताया कि विद्वत ब्राह्मणों के द्वारा जगत जननी विंध्याचल धाम में गुरुवार से अनुष्ठान आरंभ कर दिया है. इसमें एकादश विद्वत ब्राह्मण प्रतिदिन जप करेगें. अखिलेश यादव के शत्रुओं के नाश और उन्हें पुनः मुख्यमंत्री बनाने के लिए अनुष्ठान किया जा रहा है.

तीर्थ पुरोहित राज मिश्रा ने बताया कि उनकी मंशा है कि अखिलेश यादव पूर्ण बहुमत से मुख्यमंत्री बनें और अनुष्ठान की पूर्णाहुति आकर करें. उन्होंने बताया कि वैदिक पद्धति अनुष्ठान किया जा रहा है, जिसमें अखिलेश यादव के शत्रुओं का दमन और मुख्यमंत्री पद पर पुनः आसीन होने की कामना की गई. उन्होंने बताया कि अनुष्ठान 10 मार्च तक 11 ब्राह्मणों के द्वारा चलेगा.

चुनाव परिणाम आने तक जारी रहेगा अनुष्ठान
मिर्ज़ापुर स्थित प्रसिद्ध मां विंध्यवासनी मंदिर में सपा के राष्टीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए बगलामुखी पूजा अनुष्ठान सपा नेता और अखिलेश यादव के पुरोहित राज मिश्रा के जिम्मे है. इसमें ग्यारह ब्राह्मण 10 मार्च तक पूजा पाठ करेंगे. यह अनुष्ठान विंध्याचल मंदिर की छत पर कराया जा रहा है. बताया गया है कि शत्रुओं के नाश के लिए यह विधान सभा चुनाव का परिणाम आने तक 10 मार्च तक चलता रहेगा.

लालू यादव भी करवा चुके हैं ये विशेष अनुष्ठान
पूजा करवाने वाले राज मिश्रा का कहना है कि यह आयोजन अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए है. उनके मार्ग में कोई बाधा न आये उसके लिए यह धार्मिक अनुष्ठान जारी रहेगा. यह पूजा शत्रु पर विजय के लिए की जाती है. बता दें कि आरजेडी के तत्कालीन प्रमुख लालू प्रसाद यादव से लेकर कई अन्य गणमान्य नेताओं ने भी यह हवन करवाया है. यह पहला मौका नहीं है.

Tags: Akhilesh yadav, Mirzapur Vindhyachal Dham, UP Assembly Election, UP CM Baglamukhi worship ritual, UP news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर