होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

एसपी सिंह बघेल का 'चाचा पर प्यार, भतीजे पर प्रहार', कहा- जब शिवपाल पार्टी खड़ी कर रहे थे तब अखिलेश...

एसपी सिंह बघेल का 'चाचा पर प्यार, भतीजे पर प्रहार', कहा- जब शिवपाल पार्टी खड़ी कर रहे थे तब अखिलेश...

केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना मुगलों से कर दी.

केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना मुगलों से कर दी.

UP Elections: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की बिसात पर भाषा फिसल रही है. इसी दौरान केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना मुगलों से कर दी. उन्होंने कहा कि जब शिवपाल यादव पार्टी को खड़ा कर रहे थे, तो अखिलेश ऑस्ट्रेलिया में मटरगश्ती कर रहा था. मुललों के लड़कों की तरह अपने बाप को कुर्सी से हटा दिया.

अधिक पढ़ें ...

मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election) का प्रचार अपने आखिरी चरण में पहुंच रहा है, लेकिन नेताओं के जुबानी तीर आक्रामक बने हुए हैं. चुनावी बिसात पर भाषा फिसल रही है. इसी दौरान केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए उनकी तुलना मुगल से कर दी. उन्होंने कहा कि जब शिवपाल यादव पार्टी को खड़ा कर रहे थे, तो अखिलेश ऑस्ट्रेलिया में मटरगश्ती कर रहा था.

केंद्रीय मंत्री एसपी बघेल ने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी को शिवपाल सिंह यादव ने खड़ा किया. शिवपाल यादव ने पौधा लगाया. उसमें पानी डाला था. उस समय यह आस्ट्रेलिया में मटरगश्ती कर रहा था. इसने राष्टीय अध्यक्ष से टिकट देने के ताकत को छीना है. इसने वही काम किया जो मुगलों के लड़कों ने अपने बाप को कुर्सी से हटाने का काम किया था.

उन्होंने कहा कि 15 तारीख को उन पर जानलेवा हमला कराया गया. बघेल ने कहा कि इन सैफई वालों ने जो जानलेवा हमला करने का काम किया यह सीआईएसफ के कमांडर न होते तो मैं मारा जाता.

छानबे विधानसभा के हलिया में सभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ऐसे नेता हैं जिन्होंने खुद अपना टिकट तय कर यादव लैंड से चुनाव लड़ने का फैसला किया. हमें भाजपा के नेताओं ने चुनाव लड़ने का मौका दिया है. उन्होंने कहा कि राजू पाल की हत्या कराने के पीछे भी सपा का हाथ रहा है. ये पार्टी गुंडों की पार्टी है.

Tags: Mirzapur news, SP Baghel, Uttar Pradesh Assembly Election Result 2022, Uttar Pradesh Assembly Elections, Uttar Pradesh Elections

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर