होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /सजधज कर लड़की करती रही दूल्हे का इंतजार, पर बारात लेकर नहीं आया प्रेमी; ऐसे मिला प्यार में धोखा

सजधज कर लड़की करती रही दूल्हे का इंतजार, पर बारात लेकर नहीं आया प्रेमी; ऐसे मिला प्यार में धोखा

यूपी के अमरोहा में दहेज की वजह से अपनी प्रेमिका को भी अपनाने से प्रेमी ने किया इनकार (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी के अमरोहा में दहेज की वजह से अपनी प्रेमिका को भी अपनाने से प्रेमी ने किया इनकार (सांकेतिक तस्वीर)

यूपी के अमरोहा में युवक ने एक युवती के साथ शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए. उसके बाद उसने दहेद की वजह से शादी से ...अधिक पढ़ें

अमरोहा: उत्तर प्रदेश में प्यार में धोखा का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जहां लड़की के घर भोज बनकर तैयार था और बारातियों का इंतजार हो रहा था, मगर दूल्हा बारात लेकर नहीं आया. यहां दूल्हा, उसका प्रेमी ही था. दरअसल, अमरोहा में युवक ने एक युवती के साथ शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाए. उसके बाद उसने दहेद की वजह से शादी से इनकार कर दिया. इसे लेकर पंचायत में 6 अगस्त को समझौता हुआ था और तय हुआ था कि दूल्हा लड़की घर बारात लेकर आएगा मगर ऐसा नहीं हुआ.

जब प्रेमिका के घर आरोपी प्रेमी 7 अगस्त को बारात लेकर नहीं पहुंचा तो युवती ने 8 अगस्त को एसपी दफ्तर पहुंच न्याय की गुहार लगाई. दरअसल, अमरोहा जनपद के रजबपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली विकलांग युवती अपने जीजा और अपनी बहन के साथ एसपी दफ्तर पहुंची थी, जहां पर उन्होंने बताया कि 3 महीने पहले पीड़ित विकलांग युवती का गांव के ही लड़के से प्रेम प्रसंग चल रहा था. प्रेमी ने शादी का झासा देकर संबंध बनाए लेकिन जब शादी की बात आई तो उसने मना कर दिया.

बताया गया कि बीती 6 अगस्त को हुई पंचायत में लड़का शादी को राजी हो गया. 7 अगस्त को बारात आनी थी लेकिन दहेज कम होने की वजह से दूल्हा बारात नहीं लाया, जिसकी वजह से लड़की वालों को काफी नुकसान हुआ, क्योंकि बारातियों के लिए सभी इंतजाम हो गए थे. भोज भी पक गया था और लड़की मेहंदी लगाकर दूल्हे का इंतजार भी कर रही थी.

इस मामले में बताया गया है कि पीड़ित युवती के माता-पिता नहीं हैं. उसके जीजा और उसकी बहन उसकी शादी कर रहे थे. उन्होंने आरोपी दूल्हे और उसके परिजनों के खिलाफ एसपी दफ्तर में शिकायती पत्र सौंपा और कार्रवाई की मांग की है. पीड़ित युवती के घर पर सारा इंतजाम धरा का धरा रह गया. लड़की के हाथों की मेहंदी रची रह गई और दूल्हा बारात लेकर नहीं ही आया.

दरअसल, 6 अगस्त की शाम में हुई पंचायत में दूल्हे ने बरात लाने की बात थी, इसी वजह से लड़की वालों ने बारातियों के स्वागत की पूरी व्यवस्था कर ली थी. 7 अगस्त को लड़की पक्ष दूल्हे का इंतजार ही करते रह गए. अब पीड़ित युवती अपने रिश्तेदारों के संग थाने से लेकर अधिकारियों की चौखट पर न्याय के लिए दर-दर भटक रही है लेकिन अफसरों ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है.

Tags: Amroha news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें