मुरादाबाद में बड़ी लापरवाही: नाम के गफलत में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज को भेजा घर
Moradabad News in Hindi

मुरादाबाद में बड़ी लापरवाही: नाम के गफलत में दो कोरोना पॉजिटिव मरीज को भेजा घर
कोरोना वायरस का असली असर जानने के लिए संक्रमण के साथ ही दूसरी बीमारियों के कारण होने वाली मौतों को भी शामिल करना सबसे सही तरीका होगा.

COVID-19: मामले की जांच हुई तो गलती का पता चला कि जिन्हें घर भेजना था उनका और कोरोना पॉजिटिव मरीजों के नाम एक जैसे ही थे.

  • Share this:
मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Muradabad) जिले में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही आई सामने है. यहां नाम के धोखे में दो कोरोना पॉज़िटिव (Corona Positive) मरीज़ों को उनके घर भेज दिया गया. दरअसल यह गली नाम की वजह से हुई. दरअसल, आईएफटीएम के क्वारंटाइन सेंटर से कोरोना के दो पॉजिटिव मरीजों को उनके घर भेज दिया. पड़ोसियों को इसकी सूचना मिली तो उन्होंने इसका विरोध किया. जिसके बाद मामले की जांच हुई तो गलती का पता चला कि जिन्हें घर भेजना था उनका और कोरोना पॉजिटिव मरीजों के नाम एक जैसे ही थे. गलती सामने आते ही स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया और गुरुवार सुबह दोनों संक्रमितों को लेवल वन कोविड अस्पताल पहुंचाया गया.

121 लोगों को क्वारंटाइन अवधि पूरी होने पर भेजा गया था घर

दरअसल, आईएफटीएम क्वारंटाइन सेंटर से बुधवार शाम 121 लोग क्वारंटाइन अवधि पूरी करने के बाद अपने घरों को भेजे गए थे, संबंधित स्टाफ ने एक जैसे दो नामों के गफलत में दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भी एंबुलेंस से उनके घर भेज दिया. इसकी जानकारी जब गुरुवार को आसपास के लोगों को हुई तो उन्होंने इसका विरोध किया क्योंकि 21 अप्रैल को ही उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. मामला जब पुलिस तक पहुंचा तो क्वारंटाइन सेंटर से मरीजों का सत्यापन कराया गया. एक मरीज़ गलशहीद तो दूसरा पीरज़ादा इलाके का रहने वाला था.



अब सभी की होगी स्क्रीनिंग
वहीं गलती का एहसास होते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा गया. इसके बाद सूचना पर दोनों पॉज़िटिव मरीज़ों को L1 हॉस्पिटल में भर्ती किया गया. अब पॉज़िटिव मरीज़ों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों क्वारंटाइन को किया गया है. ज़रूरत होने पर क्वारंटाइन अवधि पूरा कर चुके लोगों के सैंपल फिर से लिए जाएंगे. कोरोना पॉज़िटिव को घर छोड़ने गये स्टाफ़ की भी स्क्रीनिंग कराई जा रही है.

डीएम ने गलती न दोहराने की दी हिदायत

उधर सीएमओ डॉ एमसी गर्ग ने कहा कि पूरे हौसले से काम कर रही टीम से यह गलती भले ही अनजाने में हुई हो लेकिन यह गंभीर और दुर्भाग्यपूर्ण है. दोनों मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराकर उनके संपर्क में आने वाले सभी लोगों का क्वारंटाइन कराया गया है. जरूरत पड़ने पर उनके सैंपल भी लिए जाएंगे. ज़िला अधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कहा कि अनजाने में ऐसी ग़लती हुई है. दोबारा ऐसी गलती न हो इसकी हिदायत दी गई है.

(रिपोर्ट: फरीद शम्सी)

ये भी पढ़ें:

नोएडा सोसायटी के लोग जरूरतमंदों के लिए हर दिन बना रहे 14 हजार रोटियां

20 से अधिक COVID-19 केस वाले जिलों में भेजे जाएं वरिष्ठ अधिकारी: CM योगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज