Moradabad news

मुरादाबाद

अपना जिला चुनें

मुरादाबाद लव जिहाद केस: युवती ने बताया मर्जी से की शादी, कोर्ट ने भेजा ससुराल

मुरादाबाद लव जिहाद केस: युवती ने बताया मर्जी से की शादी, कोर्ट ने भेजा ससुराल

बजरंग दाल कार्यकर्ताओं ने पकड़कर किया था पुलिस के हवाले

Moradabad News: पिंकी नाम की युवती को 6 दिसंबर को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने रास्ते से पकड़ कर कांठ थाने की पुलिस के हवाले किया था. अब कोर्ट ने उन्‍हें ससुराल भेज दिया है.

SHARE THIS:
मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद के नारी निकेतन में रह रही गर्भवती महिला और लव जिहाद (Love Jehad Case) की कथित पीड़िता को सोमवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. जहां उन्‍होंने खुद को बालिग़ बताते हुए अपनी मर्जी से जुलाई में कोर्ट मैरिज करने की बात कही. इसके बाद कोर्ट ने उन्‍हें ससुराल भेजने का निर्देश दिया. उत्तर प्रदेश बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉक्टर विशेष गुप्ता ने फोन पर इसकी जानकारी दी. इससे पहले नारी निकेतन में हालत ख़राब होने पर उन्‍हें जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां डॉक्टरों ने बताया कि महिला 3 महीने के गर्भ से है. उन्‍हें पेट में दर्द की शिकायत पर अस्‍पताल लाया गया था.

पिंकी को 6 दिसंबर को बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने रास्ते से पकड़ कर कांठ थाने की पुलिस के हवाले किया था. इसके बाद पुलिस ने उनको नारी निकेतन भेज दिया था और उनके पति और जेठ को ज़बरन धर्मांतरण के आरोप में जेल भेज दिया था. उस समय पिंकी ने अपनी उम्र 22 साल बताई थी और 5 महीने पहले अपनी मर्ज़ी से लव मैरिज करना बताया था, लेकिन बजरंग दल कार्यकर्ताओं के दबाव के चलते पुलिस ने युवती की मां की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया. तब से महिला नारी नेकतन में थी और उनका पति राशिद व जेठ जेल में है.

गर्भपात की फैली थी अफवाह 
इससे पहले महिला के गर्भपात की अफवाह फैली थी. इस मामले में उत्तर प्रदेश बाल आयोग के अध्यक्ष डॉ विशेष गुप्ता का कहना है की महिला का भ्रूण अभी तक सुरक्षित है और उनको बेहतर इलाज दिलाया जा रहा है. बाल आयोग पूरे मामले में नज़र बनाये हुए है.

(रिपोर्ट: फरीद शम्सी)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

आतंकियों की गिरफ्तारी का मामला, अमानतुल्लाह के बाद उप्र में सपा सांसद हसन ने भी खड़े किए सवाल

आतंकियों की गिरफ्तारी का मामला, अमानतुल्लाह के बाद उप्र में सपा सांसद हसन ने भी खड़े किए सवाल

दिल्ली पुलिस ने हाल में आतंकवादियों की जो गिरफ्तारी की, उसे 'हिंदू-मुस्लिम सियासत' के रंग में देखने वाले बयानों का सिलसिला लगातार जारी है. आम आदमी पार्टी और भाजपा की बहस के बीच सपा भी कैसे शामिल हुई, जानिए

SHARE THIS:

मुरादाबाद. दिल्ली वक्फ बोर्ड के प्रमुख और आम आदमी ​पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान के बाद उप्र में समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन ने भी दिल्ली में कथित आतंकवादियों की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया दी. मुरादाबाद से सांसद डॉ. हसन ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा पकड़े गये आतंकवादियों के यूपी कनेक्शन पर कहा कि ये बहुत संवदनशील मुद्दा है. ‘देश की सुरक्षा से जुड़ी हुई बात है. अगर ये लोग वाकई आतंकवादी हैं, तो इन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. ये फैसले अदालतें करेंगी, हम सिर्फ इतना कहेंगे कि ऐसा न हो कि लोगों के पन्द्रह-बीस साल जेलों में कट जाएं और आखिर में वो बाइज्ज़त बरी हो जाएं.’ इस मुद्दे पर बयानबाज़ी और पलटवार का सिलसिला लगातार चल रहा है, देखिए.

डॉ. हसन के बयान के समानांतर अमानतुल्लाह खान का बयान भी सामने आया जिसमें साफ तौर पर आतंकवाद को धर्म से जोड़कर पेश किया गया. उन्होंने कहा, ‘जैसे-जैसे चुनाव नज़दीक आते हैं, देश के मुसलमानों पर ज़ुल्म बढ़ता है. आतंकवाद के नाम पर बेकसूरों को फर्ज़ी मुकदमों में फंसाकर परेशान करने का खेल शुरू हो गया है. आगे और न जाने कितने लोगों पर झूठे मुकदमे लगाए जाएंगे. अल्लाह हिफाज़त करे!’ खान के इस बयान के बाद भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा.

ये भी पढ़ें : पूर्वांचल की सियासत, योगी सरकार को घेरने के लिए ओमप्रकाश राजभर ने खेला मुस्लिम और जाति कार्ड

‘क्या आतंकवाद का धर्म होता है?’
दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता हरीश खुराना ने खान के बयान पर आपत्ति दर्ज करते हुए सवाल दागा कि आतंकवाद कब से हिंदू-मुस्लिम होने लगा? उन्होंने खान के बयान पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को घेरने की कोशिश करते हुए कहा, ‘केजरीवाल को सफाई देनी चाहिए कि क्या वो आतंकवादियों की गिरफ्तारी पर खान की बात से सहमत हैं, जिन्होंने इसे धार्मिक रंग देने की कोशिश की. इतनी मिर्ची क्यों लगती है जब कोई आतंकवादी पकड़ा जाता है?’

ये भी पढ़ें : हाथरस गैंगरेप: घुटन और सामाजिक बहिष्कार झेल रहा पीड़ित परिवार, इंसाफ की आस में लिए बैठा है बेटी की अस्थियां

‘सपा करती है मुसलमानों के साथ इंसाफ’
इस पूरी बहस के बीच सपा सांसद डॉ. हसन ने कहा कि मुसलमानों के लिए किसी ने कुछ किया है, तो वह समाजवादी पार्टी और उसके नेता मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव रहे हैं. ‘ये बात अच्छी तरह मुसलमान जानते हैं कि जब समाजवादी पार्टी की सरकार आती है, तो मुसलमानों के साथ इन्साफ होता है और उनको बराबरी का हक़ मिलता है. इसलिए सपा को मुसलमानों को रिझाने के लिए कुछ करने की ज़रूरत नहीं है. समाजवादी पार्टी का अपना इतिहास है और पार्टी ने मुसलमानों के लिए अब तक जो किया है, वो सबको मालूम है.

Moradabad में मौत की कुश्ती: एक दांव में चली गई पहलवान की जान, वीडियो वायरल

Moradabad में मौत की कुश्ती: एक दांव में चली गई पहलवान की जान, वीडियो वायरल

Moradabad Live Death Video: कुश्ती के खेल के दौरान पहलवान की मौत का लाइव वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. फ़िलहाल अभी तक पुलिस ने किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 09, 2021, 10:57 IST
SHARE THIS:

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad) जनपद में आयोजित एक दंगल प्रतियोगिता में कुश्ती (Wrestling) के दौरान उत्तराखंड से आए पहलवान की गर्दन टूटने से मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक बिना अनुमति के यह दंगल आयोजित की गई थी, जिसमें एक पहलवान के दांव से दूसरे पहलवान की गर्दन टूट गई और अखाड़े में ही उसकी सांसे उखड़ गई. कुश्ती के खेल के दौरान पहलवान की मौत का लाइव वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. फ़िलहाल अभी तक पुलिस ने किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की है.

दरअसल, मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा कोतवाली इलाके के फरीदनगर में दंगल प्रतियोगिता चल रही थी. इसमें उत्तराखंड के उधमसिंह नगर के गंगापुर का रहने वाला महेश भी भाग ले रहा था. महेश का मुकाबला स्थानीय पहलवान  साजिद अंसारी से शुरू हुआ. जैसे ही मुकाबला शुरू हुआ साजिद ने दांव लगाया और महेश को गर्दन के बल चित कर दिया. इसके बाद साजिद ने दो-तीन बार महेश की गर्दन को हिला कर छोड़ दिया. इस दौरान वहां मौजूद लोग तालियां भी बजा रहे थे.

पंचायत ने 60 हजार रुपए में कर दिया मौत का सौदा
यह कुश्ती प्रतियोगिता 2 सितंबर को नौमी के मेले में बिना अनुमति को लगाई गई थी. हादसे के बाद लगाई गई पंचायत में महेश की मौत का सौदा 60 हजार रुपये में कर दिया गया. 6 दिन बाद जब वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोगों की इसकी भनक लगी. हालांकि पुलिस अभी भी किसी भी तरह की जानकारी से इंकार कर रही है.

शिकायत पर पुलिस ने कही कार्रवाई की बात
एसपी देहात विद्या सागर मिश्र ने बताया कि पुलिस को किसी ने पहलवान की मौत की जानकारी नहीं दी है. इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो भी हमने नहीं देखा. शिकायत आएगी तो जांच कराकर कार्रवाई कराई जाएगी.

Moradabad News: सहेली ने इंस्टाग्राम पर अश्लील फोटो लगाकर शुरू की ब्लैकमेलिंग, गिरफ्तार

Moradabad News: सहेली ने इंस्टाग्राम पर अश्लील फोटो लगाकर शुरू की ब्लैकमेलिंग, गिरफ्तार

Cyber Crime: पुलिस ने ब्लैकमेलिंग की आरोपी मरयम सिकंदर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया. जहां से उसे 14 दिन के रिमांड पर जेल भेज दिया गया है.

SHARE THIS:

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद पुलिस (Moradabad Police) ने रविवार को इंस्टाग्राम पर अश्लील फोटो पोस्ट की धमकी देकर रंगदारी मांगने वाली एक युवती को गिरफ्तार किया है. सबसे खास बात है कि आरोपी युवती पीड़िता की सहेली हैं. युवती ने बताया कि डांट का बदला लेने के लिए उसने अपनी सहेली को सबक सिखाने के लिए प्लानिंग रची थी. दरअसल एक युवती ने पुलिस से शिकायत करते हुए कहा कि सोशल नेटवर्किंग साइट इंस्टाग्राम पर एक लड़के ने उसके फोटो को एडिट कर अश्लील बनाकर पोस्ट किया. और उससे वो फोटो हटाने के नाम पर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी है. पुलिस अधिकारियों ने युवती की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच साइबर सेल को सौंप दी.

साइबर सेल ने 7 मई को मिली इस शिकायत की 4 महीने तक जांच करने के बाद इंस्टाग्राम पर बनाए गए फर्जी अकाउंट का आईपी ऐड्रेस ट्रेस करते हुए मुरादाबाद के मुगलपुरा थाना इलाके के वारसी नगर में रहने वाली मरयम सिकंदर नाम की युवती को हिरासत में लेकर पूछताछ की. तो मरयम ने पुलिस को बताया कि उसकी सेहली ने एक बार उसे सबके सामने डांट दिया था, जिसके बाद से वह अपनी सेहली से रंजिश रखने लगी, और फिर एक दिन उसके दिमाग में अपनी सेहली को सबक सिखाने का एक आईडिया आया और उसने इंस्टाग्राम पर एक लड़के के नाम से फर्जी अकाउंट बनाया और फिर उसने अपनी सहेली के फोटो को एडिट कर उन्हें अश्लील बनाया.

UP Election 2022: बसपा MLA सुखदेव राजभर से मिले सपा प्रमुख अखिलेश यादव, हलचल तेज

और फिर उसी फ़र्ज़ी एकाउंट से अपनी सेहली को पोस्ट कर दिया और कहा कि वह उसे 10 लाख रुपए दे वरना वह सोशल मीडिया पर उसके फोटो वायरल कर उसे बदनाम कर देगा. पुलिस ने ब्लैकमेलिंग की आरोपी मरयम सिकंदर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया. जहां से उसे 14 दिन के रिमांड पर जेल भेज दिया गया है.

UP News: दर्जा प्राप्त मंत्री के नाम पर बुक सर्किट हाउस के कमरे में लटकता मिला शव

UP News: दर्जा प्राप्त मंत्री के नाम पर बुक सर्किट हाउस के कमरे में लटकता मिला शव

Moradabad News: मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक अमित आनंद के मुताबिक शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा कि कि मौत का असल कारण क्या था?

SHARE THIS:

फरीद शम्सी

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) में थाना मझौला इलाके के दिल्ली रोड पर स्थित सर्किट हाउस में उस समय हड़कंप मच गया, जब पुलिस को सूचना मिली कि सर्किट हाउस के कमरे में एक शख्स की लाश (Deadbody) लटक रही है. पता चला कि उत्तर प्रदेश खादी ग्राम उद्योग के उपाध्यक्ष व दर्जा मंत्री गोपाल अंजान के नाम दर्ज कमरा नंबर 7 में खिड़की से एक व्यक्ति का अंदर कमरे में शव छत में लगे पंखे के सहारे लटका नजर आ रहा है. सूचना मिलते ही थाना मझोला पुलिस सर्किट हाउस पहुंच गई.

पुलिस ने दरवाजा खुलवा कर अंदर जाकर देखा, कमरे में लटके शव से काफी दुर्गंध आ रही थी. शव 2 से 3 दिन पुराना लग रहा था. गर्मी की वजह से शव से खून भी टपक कर जमीन पर जम गया था. पुलिस ने जब शव को उतारकर तलाशी ली तो उसकी जेब से लवकुश शुक्ला नाम के व्यक्ति का पहचान पत्र निकला. पता चला कि लवकुश शुक्ला उत्तर प्रदेश के सीतापुर का रहने वाला था और खादी ग्राम उद्योग के उपाध्यक्ष गोपाल अंजान का ड्राइवर था. पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज कर छानबीन शुरू कर दी है.

पता चला है कि उत्तर प्रदेश खादी ग्राम उद्योग के उपाध्यक्ष वे दर्जा प्राप्त मंत्री गोपाल अंजान के नाम से मुरादाबाद के सर्किट हाउस में कमरा नंबर 7 हमेशा बुक रहता है. गोपाल अंजान जब भी मुरादाबाद आते हैं तो इसी कमरे में रुकते हैं. उनकी अनुपस्थिति में कमरे की चाभी उनके स्टफ के पास ही रहती है. गोपाल अंजान मुरादाबाद से बाहर हैं. इस बीच उनके सरकारी वाहन चालक लवकुश शुक्ला इस कमरे में रह रहा था.

आज सफाई के दौरान सर्किट हाउस के कर्मचारी को कमरा नंबर 7 की खिड़की से एक व्यक्ति अंदर लटका हुआ नज़र आया. उस कर्मचारी ने इसकी सूचना सर्किट हाउस के अन्य स्टाफ को दी, जिसके बाद सबने ही खिड़की से झांककर देखा तो अंदर शव लटका हुआ नजर आया. इसके बाद थाना मझोला पुलिस को सूचना दी गई.

मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरा नंबर 7 को खुलवा कर शव को कब्जे में लिया. तलाशी लेने पर शव की शिनाख़्त लव कुश के रूप में हुई. पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा कर छानबीन शुरू कर दी है. वहीं सर्किट हाउस के स्टाफ का कहना है कि उन्हें नहीं पता कि लव कुश कब कमरे में गया और कब उसकी मौत हुई?

फिलहाल मुरादाबाद पुलिस ने संदिग्ध परिस्थिति में मिले शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और जांच शुरू कर दी है. मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक अमित आनंद के मुताबिक शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा कि संदिग्ध परिस्थितियों में मिले लवकुश की मौत का असल कारण क्या था?

Moradabad News: अवैध शराब की तस्करी से जुड़ी दो महिला तस्कर गिरफ्तार, भारी मात्रा में सामान बरामद

Moradabad News: अवैध शराब की तस्करी से जुड़ी दो महिला तस्कर गिरफ्तार, भारी मात्रा में सामान बरामद

Moradabad Crime News: पकड़ी गई दोनों आरोपी महिलाएं बार बार यह सफाई देती रही कि उन्हें नहीं पता कि यह शराब बनाने का सामान है. यह सभी सामान उनके भाई उस्मान कुरैशी ने जीशान नाम के व्यक्ति को कमरा किराए पर देकर रखवाया था.

SHARE THIS:

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद (Moradabad) जिले में गलशहीद थाना इलाके के असालतपुरा में सोमवार को आबकारी विभाग की टीम ने स्थानीय पुलिस (Police) के साथ संयुक्त रूप से छापामार कार्यवाई की. पुलिस ने छापेमारी के दौरान सायमा व शादमा नाम की दो महिलाओं को हिरासत में लेकर जब पूछताछ कर उनके घर की तलाशी ली तो उनके एक कमरे से भारी मात्रा में देसी शराब बनाने का सामान बरामद हुआ. पुलिस ने शराब बनाने का सामान जब्त कर दोनों महिलाओ को हिरसत में लेकर उनके बाकी फरार साथियों के बारे में पूछताछ शुरू कर दी है.

मुरादाबाद आबकारी विभाग को काफी समय से सूचना मिल रही थी कि थाना गलशहीद इलाके के असालतपूरा इलाके में देसी कच्ची शराब अलग-अलग नामों से बनाकर बेची जा रही है. आबकारी विभाग की टीम ने थाना गलशहीद पुलिस के साथ मिलकर उस्मान क़ुरैशी के घर छापा मारा. छापे में पुलिस को शादमा व सायमा नाम की दो महिला मिली. पुलिस ने पूछताछ के बाद घर की तलाशी ली तो पुलिस को 27 हज़ार शराब के पव्वा पैक करने वाले प्रिंटेड ढक्कन, 56 लीटर स्प्रिट, हजारों की तादात में रैपर, 96 पव्वा, 59 नकली QR कोड स्टिकर सहित काफी सामान बरमाद किया.

पकड़ी गई दोनों आरोपी महिलाएं बार बार यह सफाई देती रही कि उन्हें नहीं पता कि यह शराब बनाने का सामान है. यह सभी सामान उनके भाई उस्मान कुरैशी ने जीशान नाम के व्यक्ति को कमरा किराए पर देकर रखवाया था.

(रिपोर्ट: फरीद शम्सी)

Amroha News: रक्षाबंधन के मौके पर बसों में उमड़ी महिलाओं की भीड़, फ्री में किया सफर

Amroha News: रक्षाबंधन के मौके पर बसों में उमड़ी महिलाओं की भीड़, फ्री में किया सफर

आदेश के मुताबिक 21 अगस्त की रात 12 बजे से 22 अगस्त की रात 12 बजे तक परिवहन निगम की बसों पर महिलाओं के लिए निःशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान की जा रही है.

SHARE THIS:

अमरोहा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने हर साल की तरह इस साल भी रक्षाबंधन (Rakshabandhan) के मौके पर राज्य की महिलाओं को फ्री बस सेवा का उपहार दिया है. सीएम ने राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा सुविधा प्रदान करने का निर्देश दिया है. रविवार को अमरोहा जिले में बसों में सफर करने के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी. अमरोहा डिपो के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक आरके जौहरी ने बताया कि आज सबसे अधिक महिलाओं की संख्या रोडवेज डिपो पर नजर आ रही है. उन्होंने कहा कि हमारी 20 बसें खराब है लेकिन 45 बसें यात्रियों की सेवा में लगी हुई है. यात्रियों की सुविधा के लिए उनके चक्कर बढ़ा दिए गए हैं और किसी प्रकार से भी किसी को दिक्कत न हो इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है.

जौहरी के मुताबिक हर किसी को बताया जा रहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें. कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए मास्क अवश्य लगाएं. उन्होंने कहा कि भीड़ ज्यादा है इसलिए ऐसे में कई बार कोविड नियमों का पालन नहीं हो पाता, लेकिन हम प्रयास कर रहे हैं कि किसी यात्री को कोई भी दिक्कत ना हो.

रात 12 से अगले दिन रात 12 बजे तक रहेगी फ्री बस सेवा
आदेश के मुताबिक 21 अगस्त की रात 12 बजे से 22 अगस्त की रात 12 बजे तक परिवहन निगम की बसों पर महिलाओं के लिए निःशुल्क यात्रा की सुविधा प्रदान की जा रही है. बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश पर मिशन शक्ति के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में 75 जिलों में कार्यक्रम किए जा रहे हैं. इसी के तहत ये फैसला लिया गया है. बता दें कि सरकार ने भाई-बहन के स्‍नेह के इस पवित्र पर्व पर बहनों को राज्‍य की सरकारी बसों में आने-जाने की मुफ्त सुविधा दी है. पिछले साल करीब साढ़े तीन लाख बहनों ने इस सुविधा का लाभ उठाते हुए रक्षाबंधन के मौके पर यूपी रोडवेज की बसों से यात्रा की थी.

Uttarakhand: रेलवे पेंशन बंद होने से भुखमरी की हालात में दिव्यांग, CM से लगाई गुहार

Uttarakhand: रेलवे पेंशन बंद होने से भुखमरी की हालात में दिव्यांग, CM से लगाई गुहार

Uttarakhand News: उत्तराखंड के बनबसा निवासी दिव्यांग देव सिंह को को रेलवे विभाग द्वारा आश्रित पेंशन न दिए जाने से उनके सामने भुखमरी की स्थिति पैदा हो गई है. दिव्यांग ने अब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मदद की गुहार लगाई है.

SHARE THIS:

बनबसा. उत्तराखंड के बनबसा निवासी दिव्यांग देव सिंह को रेलवे विभाग की आश्रित पेंशन नहीं मिलने से उसके सामने भुखमरी के हालात पैदा हो गए हैं. परेशान होकर दिव्यांग ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मदद की गुहार लगाई है. 70 प्रतिशत दिव्यांग देव सिंह आश्रित पेंशन हेतु तीन साल से मुरादाबाद मंडल कार्यालय के चक्कर काट रहा है, लेकिन उसे हर बार निराश और हताश होना पड़ा है.

देश व प्रदेश में भले ही दिव्यांगों के कल्याण व उनके जीवन को आसान बनाने हेतु सरकारों द्वारा तमाम योजनाएं संचालित की जा रही हैं, लेकिन इन योजनाओं को खुद देश का सबसे बड़ा महकमा पलीता लगा रहा है. बनबसा चंदनी निवासी देव सिंह ने अब थक हार कर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मदद मांगी है. जन्म से ही देव सिंह के पास जिला मेडिकल बोर्ड द्वारा जारी 70 प्रतिशत दिव्यांगता का प्रमाण पत्र भी है.

पीड़ित दिव्यांग देव सिंह ने बताया कि उनके पिता रेलवे आरपीएफ के कर्मचारी रहे थे. दिव्यांग होने के चलते वह पूर्ण रूप से अपने माता पिता पर आश्रित थे. पिता का देहांत 2006 में हो गया था. उनकी माता भी 2013 में कैंसर के चलते चल बसी. उनके दोनों भाई भी बेरोजगार हैं, जिसके चलते वह अपने परिवार का भरण पोषण भी बमुश्किल से कर पा रहा है. वहीं इस दौरान उन्हें पता चला की जिन दिव्यांग के माता पिता सरकारी सेवा में हो, अगर उनका देहांत हो जाये तो दिव्यांग को अपने जीवन को चलाने हेतु सरकार आश्रित पेंशन जारी करती है. इस सूचना के बाद दिव्यांग देव सिंह वर्ष 2017 में आरपीएफ मुरादाबाद मंडल में कागजी कार्यवाही शुरू की गई, लेकिन अभी तक उसे लाभ नहीं मिल पाया है.

UP: गाजियाबाद और मुरादाबाद के कप्तान सहित 3 IPS अफसरों का तबादला

UP: गाजियाबाद और मुरादाबाद के कप्तान सहित 3 IPS अफसरों का तबादला

UP News: ट्रांसफर लिस्ट के अनुसार गाजियाबाद में डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक को डीजीपी मुख्यालय से सम्बद्ध कर दिया गया है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश शासन ने सोमवार देर रात तीन आईपीएस अफसरों का ट्रांसफर (3 IPS Transfer) कर दिया. इनमें गाजियाबाद (Ghaziabad) और मुरादाबाद (Moradabad) जिले के कप्तान बदल दिए गए हैं. ट्रांसफर लिस्ट के अनुसार गाजियाबाद में डीआईजी/एसएसपी अमित पाठक को डीजीपी मुख्यालय से सम्बद्ध कर दिया गया है.

वहीं पवन कुमार को अमित पाठक की जगह गाजियाबाद एसएसपी पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है. पवन कुमार अभी तक एसएसपी, मुरादाबाद पद की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. वहीं इनके अलावा बबलू कुमार को मुरादाबाद का वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बनाया गया है. वह अभी तक एसपी, यूपी एटीएस पद की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. इन तीनों अफसरों को तत्काल अपना कार्यभार ग्रहण करने निर्देश दिया गया है.

कहा जा रहा है कि बसपा सांसद अतुल राय (BSP MP Atul Rai) पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता द्वारा सोमवार को दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह करने की घटना की वजह से गाजियाबाद के कप्तान अमित पाठक पर गाज गिरी है. पीड़िता ने वाराणसी में एसएसपी रहते हुए अमित पाठक पर सुनवाई न करने का आरोप लगाते हुए आत्मदाह का प्रयास किया था.

UP: स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रगान ही भूल गए मुरादाबाद के सपा MP डॉ. एसटी हसन, देखें VIDEO

UP: स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रगान ही भूल गए मुरादाबाद के सपा MP डॉ. एसटी हसन, देखें VIDEO

UP News: सपा सांसद (MP) ने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम वह चीफ गेस्ट थे, लेकिन वहां राष्ट्रगान गाने वाली दूसरी टीम थी.

SHARE THIS:

मुरादाबाद. विवादित बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले मुरादाबाद (Moradabad) के सपा सांसद (SP MP) डॉक्टर एसटी हसन स्वतंत्रता दिवस के मौके पर राष्ट्रगान ही भूल गए. पहली पंक्ति के बाद सीधे जय हे…जय हे… बोल कर उन्होंने राष्ट्रगान खत्म कर दिया. इसे लेकर पूरे शहर में चर्चाएं हैं. इसका वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. रविवार को सांसद डॉक्टर एसटी हसन स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम के लिए गलशहीद पार्क में पहुंचे थे. यहां आयोजित कार्यक्रम में सांसद ने झंडारोहण किया. इसके बाद जैसे ही राष्ट्रगान शुरू हुआ, उनके साथ खड़े लोग राष्ट्रगान गाना ही भूल गए.

सांसद भी राष्ट्रगान शुरू होने के बाद जैसे ही दूसरी पंक्ति आई वहां अटक गए. इस दौरान उनके लिए असहज स्थित‍ि हो गई. उन्होंने सीधा धीरे-धीरे जय हे… जय हे… बोलना शुरू किया. बाकी लोगों ने भी सुर में सुर मिला के तुरंत राष्ट्रगान खत्म कर दिया. इसके बाद सांसद डॉ. एसटी हसन कार्यक्रम खत्म करके चले गए. सांसद के साथ हुए इस वाकये पर लोग चुटकी ले रहे हैं. सवाल यह है कि सांसद और देश को चलाने वाले लोग ही राष्ट्रगान भूल जाएंगे तो आम लोगों तक इसका क्या संदेश जाएगा.

मामला सामने आने के बाद सपा सांसद डॉक्टर एसटी हसन ने देर रात सोशल मीडिया पर सफाई दी और वीडियो के अंत में राष्ट्रगान भी सुनाया है. सांसद ने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर जश्न में मुझे इस कार्यक्रम में चीफ गेस्ट बनाया गया था, लेकिन वहां राष्ट्रगान गाने वाली दूसरी टीम थी. जिन्होंने गाते समय कुछ गड़बड़ी कर दी, मैंने टोका भी था, उसके बाद पीछे खड़े लोगों ने राष्ट्रगान पूरा किया और हम वहां से चले गए. इसके बारे में लोगों ने ये फैला दिया कि मैं राष्ट्रगान भूल गया. मेरी याददाश्त कमजोर नहीं है,बचपन से राष्ट्रगान पढ़ता आ रहा हूं.

(रिपोर्ट- फ़रीद शम्सी)

Moradabad News: तेज रफ्तार डबल डेकर बस 20 फीट गहरी खाई में पलटी, 21 घायल

Moradabad News: तेज रफ्तार डबल डेकर बस 20 फीट गहरी खाई में पलटी, 21 घायल

Moradabad Road Accident: घायल यात्रियों ने बताया कि वे सीतापुर से आ रही बस में बरेली से सवार हुए थे. बस तेज गति से चल रही थी. रास्ते में बस का चालक बदला गया था. चालक बदलने के थोड़ी देर बाद ही बस अचानक सड़क पर लगे क्रैश बैरियर से टकरा गई और उसे तोड़ते हुए नीचे खाई में जाकर पलट गई.

SHARE THIS:

मुरादाबाद. दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाईवे नंबर-9 (Delhi-Lucknow NH-9) पर एक तेज रफ्तार डबल डेकर निजी बस (Bus Accident) अनियंत्रित होकर क्रैश बैरियर को तोड़ती हुई 20 फीट गहरी खाई में पलट गई. मंगलवार देर रात अचानक हुए इस हादसे की जानकारी वहां से गुजर रहे दूसरे वाहन सवारों ने घटनास्थल से थोड़ी दूरी पर ही स्थित नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर जाकर दी. हादसे की सूचना मिलते ही टोल प्लाजा के अधिकारियों ने इसकी जानकारी मुरादाबाद पुलिस को दी. बस हादसे की सूचना मिलते ही मुरादाबाद पुलिस के अधिकारी के साथ ही स्वास्थ विभाग, फायर ब्रिगेड, परिवहन विभाग के अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए और वहां पलटी हुई बस में सवार 100 से ज्यादा यात्रियों को जैसे-तैसे बस से निकाला. मौके पर 5 एंबुलेंस से घायलों को मुरादाबाद और रामपुर के जिला अस्पताल भेजा गया. गंभीर रूप से घायल 19 यात्रियों को अस्पताल में भर्ती कर लिया गया है. दो यात्रियों की नाजुक हालत देखते हुए उन्हें हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया.

घायल यात्रियों ने बताया कि वे सीतापुर से आ रही बस में बरेली से सवार हुए थे. बस तेज गति से चल रही थी. रास्ते में बस का चालक बदला गया था. चालक बदलने के थोड़ी देर बाद ही बस अचानक सड़क पर लगे क्रैश बैरियर से टकरा गई और उसे तोड़ते हुए नीचे खाई में जाकर पलट गई. हादसे के बाद मौके चीख़ पुकार मच गई. सड़क से नीचे गड्ढे में भरे पानी में बस पलटने से यात्रियों ने बस की सीट पानी मे डालकर उनके सहारे बाहर निकले। बस यात्रियों का सामान जहां तहां पड़ा नज़र आ रहा था. सबको ही अपनी जान बचाने की फ़िक्र थी. यात्री अपना सामान ऐसे ही छोड़कर चले गए. हादसे की जगहा पर सबसे पहले पहुंचे एनएचआई के टोल मैनेजर दिग्विजय सिंह ने सभी घायलों को अस्पताल भिजवाया.

बस में सवार थे 100 से ज्यादा यात्री
पुलिस और परिवहन विभाग की लापरवाही के चलते अवैध रूप से निजी डबल डेकर बस उत्तर प्रदेश की सड़कों पर खुलेआम दौड़ रही हैं और आम लोगों की जान को खतरे में डाल रही हैं. बाराबंकी में हुए दर्दनाक हादसे को अभी लोग भूले भी नहीं हैं, उसके बाद अब दिल्ली लखनऊ नेशनल हाईवे पर मुरादाबाद के पास यह दर्दनाक हादसा हो गया. गनीमत यह रही कि हादसे में किसी की जान नहीं गई. 100 से ज्यादा यात्री इस बस में सवार थे और 19 यात्री गंभीर रूप से घायल हुए. अगर गड्ढे में ज्यादा पानी भरा होता तो बस उसमें आधी से ज्यादा डूब जाती और फिर इस हादसे में कई लोगों की जान भी जा सकती थी. मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक नगर अमित आनंद के मुताबिक़ बस पलटने से घायल 21 यात्रियों में से 7 को रामपुर  12 को मुरादाबाद के ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. दो यात्रियों की नाज़ुक हालत देखते हुये उन्हें हायर सेंटर रेफर किया गया है.

(रिपोर्ट: फरीद शम्सी)

Load More News

More from Other District