श्रीनगर में पेट्रोलिंग के दौरान ट्रक खाई में गिरने से CRPF में तैनात मुरादाबाद के जवान की मौत

मुरादाबाद के रहने वाले सीआरपीएफ जवान नरेश कुमार सिंह की जम्मू कश्मीर में एक्सीडेट में मृत्यु हो गई है.  (File Photo)
मुरादाबाद के रहने वाले सीआरपीएफ जवान नरेश कुमार सिंह की जम्मू कश्मीर में एक्सीडेट में मृत्यु हो गई है. (File Photo)

मुरादाबाद (Moradabad) के नरेश कुमार सिंह की तैनाती जम्मू कश्मीर में थी. नरेश कुमार सिंह अपने साथी जवानों के साथ श्रीनगर में रात में ट्रक से पेट्रोलिंग पर थे. इसी दौरान उनका ट्रक खाई में गिर गया. हादसे में नरेश कुमार सिंह की मृत्यु हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 3:26 PM IST
  • Share this:
फरीद शम्सी

मुरादाबाद. उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) के डिलारी थाना क्षेत्र के डिलारी गांव के रहने वाले सीआरपीएफ (CRPF) के जवान नरेश सिंह के एक हादसे में मृत्यु की ख़बर आने के बाद हड़कंप मच गया है. नरेश कुमार सीआरपीएफ में तैनात थे. 30 वर्षीय नरेश कुमार सिंह की तैनाती जम्मू कश्मीर में थी. नरेश कुमार सिंह अपने साथी जवानों के साथ श्रीनगर में रात में ट्रक से पेट्रोलिंग पर थे. इसी दौरान उनका ट्रक खाई में गिर गया. हादसे में नरेश कुमार सिंह की मृत्यु हो गई.

नरेश सिंह की दुर्घटना में मृत्यु की खबर देर रात उनके परिजनों को मिली, खबर आने के बाद घर में कोहराम मच गया. परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है. नरेश के परिजनों ने बताया कि श्रीनगर में यह हादसा हुआ है. परिजनों के मुताबिक़ सीआरपीएफ में पोस्टेड अधिकारी ने नरेश कुमार सिंह के परिजनों को देर रात फोन पर बताया कि उनका ट्रक नीचे खाई में गिरने से नरेश सिंह की मृत्यु हो गई है. शहीद जवान नरेश कुमार का पार्थिव शरीर श्रीनगर से उनके घर भेजने के लिये जब ट्रक में रखा जा रहा था तो वहां मौजूद साथी जवानों ने पहले शहीद नरेश कुमार को श्रद्धांजलि दी उसके बाद शहीद के शव को मुरादाबाद के लिये रवाना किया.



तीन भाइयों में सबसे छोटे थे नरेश
नरेश सिंह 2011 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे. नरेश कुमार की तैनाती जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में चल रही थी. उनके दो भाई और हैं, जिसमें बड़े भाई सीआरपीएफ असम में तैनात हैं, नरेश कुमार सिंह तीन भाइयों में सबसे छोटे थे. शहीद नरेश कुमार के एक भाई घर पर रहकर पिताजी के साथ खेती बाड़ी का काम देखते हैं. नरेश की शादी डेढ़ साल पहले डिलारी के गांव मंझौली से सोनम उर्फ सोनिका से हुई थी. नरेश सिंह की एक 6 माह की बच्ची है.

महीने भर पहले ही छुट्टी बिताकर लौटे ड्यूटी पर

नरेश सिंह एक महीने पहले ही घर पर छुट्टी बिताकर अपनी डियूटी पर वापस चले गए थे. शहीद हुए नरेश सिंह की सूचना सुनकर क्षेत्र में गम का माहौल है, परिजनों का घर में रो-रो कर बुरा हाल है. शहीद जवान का पार्थिव शरीर शनिवार सुबह मुरादाबाद के डिलारी में उनके घर पर पहुंचेगा, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जायेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज