जनसंख्या नियंत्रण पर PM मोदी के साथ आए सपा सांसद, कहा- बने तीन बच्चों का कानून

डॉ एसटी हसन ने मुरादाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनसंख्या नियंत्रण वाले बयान का समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा देश में तीन बच्चों का कानून बनना चाहिए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2019, 11:31 AM IST
जनसंख्या नियंत्रण पर PM मोदी के साथ आए सपा सांसद, कहा- बने तीन बच्चों का कानून
सपा सांसद डॉ एसटी हसन
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2019, 11:31 AM IST
उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के सांसद डॉ एसटी हसन ने पार्टी में मची भगदड़ के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जनसंख्या नियंत्रण कानून वाले बयान का समर्थन कर सब को चौंका दिया है. डॉ एसटी हसन ने मुरादाबाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनसंख्या नियंत्रण वाले बयान का समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा देश में तीन बच्चों का कानून बनना चाहिए. क्योंकि देश कि जनसंख्या अब बहुत हो चुकी है, इसलिए अब कुछ समय के लिए देश में यह कानून आना चाहिए.

न्यूज18 से बातचीत में सांसद ने कहा कि सरकार को जनसंख्या नियंत्रण के लिए कुछ वक्त के लिए देश में सिर्फ तीन बच्चों का कानून बनाना चाहिए. हालांकि उन्होंने अपने इस बयान को व्यक्तिगत करार दिया. उन्होंने कहा कि यह उनकी राय है न कि पार्टी की. गौरतलब है कि सपा के तीन राज्यसभा सांसद- नीरज शेखर, सुरेंद्र नागर और संजय सेठ बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. लिहाजा सवाल उठाना लाजमी है कि पीएम मोदी का समर्थन कहीं कुछ और तो इशारा नहीं कर रही.

डॉ हसन ने कहा कि देश में तीन बच्चों की पालिसी होनी चाहिए. दरअसल कभी-कभी दो लड़के होते हैं तो एक लड़की चाहता है. या दो लड़की हैं तो एक लड़का चाहता है. लेकिन यह कानून कुछ समय के लिए बनना चाहिए. परमानेंट कानून बनाने से चीन वाली हालात होने का कह्त्र है. जहां आज बूढों की संख्या ज्यादा हो गई है. जनसंख्या नियंत्रण कानून इसलिए भी जरूरी है क्योंकि आज स्थिति विस्फोटक है.

(रिपोर्ट: फरीद शम्सी)

ये भी पढ़ें:

UP पुलिस के सिपाही ने बिना छुट्टी लिए पास की UPSC परीक्षा, बना कमान्डेंट

रायबरेली सदर से एक जमाने तक अपना झंडा बुलंद रखने वाले अखिलेश सिंह का निधन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुरादाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 11:31 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...