Home /News /uttar-pradesh /

फिर दिखी खाकी की दबंगई, पुलिस ने फेरी विक्रेता को हवालात में बंद कर दी थर्ड डिग्री

फिर दिखी खाकी की दबंगई, पुलिस ने फेरी विक्रेता को हवालात में बंद कर दी थर्ड डिग्री

खाकी की काली करतूतों के सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन लाख नसीहतों के बाद भी पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला मुरादाबाद जनपद का है, जहां पुलिसकर्मियों से सामान के पैसे मांगने पर एक फेरी विक्रेता को पुलिसकर्मियों ने न सिर्फ जमकर पीटा, बल्कि उसको हवालात में बंद कर थर्ड डिग्री भी दी गई। पिछले छह महीनों से पुलिस की दबंगई झेल रहा यह फेरी विक्रेता अब अपना काम छोड़कर घर में बैठा हैं, जबकि उसके परिजन आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

खाकी की काली करतूतों के सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन लाख नसीहतों के बाद भी पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला मुरादाबाद जनपद का है, जहां पुलिसकर्मियों से सामान के पैसे मांगने पर एक फेरी विक्रेता को पुलिसकर्मियों ने न सिर्फ जमकर पीटा, बल्कि उसको हवालात में बंद कर थर्ड डिग्री भी दी गई। पिछले छह महीनों से पुलिस की दबंगई झेल रहा यह फेरी विक्रेता अब अपना काम छोड़कर घर में बैठा हैं, जबकि उसके परिजन आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

खाकी की काली करतूतों के सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन लाख नसीहतों के बाद भी पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला मुरादाबाद जनपद का है, जहां पुलिसकर्मियों से सामान के पैसे मांगने पर एक फेरी विक्रेता को पुलिसकर्मियों ने न सिर्फ जमकर पीटा, बल्कि उसको हवालात में बंद कर थर्ड डिग्री भी दी गई। पिछले छह महीनों से पुलिस की दबंगई झेल रहा यह फेरी विक्रेता अब अपना काम छोड़कर घर में बैठा हैं, जबकि उसके परिजन आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

अधिक पढ़ें ...
खाकी की काली करतूतों के सैकड़ों किस्से आपने सुने होंगे लेकिन लाख नसीहतों के बाद भी पुलिसकर्मी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला मुरादाबाद जनपद का है, जहां पुलिसकर्मियों से सामान के पैसे मांगने पर एक फेरी विक्रेता को पुलिसकर्मियों ने न सिर्फ जमकर पीटा, बल्कि उसको हवालात में बंद कर थर्ड डिग्री भी दी गई। पिछले छह महीनों से पुलिस की दबंगई झेल रहा यह फेरी विक्रेता अब अपना काम छोड़कर घर में बैठा हैं, जबकि उसके परिजन आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार, मुरादाबाद के कटघर थाना क्षेत्र स्थित गोविंदनगर में रहने वाला अंकित पिछले कई सालों से सड़क किनारे ठेला लगाकर अपने परिवार का पेट पाल रहा था। प्रभात मार्केट के पास ठेला लगाने वाले अंकित की मदद के लिए उसका छोटा भाई भी उसके साथ ही काम करता था।

लेकिन पिछले छह महीनों से लाजपतनगर चौकी के दो सिपाही और चौकी इंचार्ज अंकित की जान के दुश्मन बने हुए थे। अंकित के ठेले पर आकर पुलिसकर्मी सामान ले जाते और पैसा मांगने पर उसकी जमकर पिटाई करते थे। मामला पुलिसकर्मियों से जुड़ा था लिहाजा अंकित और उसके परिजन भी खामोशी से सब कुछ सहते रहे। एक सप्ताह पहले अंकित के ठेले पर आए दो सिपाहियों ने उससे सामान खरीदा और पैसे मांगने पर अंकित को जमकर पीट दिया।

अंकित ने जब इसका विरोध किया तो उसे चौकी में लाकर थर्ड डिग्री दी गई और मुर्गा बनाकर डंडों से पीटा गया। अंकित के परिजनों ने पुलिस से उसे छोड़ने की गुहार भी लगाई, लेकिन खाकी ने झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर उन्हें थाने से भगा दिया। अंकित का आरोप है कि चौकी प्रभारी और दोनों सिपाहियों ने न सिर्फ उसे पीटा बल्कि जलती सिगरेट से उसके हाथ को भी जलाया।

हवालात में रखने के बाद पुलिस ने उसे शांतिभंग करने की धाराओं में चालान कर कोर्ट में पेश किया। पुलिस कर्मियों की ज्यादती से घबराया अंकित अब ठेले पर जाने के बजाय घर में ही बैठा है। अंकित के पीछे उसके भाई ने ठेला लगाने की कोशिश की तो पुलिस ने उसे भी जेल भेजने की धमकी देकर भगा दिया।

लाजपतनगर चौकी इंचार्ज और दो सिपाहीयों की इस करतूत की जानकारी अंकित के परिजनों ने पुलिस अधिकारियों को दे दी है, लेकिन अंकित को न्याय दिलाने के बजाय पुलिस अधिकारी अब जांच की बात कह कर अपने कारिंदों को बचाने की कवायद में जुट गए हैं।

पुलिसकर्मियों द्वारा खाकी का खौफ दिखाकर लोगों को परेशान करने का यह पहला मामला नहीं है, लेकिन जांच के नाम पर कार्रवाई का दावा करने वाले अधिकारी अब चुप्पी साधे हुए हैं। ऐसे में सवाल यह भी है कि क्या खाकी ऐसे ही कानून का मजाक बनाती रहेगी और अंकित जैसे युवा थानों में थर्ड डिग्री के आगे बेबस होकर इसे अपनी नियती मानते रहेंगे।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर