• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • मुरादाबाद: ट्रैक पर उतरी देश की पहली मेक इन इंडिया T-18 ट्रेन

मुरादाबाद: ट्रैक पर उतरी देश की पहली मेक इन इंडिया T-18 ट्रेन

टी-़18 ट्रेन का पहला ट्रायल मुरादाबाद से सहारनपुर के बीच पहले से चिन्हित करीब 100 किलोमीटर के ट्रैक पर होगा. रेलवे अधिकारियों ने बताया कि टी-18 में यात्रियों की जगह पर रेत भरी बोरियां रख कर ट्रायल होगा.

  • Share this:
आखिरकार देश की पहली मेक इन इंडिया ट्रेन ट्रैक पर उतर गई है. आज सुबह अत्याधुनिक तकनीक से लैस T-18 ट्रेन मुरादाबाद यार्ड से नजीबाबाद के लिए रवाना हो गई. आरडीएसओ की टीम और चेन्नई से आई इंजीनियरिंग टीम ट्रेन में संयंत्र लगाकर रवाना हुई है. आज पहले चरण में ट्रेन 30 की स्पीड से चलेगी, उसके बाद 60 फिर 90 किमी प्रति घंटा और 130 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ेगी.

ट्रेन के साथ आए सीनियर इंजीनियर एल नरसिम्हा ने बताया कि ट्रेन ट्रायल के लिए तैयार है. इसमें बिल्कुल नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है, जिससे यात्रियों को काफी सहूलियत होगी. हर कोच में वाईफाई और स्क्रीन के साथ ऑडियो सिस्टम भी लगा है. साथ ही, एक्सक्यूटिव कोच में ऑटोमैटिक सीट है, जो 360 डिग्री पर घूम सकेगी. अभी ट्रेन को ट्रायल पर परखा जा रहा है. मंगलवार से ट्रेन का अधिकृत ट्रायल शुरू होगा.

इससे पहले, डीआरएम अजय कुमार सिंघल ने बताया कि ट्रायल की सभी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं. इस ट्रेन को चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्टरी (ICF) में तैयार किया गया है. टी-18 फिलहाल रेलवे के शोध संस्थान RDSO के अधीन है और आरडीएसओ के अधिकारी ही आधुनिक मशीनों व तकनीक के माध्यम से इस गाड़ी का परीक्षण करेंगे.

डीआरएम् ने बताया कि ट्रेन को पहले 30 किलोमीटर प्रति घंटा, 60, 90 और फिर 130 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रायल लिया जाएगा. इसमें यात्रियों की सहूलियत के लिए वाई-फाई, मनोरंजन के साधन के साथ ही इसकी सीट 360 डिग्री पर घूम सकेगी. दरवाजे ऑटोमैटिक हैं, जो ट्रेन चलने और रुकने पर बंद और खुलेंगे. यही नहीं, ट्रेन के अंदर और बाहर सीसीटीवी भी लगे हैं.

ट्रेन-18 का पहला ट्रायल मुरादाबाद से सहारनपुर के बीच पहले से चिन्हित करीब 100 किलोमीटर के ट्रैक पर होगा. रेलवे अधिकारियों ने बताया कि टी-18 में यात्रियों की जगह पर रेत भरी बोरियां रख कर ट्रायल होगा. इस रूट पर यह जांचा जाएगा कि T18 तेज गति पर किस तरह प्रतिक्रिया करती है. वहीं, 160 किमी की गति पर इस गाड़ी में ब्रेक लगाने पर गाड़ी कितनी दूरी पर जाकर रुकती है. इन सभी तकनीकी पहलुओं की जांच के बाद ही इस गाड़ी को कमिश्नर रेलवे सेफ्टी के पास अनुमति के लिए भेजा जाएगा.

गौरतलब है टी-18 को शताब्दी की जगह पर चलाया जाएगा. टी-18 ट्रेन 16 डिब्बों की हैं और हर 4 डिब्बे एक सेट में हैं. ट्रेन सैट होने के चलते इस गाड़ी के दोनों ओर इंजन हैं. इंजन भी मेट्रो की तरह छोटे से हिस्से में हैं.

ये भी पढ़ें: 

प्रयागराज: सलमान खान को धमकी देने वाला शेरू उर्फ शेरा गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवान का शव पहुंचा भदोही, परिजनों ने शव लेने से किया इनकार

VHP की धर्मसभा से पहले बीबीएयू परिसर में छात्रों ने लगाए 'अयोध्या चलो' के पोस्टर

संभल: पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार हुआ इनामी, दारोगा को लगी गोली

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज