यूपी उपचुनाव: नौगांवा सादात सीट के इस गांव ने किया मतदान का बहिष्कार, बैनर लगा बताई वजह

ग्रामीणों ने किया उपचुनाव का बहिष्कार
ग्रामीणों ने किया उपचुनाव का बहिष्कार

UP Bye-election: गांव सब्दलपुर सुमाली के ग्रामीणों ने गांव में विकास कार्य न कराए जाने को लेकर इस बार नौगांवा सादात विधानसभा उपचुनाव में मतदान न करने का फैसला लिया है. जिसके लिए बकायदा बैनर लगाया गया है.

  • Share this:
अमरोहा. विकास के तमाम सरकारी दावों की पोल अक्सर चुनावों के समय खुल ही जाती हैं, जब चुनाव बहिष्कार की खबरें सुर्खियां बनती हैं. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अमरोहा (Amroha) जनपद के नौगांवा सादात विधानसभा से भी ऐसी ही खबर आ रही है. इस विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव (UP Assembly By-polls) के लिए आगामी 3 नवंबर को मतदान होना है. इसके लिए सभी दल अपनी-अपनी जीत सुनिश्चित करने को जी जान से जुटे हैं. इस बीच विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार (Poll Boycott) कर दिया है. गांव सब्दलपुर सुमाली के ग्रामीणों ने गांव में विकास कार्य न कराए जाने को लेकर इस बार नौगांवा सादात विधानसभा उपचुनाव में मतदान न करने का फैसला लिया है. जिसके लिए बकायदा बैनर लगाया गया है. जिसके बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया. फ़िलहाल गांव वालों को समझने में प्रशासनिक अमला जुटा हुआ है.

विकास कार्य न होने से नाराज है ग्रामीण
बता दें कि नौगांवा सादात विधानसभा क्षेत्र में आने वाला गांव सब्दलपुर सुमाली विकास से अछूता है और यहां पर विकास के नाम पर कुछ भी नहीं है. जिसकी वजह से गांव वाले काफी परेशान है. न सड़क है और न यहां बिजली मिलती है. इतना ही नहीं शुद्ध पानी की व्यवस्था भी नहीं है. जिसकी वजह से गांव वालों ने नाराजगी जताते हुए इस बार चुनावी बहिष्कार का एलान कर दिया और अपने गांव के बाहर एक बैनर लगा दिया. यही वजह है कि गांव में प्रचार के लिए राजनीतिक पार्टियां भी नहीं पहुंच रही हैं.

विकास के बदले वोट देने की मांग
न्यूज18 ने जब गांव वालों से बात की तो उनका साफ कहना है कि पहले हमारे यहां विकास लाइए उसके बाद हमसे वोट ले जाइए. उधर प्रशासनिक अमला भी ग्रामीणों को समझाने में जुटा है, लेकिन अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है. ग्रामीण मतदान का बहिष्कार करने पर अड़े हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज