Home /News /uttar-pradesh /

पत्नी का आरोप, कार्यालय अधीक्षक कर रहे पति का मानसिक उत्पीड़न

पत्नी का आरोप, कार्यालय अधीक्षक कर रहे पति का मानसिक उत्पीड़न

मुरादाबाद परिवहन विभाग में आजकल विभागीय कर्मियों की गुटबाजी सर चढ़कर बोल रही है। अवैध कमाई के चलते हर कोई एक दूसरे को नीचा दिखाने पर तुला है। विभागीय कर्मचारियों की इस गुटबाजी से परिवहन विभाग को हर रोज सरकारी राजस्व का भी नुकसान झेलना पड़ रहा है, बावजूद इसके आलाधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैंठे हैं।

मुरादाबाद परिवहन विभाग में आजकल विभागीय कर्मियों की गुटबाजी सर चढ़कर बोल रही है। अवैध कमाई के चलते हर कोई एक दूसरे को नीचा दिखाने पर तुला है। विभागीय कर्मचारियों की इस गुटबाजी से परिवहन विभाग को हर रोज सरकारी राजस्व का भी नुकसान झेलना पड़ रहा है, बावजूद इसके आलाधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैंठे हैं।

मुरादाबाद परिवहन विभाग में आजकल विभागीय कर्मियों की गुटबाजी सर चढ़कर बोल रही है। अवैध कमाई के चलते हर कोई एक दूसरे को नीचा दिखाने पर तुला है। विभागीय कर्मचारियों की इस गुटबाजी से परिवहन विभाग को हर रोज सरकारी राजस्व का भी नुकसान झेलना पड़ रहा है, बावजूद इसके आलाधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैंठे हैं।

अधिक पढ़ें ...
मुरादाबाद परिवहन विभाग में आजकल विभागीय कर्मियों की गुटबाजी सर चढ़कर बोल रही है। अवैध कमाई के चलते हर कोई एक दूसरे को नीचा दिखाने पर तुला है। विभागीय कर्मचारियों की इस गुटबाजी से परिवहन विभाग को हर रोज सरकारी राजस्व का भी नुकसान झेलना पड़ रहा है, बावजूद इसके आलाधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैंठे हैं।

ताजा मामला सहायक कार्यालय अधीक्षक को कार्यालय अधीक्षक द्वारा डांटने व बदसलूकी करने का हैं, जिसके बाद आरएम कार्यालय में तैनात कार्यालय अधीक्षक गोपाल शर्मा के खिलाफ कटघर थाने में एक मुकदमा दर्ज किया गया हैं।

मुकदमा सहायक अधीक्षक जितेंद्र कुमार की पत्नी रिमी रानी द्वारा दर्ज कराया गया हैं। जितेंद्र की पत्नी का आरोप है की कार्यालय अधीक्षक उसके पति का मानसिक उत्पीड़न कर रहे हैं और मुरादाबाद मंडल के आरएम के साथ मिलकर उनके पति पर अवैध कमाई करने का दबाव बनाते हैं।

अवैध तरीके से पैसों की मांग ना पूरी करने पर पति का तबादला किए जाने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए जितेंद्र की पत्नी का कहना हैं की विभागीय अधिकारियों द्वारा परेशान किए जाने के चलते उसके पति की हालत खराब हुई है और उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा हैं।

मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस मामले की विवेचना में जुट गई है, वहीं परिवहन विभाग के आलाधिकारी पूरे मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार पूरा मामला संविदा कर्मियों की भर्ती से जुड़ा हैं।

संविदाकर्मियों की भर्ती में अवैध उगाही के चलते विभागिय कर्मी एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। इतना ही नही 2012 में मुरादाबाद मंडल में फर्जी दस्तावेजों के जरिएअ नौकरी पाने वाले आधा दर्जन ड्राईवर पकड़े गए थे, जिसके बाद सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश किए गए थे। लेकिन गुटबाजि के चलते आज तक मुकदमा दर्ज नहीं हो पाया है।

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर