Assembly Banner 2021

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड : जांच में दोषी पाए गए जेलर, डिप्टी जेलर समेत 5 पुलिसकर्मी

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी (फाइल फोटो)

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी (फाइल फोटो)

रिपोर्ट में बागपत जेल के तत्कालीन जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव, एसपी सिंह, हेड वार्डर अरजिंदर सिंह, वार्डर माधव कुमार को दोषी पाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2018, 9:14 AM IST
  • Share this:
बागपत जेल में नौ जुलाई को मारे गए माफिया डॉन मुन्‍ना बजरंगी की जांच में जेलर और डिप्‍टी जेलर दोषी पाए गए हैं. इस संबंध में जेलर और डिप्टी जेलर समेत पांच पुलिसकर्मियों को चार्जशीट देकर तीन हफ्ते में जवाब देने को कहा गया है.

जानकारी के मुताबिक माफिया डॉन मुन्‍ना बजरंगी हत्‍याकांड की जांच रिपोर्ट कारागार मुख्यालय को भेज दी है. इस रिपोर्ट में बागपत जेल के तत्कालीन जेलर उदय प्रताप सिंह, डिप्टी जेलर शिवाजी यादव, एसपी सिंह, हेड वार्डर अरजिंदर सिंह, वार्डर माधव कुमार को दोषी पाया गया है. इन सभी को चार्जशीट जारी कर तीन साप्‍ताह के अंदर जवाब देने को कहा गया है.

गौरतलब है कि माफिया मुन्ना बजरंगी की नौ जुलाई को यूपी के बागपत जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मुन्‍ना बजरंगी की पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में पेशी होनी थी. उसे झांसी से बागपत लाया गया था. पेशी से पहले ही उसे जेल में गोली मार दी गई. 7 लाख का इनामी बदमाश रह चुका सुपारी किलर सुनील राठी को मुन्ना बजरंगी की हत्या में आरोपी बनाया गया है. बता दें कि मुन्ना बजरंगी पर 40 हत्याओं, लूट, रंगदारी की घटनाओं में शामिल होने का केस दर्ज है. मुन्ना बजरंगी पूरे यूपी की पुलिस और एसटीएफ के लिए सिरदर्द बना हुआ था. वह लखनऊ, कानपुर और मुंबई में क्राइम करता था. उस पर सरकारी ठेकेदारों से रंगदारी और हफ्ता वसूलने का भी आरोप था.



इसे भी पढ़े :-
मुन्ना बजरंगी मर्डर केस: हत्या के पीछे पुलिस खंगाल रही मुख्तार अंसारी का कनेक्शन!

मुन्ना बजरंगी हत्याकांड की जांच रिपोर्ट तैयार, जेलर समेत 4 जेलकर्मियों पर होगी कार्रवाई
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज