होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

कमलेश तिवारी हत्या मामले में आरोपियों को शामलाजी से गुजरात एटीएस ने पकड़ा है.(Photo- News18)

कमलेश तिवारी हत्या मामले में आरोपियों को शामलाजी से गुजरात एटीएस ने पकड़ा है.(Photo- News18)

पुलिस ने बताया कि कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari Murder Case) के हत्‍यारोपी नेपाल बॉर्डर पर पहुंच चुके थे, लेकिन उनका पैस ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या कर मुख्‍य आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन लखनऊ (Lucknow) से आराम से फरार हो चुके थे. बरेली (Bareilly) के रास्ते होते हुए नेपाल (Nepal) जाने तक की तैयारी भी हो चुकी थी, लेकिन इससे पहले पुलिस भी पूरी तरह से सक्रिय हो चुकी थी. नेपाल बॉर्डर पर भी सख्त निगरानी कर दी गई थी. इस बीच, आरोपियोंं के पास रुपये खत्म हो गए और इसी का इंतजाम करने के लिए वे गुजरात (Gujarat) लौटे थे.

    कमलेश के हत्यारोपी नेपाल भाग सकते हैं, इसका अंदाजा पुलिस को पहले ही हो गया था. इसी के चलते पुलिस ने नेपाल बॉर्डर पर चौकसी बढ़ाने के साथ ही वहां तैनात एसएसबी से भी तालमेल बना रखा था. एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने बताया कि इसी सख्ती के चलते आरोपी शाहजहांपुर में रुकने को मजबूर हुए थे. बॉर्डर इलाके तक पहुंचते-पहुंचते उनके पास रुपये खत्म हो चुके थे.

    इसलिए नहीं अपनाया रुपयों के इंतजाम के लिए दूसरा रास्ता
    डीआईजी हिमांशु शुक्ला का कहना है कि जब नेपाल बॉर्डर के पास पहुंचकर हत्‍यारोपी के पैसे खत्म हो गए तो किसी और माध्यम से पैसों का इंतजाम करने के बजाए वे खुद ही गुजरात चल दिए. उन्हें डर था कि किसी और माध्यम का इस्तेमाल किया तो पुलिस की सख्ती के चलते पकड़े जा सकते हैं.

    News18 Hindi
    कमलेश तिवारी की हत्या के दो आरोपी गुजरात-राजस्थान बॉर्डर के पास से पकड़े जा चुके हैं. (फाइल फोटो)


    गुजरात एटीएस ने हत्‍यारोपियों को ऐसे दबोचा
    एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला का कहना है कि इतने दिन तक आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बचते रहे उसकी एक बड़ी वजह ये थी कि ये लोग कभी अपना मोबाइल इस्तेमाल नहीं करते थे. इसी के चलते इनको कभी ट्रेस नहीं किया जा सका. बावजूद इसके आरोपियों को पकड़ने के लिए तकनीक के साथ सर्विलांस के अन्‍य तीरकों का इस्तेमाल किया जा रहा था.

    सूरत स्थित अपने घर किया था फोन
    हत्‍यारोपी गुजरात पहुंचकर सूरत स्थित अपने घर पर एक फोन कॉल किया. बस यही एक कॉल पुलिस के काम आ गया. हत्‍यारोपियों ने कॉल कर घर वालों से रुपयों का इंतजाम करने की बात कही थी. इस कॉल के बाद से ही इन पर नजर रखी जाने लगी और आखिरकार पुलिस ने इन्‍हें‍ गिरफ्तार कर लिया.

    ये भी पढ़ें- 

    Kamlesh Tiwari ने हत्या से एक दिन पहले ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट

    कमलेश तिवारी ने मर्डर से एक दिन पहले राम मंदिर के लिए लिखी थी ये बड़ी बात

    कमलेश तिवारी हत्याकांड: आरोपी मोइन और अशफाक गिरफ्तार, पाकिस्तान भागने की फिराक में थे

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: ATS, CCTV camera footage, Kamlesh Tiwari Murder, Nepal, UP police

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें