लाइव टीवी

मुथूट फाइनेंस कंपनी की तिजाेरी में रखा सोना लूटने के लिए की थी भाई की हत्या, 4 महीने बाद खुला राज, दो गिरफ्तार

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 8:23 AM IST
मुथूट फाइनेंस कंपनी की तिजाेरी में रखा सोना लूटने के लिए की थी भाई की हत्या, 4 महीने बाद खुला राज, दो गिरफ्तार
आजाद की हत्या करने के बाद चारों आरोपियों ने उसके शव को नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र के नाले में फेंक दिया. पुलिस ने 20 जून को आजाद का शव नाले से बरामद किया था. (प्रतीकात्मक फोटो)

मुथूट फाइनेंस कंपनी के मैनेजर (Manager) की गोली मार कर की गई थी हत्या (Murder), बादलपुरा के नाले से बरामद की हुई थी लाश.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 8:23 AM IST
  • Share this:
नोएडा. गाजियाबाद का चर्चित मुथूट फाइनेंस मैनेजर (Muthoot Finance company) हत्याकांड का आखिर चार माह बाद पुलिस (Police) ने खुलासा कर ही दिया. पुलिस ने मामले में मैनेजर (Manager) के भाई सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है. वहीं दो अन्य आरोपी अभी फरार हैं. आरोपियों की पहचान परविंदर और चमनलाल कश्यम के तौर पर हुई है. वहीं सुनील और दीपक जो साजिश का हिस्सा थे फिलहाल फरार हैं. बताया जा रहा है कि यह हत्या (Murder) लूट के मकसद से की गई थी. इस संबंध में नोएडा (Noida) पुलिस ने मंगलवार को जानकारी दी.

लूट की योजना नाकाम हुई तो कर दी हत्या
पुलिस के अनुसार आजाद मुथूट कंपनी में मैनेजर के पद पर कार्यरत था. इस दौरान उसने अपने भाई परविंदर को 10 हजार रुपये उधार दिए थे. आजाद लंबे समय से परविंदर से अपने रुपये मांग रहा था. इसी के चलते परविंदर ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर परविंदर की शाखा को लूटने की योजना बनाई. लेकिन आजाद ने इसका विरोध किया तो उसकी गोली मार कर हत्या कर दी गई.

नाले में मिला था शव

आजाद की हत्या करने के बाद चारों ने उसके शव को नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र के नाले में फेंक दिया. पुलिस ने 20 जून को आजाद का शव नाले से बरामद किया था. जिसके बाद हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई. शुरूआत में पुलिस को यह मामला आपसी रंजिश का लगा था लेकिन गहन जांच के दौरान परविंदर का नाम सामने आया ओर उसको हिरासत में लेकर जब पूछताछ की गई तो उसने हत्या की बात कबूल ली.

(इनपुटः भाषा)

ये भी पढ़ेंः महाराजगंज: जायदाद के लिए इकलौते बेटे ने अपने पिता की हत्या की 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गाजियाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 8:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर