Home /News /uttar-pradesh /

जब ‘मन की बात’ करते हैं पीएम, तो किसानों की बात सुनने में क्या परेशानी: अजित सिंह

जब ‘मन की बात’ करते हैं पीएम, तो किसानों की बात सुनने में क्या परेशानी: अजित सिंह

अजीत सिंह (फाइल फोटो)

अजीत सिंह (फाइल फोटो)

मोदी सरकार जनता के बीच अपनी विश्वसनीयता खो चुकी है और जीएसटी व नोटबंदी के कारण हर तबका तबाही के कगार पर आकर खड़ा हो गया है.

    उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के मुखिया चौधरी अजित सिंह भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जमकर पर जमकर बरसे. चौधरी अजीत सिंह ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि देश में जो सीबीआई के साथ हो रहा है, उससे लगता है दाल में कुछ काला है. कुछ लोगों का तो कहना है कि पूरी दाल ही काली है. मोदी सरकार जनता के बीच अपनी विश्वसनीयता खो चुकी है और जीएसटी व नोटबंदी के कारण हर तबका तबाही के कगार पर आकर खड़ा हो गया है.

    रालोद मुखिया चौधरी अजीत सिंह जनपद मुजफ्फरनगर के लालू खेड़ी गांव में रालोद द्वारा आयोजित एक जनसंवाद कार्यक्रम में शामिल होने के बाद मुजफ्फरनगर पहुंचे. जहां पत्रकारों से वार्ता करते हुए चौधरी अजीत सिंह ने कहा कि पहले वह लोगों को जागरूक करते थे. अब लोग खुद सरकार के प्रति अपनी नाराजगी का इजहार कर रहे हैं. पेट्रोल डीजल की महंगाई, गन्ना भुगतान जैसी समस्याओं से किसान और आमजन रोज रूबरू हो रहे हैं. अब जनता को यह बताने की जरूरत नहीं रह गई है कि मोदी सच नहीं बोलते. मोदी अपने द्वारा किए गए कार्य बताने के बजाय अब भी पिछली सरकारों द्वारा किए गए कार्यों में कमी निकालते रहते हैं. नोटबंदी और जीएसटी के कारण हर वर्ग का व्यक्ति परेशान है.

    उन्होंने कहा कि 6 महीने पहले तक लोग मोदी के खिलाफ सुनने को तैयार नहीं थे, मगर पिछले कुछ महीनों में माहौल पूरी तरह बदल गया है. राफेल के खुलासे और सीबीआई में फेरबदल से मोदी सरकार की छवि पूरी तरह धूमिल हो गई है. वहीं किसान क्रांति यात्रा आधी रात समाप्त किए जाने के ऐलान को लेकर चौधरी अजीत सिंह ने कहा कि रात में सब काम गड़बड़ होते हैं.

    ये भी पढ़ें- यूपी में अपने लिए जमीन तलाशने की जद्दोजहद में अजीत सिंह

    अजीत सिंह ने कहा कि किसान शांतिपूर्ण आंदोलन करते हुए दिल्ली तक गए. रालोद ने हर जगह किसान यात्रा का स्वागत और समर्थन किया. मोदी सबको अपने मन की बात सुनाते हैं तो उन्हें किसानों की बात सुनने में क्या परेशानी थी. उन्होंने कहा कि यदि हरियाणा में यूपी का धान ना बिके तो यूपी में तो धान का एक भी क्रय केंद्र नहीं खोला गया है. चीनी का भरपूर उत्पादन होने के बावजूद सरकार चीनी आयात करती है. उन्होंने कहा कि अब प्रदूषण नियंत्रण की जिम्मेदारी भी किसान के जिम्मे ही डाल दी गई है.

    मायावती द्वारा विधानसभा चुनाव में गठबंधन न किये जाने को लेकर चौधरी अजीत सिंह ने कहा कि यूपी में बहन जी का मूड बिल्कुल ठीक है और विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद महागठबंधन अपने अस्तित्व में आएगा.

    'बहन मायावती को खुश करने के लिए अजीत सिंह ने मुझे बलि का बकरा बनाया'

    Tags: Ajit singh, Farmers Protest, Mann Ki Baat, Pm narendra modi, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर