Home /News /uttar-pradesh /

Amit Shah in UP: 'अखिलेश को लाज नहीं आती, हिम्मत हो तो...', मुजफ्फरनगर में सपा-बसपा पर जमकर बरसे अमित शाह

Amit Shah in UP: 'अखिलेश को लाज नहीं आती, हिम्मत हो तो...', मुजफ्फरनगर में सपा-बसपा पर जमकर बरसे अमित शाह

Amit Shah in Muzaffarnagar: मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने अखिलेश यादव और मायावती को निशाने पर लिया. (फोटो- न्यूज18)

Amit Shah in Muzaffarnagar: मुजफ्फरनगर में अमित शाह ने अखिलेश यादव और मायावती को निशाने पर लिया. (फोटो- न्यूज18)

Amit Shah Attacks on Akhilesh Yadav: यूपी विधानसभा चुनाव (UP Chunav 2022) में भारतीय जनता पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए एक बार फिर से केंद्रीय गृहमंत्री और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने कमान संभाल ली है. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के दौरे के अगले ही दिन मुजफ्फरनगर (Amit Shah in Muzaffarnagar) पहुंचकर अमित शाह (Amit Shah News) ने समाजवादी पार्टी के मुखिया पर हमला बोला और माफियाराज, गुंडाराज कहकर सपा सरकार की कमियां गिनाईं. मुजफ्फरनगर में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा कि बहन जी एक जाति की बात करती थीं, कांग्रेस परिवार की बात करती थी और अखिलेश की सपा तो गुंडा माफिया की बात करती थी. अमित शाह ने ललकारते हुए कहा कि अखिलेश यादव को लाज नहीं आती. हिम्मत हो तो अपने समय के आंकड़े लेकर प्रेस वार्ता करें. योगी सरकार में लूट हत्या बलात्कार के मामलों में कमी आई है.

अधिक पढ़ें ...

मुजफ्फरनगर: यूपी विधानसभा चुनाव (UP Chunav 2022) में भारतीय जनता पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए एक बार फिर से केंद्रीय गृहमंत्री और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने कमान संभाल ली है. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के दौरे के अगले ही दिन मुजफ्फरनगर (Amit Shah in Muzaffarnagar) पहुंचकर अमित शाह (Amit Shah News) ने समाजवादी पार्टी के मुखिया पर हमला बोला और माफियाराज, गुंडाराज कहकर सपा सरकार की कमियां गिनाईं. मुजफ्फरनगर में प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा कि बहन जी एक जाति की बात करती थीं, कांग्रेस परिवार की बात करती थी और अखिलेश की सपा तो गुंडा माफिया की बात करती थी. अमित शाह ने ललकारते हुए कहा कि अखिलेश यादव को लाज नहीं आती. हिम्मत हो तो अपने समय के आंकड़े लेकर प्रेस वार्ता करें. योगी सरकार में लूट हत्या बलात्कार के मामलों में कमी आई है.

संबोधन की शुरुआत में अमित शाह ने सबसे पहले चौधरी चरण सिंह, बाबा महेंद्र टिकैत को प्रणाम किया और उसके बाद सपा, बसपा और कांग्रेस पर हमला बोलना शुरू कर दिया. अमित शाह ने कहा कि यही मुजफ्फरनगर है, जिसने 2014, 2017 और 2019 में भाजपा की उत्तर प्रदेश में प्रचंड जीत की नींव डालने का काम किया है. यहीं से लहर उठती है जो काशी तक जाती है और हमारे विरोधियों का सूपड़ा साफ कर देती है. उन्होंने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश का जब मैं प्रभारी बना था, तब शुरू में ही यहां दंगे हुए थे. तब की सरकार में आरोपी ही पीड़ित बन गए थे और जो पीड़ित थे, उन्हें आरोपी बना दिया गया. मैं उन दंगों की पीड़ा को भूला नहीं हूं.

अमित शाह ने कहा कि सपा, बसपा के शासन में उत्तर प्रदेश को माफियाओं ने कब्जे में ले लिया था. धर्म और जाति के आधार पर यहां राजनीति करने वालों का यहां बोलबाला था. 2017 में यहां योगी आदित्यनाथ जी की सरकार बनने के बाद सारे गुंडे उत्तर प्रदेश की सीमा से बाहर चले गए. पहले की सरकारों के शासन को उत्तर प्रदेश ने देखा है. बहन जी की पार्टी आती थी तो एक जाति की बात करती थी. कांग्रेस पार्टी आती थी तो परिवार की बात करती थी. सपा पार्टी आती थी तो गुंडा, माफिया और तुष्टिकरण की बात करते थे. आज भाजपा के पांच साल हो गए, न जाति की बात है, न परिवार वाद की बात है, न गुंडे, माफिया, तुष्टिकरण की बात है. भाजपा के शासन में सिर्फ और सिर्फ सुरक्षा और विकास की बात है.

अखिलेश यादव और मायावती पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि आपका एक वोट उत्तर प्रदेश में माफिया राज भी ला सकता है और वही वोट माफियाराज से मुक्ति भी दिला सकता है. अगर सपा-बसपा की सरकार बनी, तो फिर से माफियाराज आएगा, जातिवाद आएगा. लेकिन अगर भाजपा को वोट दिया तो उत्तर प्रदेश देश का नंबर वन राज्य बनेगा. भाजपा हर क्षेत्र और हर समाज के हमारे पूर्वजों का सम्मान करने में विश्वास करती है. आज तक राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर कुछ नहीं हुआ था, हमने उनके नाम पर अलीगढ़ में विश्वविद्यालय का निर्माण कराने का काम किया.

अखिलेश यादव की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर अमित शाह ने कहा कि कल अखिलेश जी और जयंत जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. वो कहते हैं कि हम साथ-साथ हैं. मगर ये साथ कब तक है? अगर इसकी सरकार बन गई तो जयंत जी सरकार से निकल जाएंगे और आजम खान वापस आ जाएंगे. यूपी के लोग तो टिकटों के बंटवारे से समझ गए हैं कि आगे क्या होने वाला है. अखिलेश जयंत के साथ-साथ आने पर तीखा प्रहार करते हुए अमित शाह ने कहा कि साथ-साथ कब तक हैं, ये सवाल है. काउंटिंग के बाद जयंत भाई निकल जाएंगे, आजम अतीक आ जाएंगे. पहले पाकिस्तान से बदला लेने की बात छोड़ो, कानों में जूं तक नहीं रेंगती थी, आपकी कृपा हो गई नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन गए और पाकिस्तान के घर में घुसकर आतंकवादियों का सफाया किया.

Tags: Amit shah, Assembly elections, Uttar Pradesh Assembly Elections, ​​Uttar Pradesh News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर