अपना शहर चुनें

States

Muzaffarnagar News: कृषि कानूनों को लेकर RLD-भाजपा कार्यकर्ताओं में मारपीट, कई लोग घायल, जानें पूरा मामला

रालोद कार्यकर्ता कैबिनेट मंत्री संजीव बालियान का विरोध कर रहे थे.
रालोद कार्यकर्ता कैबिनेट मंत्री संजीव बालियान का विरोध कर रहे थे.

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों (Agricultural Law) को लेकर मुजफ्फरनगर के सोरम गांव में भाजपा और रालोद (RLD) कार्यकार्ताओं के बीच मारपीट में कई लोग घायल हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 8:47 PM IST
  • Share this:
विनेश पवार

मुजफ्फरनगर. केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों (Agricultural Law) के खिलाफ जारी किसान आंदोलन बीच अब भाजपा (BJP) ने खाप पंचायतों से संपर्क बनाना शुरू कर दिया है. यही वजह है कि गृहमंत्री अमित शाह के निर्देशन पर भाजपा के तमाम बड़े नेता इन दिनों यूपी में खापों के प्रमुखों के घर पहुंचकर उन्हें कृषि कानून के फायदे गिनाकर सरकार के समर्थन में आने की अपील करते देखे जा रहे हैं. हालांकि इस दौरान उन्‍हें विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है. रविवार को शामली में कैबिनेट मंत्री संजीव बालियान समेत कई नेताओं को लोगों के विरोध के बाद अपने काफिले का रास्‍ता बदलना पड़ा था. जबकि आज मुजफ्फरनगर में तो भाजपा और रालोद (RLD) कार्यकार्ताओं के बीच मारपीट तक हो गई.

रालोद के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष और चौधरी अजीत सिंह के बेटे जयंत ने मुजफ्फरनगर के सोरम गांव में हुई इस घटना के लिए भाजपा पर निशाना साधा है. उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा, ' सोरम गांव में बीजेपी नेताओं और किसानों के बीच संघर्ष, कई लोग घायल! किसान के पक्ष में बात नहीं होती तो कम से कम व्यवहार तो अच्छा रखो. किसान की इज्‍जत तो करो. इन कानूनों के फायदे बताने जा रहे सरकार के नुमाइंदों की गुंडागर्दी बर्दाश्त करेंगे गांव वाले?



जानें पूरा मामला
दरअसल, कैबिनेट मंत्री संजीव बालियान मुजफ्फरनगर के सोरम गांव में एक किसान के तेरहवीं संस्‍कार में शामिल होने पहुंचे थे. इस दौरान वहां कुछ रालोद कार्यकर्ता भी आ गए और उनका विरोध करने लगे. इस बीच भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी अपनी आवाज बुलंद कर दी. कुछ देर बाद संजीव बालियान वहां से चले गए और मामला शांत हो गया था, लेकिन एक बार फिर रालोद कार्यकर्ताओं ने कृषि कानूनों को लेकर नारेबाजी शुरू कर दी, जिसका भाजपा समर्थकों ने विरोध किया. इसके बाद दोनों गुटों में मारपीट हो गई, जिसमें दोनों तरफ के कई लोग घायल हुए हैं. यही नहीं, इस घटना के बाद रालोद नेता आगे की रणनीति गांव में ही बैठकर बना रहे हैं. वैसे इस मामले में अभी तक कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज