होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /पति को मारा तमाचा पत्नी के लिए बना काल, हत्याकांड की खौफनाक कहानी जान अपराधी भी पकड़ लेंगे माथा

पति को मारा तमाचा पत्नी के लिए बना काल, हत्याकांड की खौफनाक कहानी जान अपराधी भी पकड़ लेंगे माथा

पति को तमाचा मारा तो पत्नी की हत्या कर दी (सांकेतिक तस्वीर)

पति को तमाचा मारा तो पत्नी की हत्या कर दी (सांकेतिक तस्वीर)

Crime in UP: एक शिक्षिका द्वारा पति को तमाचा मारना इतना महंगा पड़ गया कि उसकी हत्या ही कर दी गई. अपमान का बदला लेने के ...अधिक पढ़ें

मुजफ्फरनगर: एक शिक्षिका द्वारा पति को तमाचा मारना इतना महंगा पड़ गया कि उसकी हत्या ही कर दी गई. अपमान का बदला लेने के लिए मृतक शिक्षिका के पति और देवर ने मिलकर उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और हत्या को हादसा दिखाने के लिए ऐसी साजिश रची, जिसे जानकर बड़े-बड़े अपराधी भी कान पकड़ लेंगे. दरअसल, मामला उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर जनपद के रतनपुरी थाना क्षेत्र स्थित सठेडी गंगनहर का है, जहां बीते 7 मार्च को एक वैगनआर कार अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी थी. कार में मेरठ निवासी नावेद और शिक्षिका गुलबहार सवार थे. ये दोनों देवर-भाभी हैं.

घटना की सुचना पर पहुंची पुलिस को उस वक्त नावेद ने बताया कि वह कार में अपनी शिक्षिका भाभी को पुरकाज़ी क्षेत्र के हरिनगर गांव स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय छोड़ने के लिए जा रहा था. उसी समय उनकी कार नहर में जा गिरी. नहर में कार गिरने के बाद उसने तो किसी तरह कार से बाहर निकलकर अपनी जान बचा ली, लेकिन उसकी भाभी गुलबहार कार में फसी रह गई, जिसके चलते उसकी जान चली गई थी.

पुलिस ने गोताखोरों और क्रेन की मदद से घंटों मशक्क़त के बाद शिक्षिका गुलबहार के शव को नहर से बाहर निकाला. मगर जब पुलिस मृतक शिक्षिका के शव का पंचनामा भरने की कार्रवाई कर रही थी, तो महिला के ससुराल वालों ने पोस्मार्टम को लेकर जमकर हंगामा किया. महिला के ससुराल वाले शव को बैगर पोस्टमॉर्टम के ले जाना चाहते थे. हाालंकि, अंत में आलाधिकारियों ने जबरन शव का पंचनामा भर पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया था.

पोस्मार्टम की रिपोर्ट आने के बाद यह हादसा, हत्या में बदल गया था. क्यूंकि मृतक शिक्षिका की मौत पानी में डूबने से ना होकर दम घुटने से हुई थी. इसके बाद पुलिस ने मृतक महिला के देवर नावेद को हिरासत में लिया और जब पूछताछ हुई तो सारी कहानी साफ हो गई. पुलिस पूछताछ में नावेद ने बताया कि 6 मार्च को उसकी मृतक भाभी और भाई बाबर के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था, जिसमें मृतक शिक्षिका गुलबहार ने अपने पति बाबर को एक तमाचा जड़ दिया था. इससे पति गुस्से में आ गया था. इस झगड़े के बाद महिला अपने कमरे में जाकर सो गई थी.

इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए सीओ बुढ़ाना विनय कुमार गौतम ने बताया कि सोते समय मृतका के पति और देवर ने तकिये से उसकी हत्या कर दी थी. इसके बाद अगले दिन सुबह शव को मेरठ स्थित अपने घर से लाकर इन दोनों भाईयों ने कार को नहर में जाने दिया, ताकि यह हत्या हादसा लगे. बहराल पुलिस ने इस मामले में आरोपी देवर नावेद को तो गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि मृतक शिक्षिका का पति अभी भी पुलिस की गिरफ़्त से बाहर है.

Tags: Muzaffarnagar news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें