तीन तलाक कानून: बागपत में जेल जाने के डर से पति ने किया पत्नी से समझौता

उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में पुलिस परामर्श केंद्र पर ऐसा मामला सामने आया है, जहां तीन तलाक की धमकी देने वाले पति ने कानून के डर से अब पत्नी से समझौता कर लिया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 5, 2019, 6:55 PM IST
तीन तलाक कानून: बागपत में जेल जाने के डर से पति ने किया पत्नी से समझौता
तीन तलाक कानून: बागपत में जेल जाने के डर से पति ने किया पत्नी से समझौता. (फाइल फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 5, 2019, 6:55 PM IST
संसद के दोनों सदनों से तीन तलाक विधेयक के पारित होने के बाद इसका डर अब लोगों में साफ नजर आने लगा है. उत्तर प्रदेश के बागपत जिले में पुलिस परामर्श केंद्र पर ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जहां तीन तलाक की धमकी देने वाले पति ने कानून के डर से अब पत्नी से समझौता कर लिया है.

बागपत महिला थाना उप निरीक्षक सुमन के अनुसार, शहर के पुराने कस्बे की रहने वाली युवती का निकाह आठ महीने पहले सिंघावली अहीर क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले तौफीक से हुआ था. निकाह के कुछ समय बाद से ही युवती को ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित कर रहे थे. आए दिन पति भी मारपीट करता था. परेशान होकर महिला अपने मायके आ गई, जिसके बाद पति उसे तीन तलाक की धमकी दे रहा था.

पुलिस ने शौहर को परामर्श केंद्र बुलवाया
महिला थाना उप निरीक्षक ने बताया, पीड़िता ने इस संबंध में महिला थाना पुलिस से शिकायत की. दोनों पक्षों को पुलिस ने रविवार को पुलिस परामर्श केंद्र बुलवाया, जहां पति ने संसद में तीन तलाक विधेयक के पारित होने के कारण जेल जाने के डर से पत्नी से समझौता कर लिया. अधिकारी ने बताया कि, शौहर ने साफ कहा कि वह जेल जाने से बचने के लिए समझौता कर अपना घर बसाना चाहता है. दंपति के बीच सुलह-समझौता होने के बाद दोनों परिवार खुशी-खुशी घर चले गए.

तलाक देना घोषित हो चुका है अपराध
जुलाई में तीन तलाक बिल लोकसभा और राज्यसभा से पास हो गया था. राज्यसभा में बिल के पक्ष में 99 और बिल के खिलाफ 84 वोट पड़े हैं. इस बिल के पास होने के बाद तीन तलाक की प्रथा पूरी तरह से प्रतिबंधित हो जाएगी. तीन तलाक बिल का पूरा नाम मुस्लिम महिला (महिला अधिकार संरक्षण कानून) बिल, 2019 है. इस बिल के कानून बन जाने के बाद मौखिक, लिखित और अन्य सभी माध्यमों में तीन तलाक देना अपराध घोषित हो चुका है. ऐसे में अगर कोई शख्स अपनी पत्नी को ट्रिपल तलाक देता है तो यह जुर्म होगा और ऐसे में उसके खिलाफ इस कानून के अंतर्गत कार्रवाई की जा सकेगी.

तीन तलाक देने पर होगी 3 साल की जेल और जुर्माना
Loading...

तीन तलाक विरोधी कानून बनने के बाद तीन तलाक देने पर किसी शख्स के खिलाफ 3 साल तक जेल की सजा का प्रावधान है. इसके साथ ही उस शख्स पर जुर्माना भी लगाया जाएगा. ट्रिपल तलाक के मामले में जमानत के लिए मजिस्ट्रेट के पास जाना होगा.

मुआवजे की मांग कर सकती है तीन तलाक की पीड़िता
अगर किसी महिला को ट्रिपल तलाक दिया जाता है तो वह अपने पति से मुआवजे की मांग कर सकती है. हालांकि इन मामलों में किसी निश्चित राशि को मुआवजे के तौर पर तय नहीं किया गया है और पीड़ित महिला को कितना मुआवजा देना है, इसे मजिस्ट्रेट सुनवाई के बाद तय करेंगे.

ये भी पढ़ें - 
First published: August 5, 2019, 6:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...