VIDEO: मुजफ्फरनगर में भीड़ का पुलिस जीप पर हमला, कस्टडी से युवती को टांग ले गए

गनीमत यह रही कि अधिकारियों की सूझबूझ से तुरंत पूरे जनपद में हाई अलर्ट कर दिया गया. जिसके बाद युवती को जंगल से सकुशल बरामद कर लिया

BINESH PANWAR | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 4, 2018, 5:53 PM IST
BINESH PANWAR | News18 Uttar Pradesh
Updated: September 4, 2018, 5:53 PM IST
मुजफ्फरनगर में बुधवार फिल्मी स्टाइल में एक युवती को जिला अस्पताल से अगवा करने का मामला सामने आया है. युवती को पुलिस कस्टडी से अगवा करने की लाइव तस्वीरें अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे और स्थानीय लोगों ने अपने मोबाइल में कैद कर ली. घटना की सूचना के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया और आला अधिकारियों ने कई थानों की पुलिस बल के साथ युवती की बरामदगी के लिए चेकिंग अभियान चलाया. घंटों की मशक्कत के बाद आखिरकार युवती को नगर कोतवाली क्षेत्र के शेरपुर गांव के जंगलों से पुलिस ने सकुशल बरामद कर लिया.

दरअसल, मामला प्रेम प्रसंग से जुड़ा हुआ है. युवती ने कुछ महीनों पहले एक युवक से प्रेम विवाह कर लिया था. इस संबंध में युवती के परिजनों ने मीरापुर थाने में एक मुकदमा पंजीकृत कराया था. उसी मुकदमे के संबंध में हाईकोर्ट ने मुजफ्फरनगर पुलिस को युवती का मेडिकल परीक्षण कराने के आदेश दिया था. कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए मुजफ्फरनगर पुलिस मंगलवार जब युवती को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंची तो कुछ लोगों ने युवती को छुड़ाने के लिए पुलिस पर हमला बोल दिया. यही नहीं बल्कि वहां मौजूद लोगों के साथ भी जमकर मारपीट की. जिसके बाद कस्टडी से युवती को जबरन उठाकर ले गए.

गनीमत यह रही कि अधिकारियों की सूझबूझ से तुरंत पूरे जनपद में हाई अलर्ट कर दिया गया. जिसके बाद युवती को जंगल से सकुशल बरामद कर लिया और जिस कार में युवती को अगवा किया गया था पुलिस ने उसे भी जंगल से बरामद कर लिया है.

एसपी सिटी ओमबीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया है कि युवती के परिजन युवती के प्रेम विवाह से नाखुश थे और उन्होंने खुद अपनी बेटी को उस समय अस्पताल से जबरन उठा लिया जब पुलिस युवती मेडिकल परिक्षण कराने अस्पताल पहुंची थी. पुलिस ने घटना के बाद युवती को सकुशल बरामद कर लिया और जिन लोगों ने युवती को जबरन उठाया था उन्हें भी गिरफ्तार कर कठोर कार्यवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें:

यूपी में राहुल गांधी जोड़ रहे आंदोलनकारी युवा 'हार्दिक, जिग्नेश और अल्पेश'

शिवपाल सिंह यादव ने अखिलेश और पार्टी के ट्विटर एकाउंट को किया Unfollow
Loading...
नोएडा: छात्राओं से वेश्यावृत्ति कराने वाले गैंग का भंडाफोड़, WhatsApp से होती थी बुकिंग
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर