Muzaffarnagar: सजा सुनाए जाने से पहले फरार हो गया था रेप का दोषी, 25 साल बाद हुआ गिरफ्तार

शाहिद हसन के साथियों को दस-दस साल की सजा हुई थी.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शाहिद हसन के साथियों को दस-दस साल की सजा हुई थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अपहरण और बलात्कार (Rape) के एक मामले में दोषसिद्ध होने के बाद सजा सुनाए जाने से एक दिन पहले फरार हुए शाहिद हसन पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस उसे 25 साल से तलाश रही थी.

  • Share this:
मुजफ्फरनगर. उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में साल 1995 में अपहरण और बलात्कार (Rape) के एक मामले में दोषसिद्ध के बाद सजा सुनाए जाने से एक दिन पहले फरार हुए व्यक्ति को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया है. इस बात की जानकारी पुलिस (UP Police) ने दी है.

पुलिस ने बताया कि 25 साल पहले बलात्कार के एक मामले में शाहिद हसन को अदालत ने दोषी ठहराया था, लेकिन सजा सुनाए जाने से पहले वह लापता हो गया था. बता दें कि हसन के प्रत्येक साथी को उसी मामले में दस-दस साल कैद की सजा सुनाई गई थी लेकिन वह भाग निकला था.

यह भी पढ़ें- UP Panchayat Election 2021: पहले चरण के नामांकन का आज आखिरी दिन, जानें समय और नियम समेत सबकुछ

दोषी पर इस वजह से नहीं लागू हुआ ये कानून
कानून के एक प्रावधान के अनुसार, यदि किसी व्यक्ति के बारे में सात साल तक कोई सूचना नहीं मिलती तो उसे मृत मान लिया जाता है. इस प्रावधान के बारे में पूछे जाने पर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि उस व्यक्ति को अदालत द्वारा दोषी करार दिया गया था. उन्होंने कहा कि अदालत ने उसे अपराधी घोषित करने के बाद उसकी संपत्ति जब्त कर ली थी और उक्त व्यक्ति को मृत घोषित करने के लिए उसके परिवार के किसी सदस्य ने अदालत का रुख नहीं किया.

इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने कहा कि उक्त कानूनी प्रावधान इस मामले पर लागू नहीं होता. साथ ही उन्‍होंने दोषी की गिरफ्तारी के ि‍लिए पुलिस की तारीफ की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज