होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Muzaffarnagar News: साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट बालिकाओं को सीखा रही आत्मरक्षा के गुर

Muzaffarnagar News: साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट बालिकाओं को सीखा रही आत्मरक्षा के गुर

मुजफ्फरनगर में साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट बालिकाओं को आत्मरक्षा करने का गुर सीखा रही है. महिलाओं को लाठी चलाना तलवार चलाना व ...अधिक पढ़ें

    अनमोल कुमार/मुजफ्फरनगर. मुजफ्फरनगर में साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट के द्वारा युवाओं व महिलाओं के हित में कार्य किया जाता रहा है. इस ट्रस्ट के द्वारा गरीब लड़कियों की शादी भी कराई जाती है. वही अब साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष शालू सैनी के द्वारा कैंप लगवाकर बच्चों, युवाओं, महिलाओं व बालिकाओं को लाठी चलाना सिखाया जा रहा है. इनके द्वारा लाठी सिखाने के लिए एक ट्रेनर भी रखा हुआ है. जो कि सभी को लाठी चलाना सिखा रहा है.

    साक्षी वेलफेयर ट्रस्ट की राष्ट्रीय अध्यक्ष शालू सैनी ने बताया कि हमारी संस्था के द्वारा हमेशा महिलाओं को आत्मरक्षा के गुण सिखाने के लिए समय-समय पर कैंप लगाए जाते हैं. जिनमें महिलाओं को आत्मरक्षा के टिप्स दिए जाते है, ताकि गुंडागर्दी बलात्कार छेड़छाड़ जैसे घिनौने अपराध से महिलाओं को बचाया जा सके. इसलिए हमारे द्वारा महिलाओं को तलवार चलाना लाठी चलाना आदि सिखाने के लिए रामलीला टिल्ले पर कैंप लगाया गया है.

    तीन महीने तक चलेगा कैंप
    मेरठ से एक ट्रेनर को बुलाया गया है. जो लाठी चलाना एवं तलवार चलाना सिखाएंगे. यह कैंप 3 महीने तक लगातार ऐसे ही चलेगा. यह कैंप हमारे द्वारा बिल्कुल निशुल्क लगाया गया है. यहां पर आकर कोई भी महिला बच्चा युवा लाठी वह तलवार चलाना सीख सकता है.

    सिखाया जा रहा आत्मरक्षा का गुर
    ट्रेनर अरुण सैनी ने बताया कि आज के समय में महिलाओं का घर से बाहर निकलना भी दुश्वार हो गया है. आए दिन महिलाओं के साथ छेड़छाड़ बलात्कार जैसी घटनाएं हो रही हैं. जिसे रोकने के लिए कहीं ना कहीं महिलाओं को भी आत्मरक्षा के टिप्स आनी चाहिए. इसीलिए मेरे द्वारा इस कैंप में महिलाओं, बालिकाओं, युवाओं को लाठी चलाना कराटे वह इसके बाद तलवार चलाना सिखाया जाएगा.

    अन्य जनपदों में भी लगाए जाते हैं कैंप
    शालू सैनी ने बताया कि हमारी संस्था के द्वारा मेरठ, शामली, सहारनपुर व अन्य जनपदों में भी महिलाओं की आत्मरक्षा के लिए लाठी चलाना तलवार चलाना व जूडो कराटे आदि कैंप लगाकर सिखाये जाते हैं. उनसे कोई भी शुल्क नहीं लिया जाता. यह कैंप हम अपने निजी खर्चे चलाते हैं.

    Tags: Muzaffarnagar news, Uttar pradesh news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें