होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Muzaffarnagar News: यहां आज भी है ढाई सौ साल पुराना शिव मंदिर, जानें इतिहास

Muzaffarnagar News: यहां आज भी है ढाई सौ साल पुराना शिव मंदिर, जानें इतिहास

UP News: मुजफ्फरनगर के गांव सांजक में एक शिवलिंग ऐसा है. जो स्वयं ही धरती से प्रकट हुआ था. ग्रामीणों के द्वारा इस शिवलि ...अधिक पढ़ें

  • Local18
  • Last Updated :

    मुजफ्फरनगर: अभी तक आपने भगवान शिव के न जाने कितने किस्से सुने होंगे और कितने ही मंदिर भी देखे होंगे. लेकिन जनपद मुजफ्फरनगर के गांव सांजक में एक शिवलिंग ऐसा है. जो स्वयं ही धरती से प्रकट हुआ था. इस शिवलिंग से लोगों की आस्था जुड़ी हुई है. लोगों का मानना है कि इस शिवलिंग की पूजा करने से सभी संकट दूर हो जाते हैं. जो भी भक्त अपनी मनोकामना मांगते हैं. उनकी मनोकामना भी इस मंदिर में आकर शिवलिंग पर दूध या गंगा जल चढ़ाने से पूरी हो जाती है. इस शिव मंदिर में दूर दूर से श्रद्धालु आकर शिवलिंग पर दूध व गंगा जल चढ़ाते हैं.

    News 18 की टीम को शिव मंदिर के पुजारी केशव नंद महाराज जी ने बताया. सांजक गांव में यह शिव मंदिर बहुत ही प्राचीन काल का है. जिसे करीब ढाई सौ साल से भी ऊपर हो गए हैं. इस गांव की धरती पर यह शिवलिंग अपने आप ही प्रकट हुआ था. जिसे देखकर ग्रामीणों में इस शिवलिंग के प्रति काफी श्रद्धा उत्पन्न हुई. सभी ग्रामीण इस शिवलिंग की पूजा अर्चना करने लगे.

    ग्रामीणों ने शिवलिंग को निकालना चाहा
    अधिक जानकारी देते हुए पुजारी जी ने बताया. ग्रामीणों के द्वारा इस शिवलिंग को धरती से बाहर निकालने का भी प्रयास किया गया. लेकिन यह शिवलिंग धरती से बाहर नहीं निकला. ग्रामीण जितना भी धरती को खोदते थे यह शिवलिंग उतना ही धरती में समा जाता था. लेकिन फिर एक दिन बरवाला के रहने वाले भगवानसा नाम के भगत के सपने में शिव भगवान ने दर्शन दिए थे. शिव भगवान ने उन्हें आदेश किया था कि इस जगह पर मेरा मंदिर बनवाया जाए. तभी भगत भगवानसा ने ग्रामीणों की सहमति वह ग्रामीणों के समर्थन से इस मंदिर का निर्माण कराया था. खुद ही हरिद्वार से पवित्र गंगाजल लाकर. इस मंदिर में शिवलिंग का जलाभिषेक किया.

    भक्तों का रखा जाता है ध्यान
    शिव मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए खाने पीने व रहने की व्यवस्था की जाती है.मंदिर कमेटी के द्वारा निशुल्क भंडारे का आयोजन किया जाता है. जिसमें सभी श्रद्धालुओं को भोजन कराया जाता है. शिव मंदिर पर शिवरात्रि व महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर मेला भी लगता है. जिसमें दूर-दूर से श्रद्धालु मेले में आते हैं. शिव भगवान की पूजा अर्चना करते हैं और मनचाहा फल भी पाते हैं.

    Tags: Muzaffarnagar news, UP news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें