• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • MUZAFFARNAGAR SUGAR MILLS OF UP OWE RS 11872 CRORE TO SUGARCANE FARMERS AND BSP MP WROTE A LETTER TO PM MODI NODARK

UP News: बरकरार है गन्‍ना किसानों की टेंशन! BSP MP ने पीएम मोदी को 11872 करोड़ से ज्‍यादा के भुगतान के लिए लिखी चिट्ठी

बसपा सांसद ने पीएम को लिखी चिट्ठी में महाराष्‍ट्र का भी जिक्र किया है.

Sugarcane Farmer News: पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से यूपी के बसपा सांसद कुंवर दानिश अली ने पत्र लिखकर गन्‍ना किसानों के बकाया 11,872.70 करोड़ रुपये के भुगतान के लिए योगी सरकार को निर्देश देने का आग्रह किया है. साथ ही उन्‍होंने याद दिलाया कि आपने 2017 में 14 दिन के अंदर भुगतान करवाने की बात कही थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका.

  • Share this:
    नई दिल्ली. बहुजन समाज पार्टी (BSP) के सांसद कुंवर दानिश अली (Kunwar Danish Ali) ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) से आग्रह किया कि वह उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों (Sugarcane Farmer) के बकाये के भुगतान के लिए राज्य सरकार को निर्देश दें. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अमरोहा से लोकसभा सदस्य अली ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर यह दावा भी किया कि उत्तर प्रदेश की चीनी मिलों पर 11,872.70 करोड़ रुपये का बकाया है. जबकि गत 12 मई तक कुल बकाए का 62.29 प्रतिशत ही भुगतान हुआ है.

    इसके अलावा बसपा सांसद कुंवर दानिश अली ने पत्र में कहा कि राज्य सरकार के दस्तावेजों के अनुसार, 12 मई तक राज्य की चीनी मिलों के लिए कुल गन्ना भुगतान 32,348.66 करोड़ रुपये था. गन्ने की आपूर्ति के 14 दिन बाद की वैधानिक बकाए की गणना में भी यह आंकड़ा 31,487.75 करोड़ रुपये था. इसमें से 19,615.05 करोड़ रुपये का ही भुगतान उक्त चीनी मिलों ने 12 मई तक किया है. इस के बाद भी 11,872.70 करोड़ रुपये का बकाया चीनी मिलों पर है.

    ये भी पढ़ें- Meerut News: कहकशा से यति बन हिंदू से रचाई शादी, अब इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दिया ये आदेश, जानें पूरा मामला

    अब तक 37.71 प्रतिशत राशि बाकी: बसपा सांसद
    सांसद अली ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश सरकार के अनुसार, 12 मई तक कुल बकाया का 62.29 प्रतिशत भुगतान ही हुआ है. वहीं, 37.71 प्रतिशत अभी बाकी है. जबकि महाराष्ट्र में पिछले साल चीनी मिलों का चीनी उत्पादन आधा था और चालू सीजन में भी उत्पादन उत्तर प्रदेश से कम है, लेकिन 30 अप्रैल तक वहां की चीनी मिलों ने 92.4 प्रतिशत भुगतान कर दिया है.

    सांसद कुंवर दानिश अली ने कहा, 'मेरे लिए और भी तकलीफ का विषय यह है कि मेरे संसदीय क्षेत्र अमरोहा में स्थित चीनी मिलों का पेराई सत्र समाप्त हो चुका है, लेकिन अभी भी किसानों का 594.97 करोड़ रुपये से अधिक गन्ना मूल्य भुगतान मिलों पर बकाया है.


    इसके साथ सांसद ने प्रधानमंत्री को लिखे इस पत्र में कहा, ‘आपने 2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में किसानों से वादा किया था कि 14 दिन के अन्दर गन्ना किसानों को भुगतान किया जायेगा. आप से अनुरोध है कि राज्य सरकार को निर्देश दें कि वह चीनी मिलों से समय पर भुगतान कराएं.'

    बहरहाल, यूपी सरकार समय समय पर चीनी मिलों पर गन्‍ना किसानों के भुगतान के लिए दबाव बनाती दिखती है, लेकिन किसानों की यह टेंशन खत्‍म होने का नाम नहीं ले रही है. जबकि विधानसभा और लोकसभा चुनाव के दौरान गन्‍ना के भुगतान का मामला जोरदार तरीके से उठता है. वहीं, 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर गन्‍ना किसानों का मुद्दा उठ खड़ा हो गया है.
    Published by:Ajay Raj
    First published: