Home /News /uttar-pradesh /

without space of electric vehicles charging station construction map will not approve in noida authority dlnh

चार्जिंग स्टेशन के लिए जगह छोड़ने पर ही होगा नक्शा पास, जाने प्लान

अब सभी को निर्माण के लिए नक्शा पास कराने से पहले इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन के लिए जगह छोड़नी होगी. Demo Pic

अब सभी को निर्माण के लिए नक्शा पास कराने से पहले इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन के लिए जगह छोड़नी होगी. Demo Pic

नोएडा (Noida) में इलेक्ट्रिक चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पॉलिसी लागू है. अब नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने भी अपना आदेश जारी कर दिया है. नक्शा पास कराने के लिए चार्जिंग स्टेशन (Charging Station) को जगह छोड़नी होगी. ऐसे चार्जिंग स्टेशन दो तरह के होंगे. एक प्राइवेट होगा जो घर के परिसर में होगा. वहीं दूसरा कर्मिशियल कॉम्पलेक्स (Commercial Complex), हाईराइज सोसाइटियों, कंपनियों के ऑफिस और इंडस्ट्रियल यूनिट में होगा जहां एक से ज्यादा लोग काम करते हैं.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. रेजिडेंशियल (Residantial), कर्मिशियल कॉम्पलेक्स (Commercial Complex) हो या हाईराइज सोसाइटियां या फिर कंपनियों के ऑफिस और इंडस्ट्रियल यूनिट, अब सभी को निर्माण के लिए नक्शा पास कराने से पहले इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन (Electric Charging Station) के लिए जगह छोड़नी होगी. जगह भी मानकों के मुताबिक होगी. इतना ही नहीं जो नक्शे पहले पास हो चुके हैं, उन्हें भी चार्जिंग स्टेशन के लिए जगह देनी होगी. हाल ही में नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने यह आदेश जारी किया है. गौरतलब रहे नोएडा में इलेक्ट्रिक चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पॉलिसी लागू की गई है.

इसलिए लागू की गई है चार्जिंग स्टेशन पॉलिसी

इलेक्ट्रिक व्हीकल चलाने वालों को चार्जिंग की कोई परेशानी न आए इसके लिए इलेक्ट्रिक चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर पॉलिसी बनाई गई है. नोएडा में भी इस पॉलिसी को लागू किया गया है. पॉलिसी के तहत चार्जिंग स्टेशन के लिए कुछ मानक तय किए गए हैं. जैसे शहर में हर 25 किमी पर और हाइवे पर 100 कमी पर चार्जिंग स्टेशन का होना जरूरी है. नोएडा अथॉरिटी ने शहर में 160 जगहों पर चार्जिंग स्टेशन लगाने की योजना बनाई है. जानकारों की मानें तो अभी तक 60 जगहों पर स्टेशन लगाए जा चुके हैं. गौरतलब रहे एक इलेक्ट्रिक व्हीकल एक बार चार्ज होने के बाद 120 किमी का सफर तय करता है.

यमुना एक्स्प्रेसवे पर बनेगा चार्जिंग स्टेशन कॉरिडोर

दिल्ली-एनसीआर में इलेक्ट्रिक वाहनों के बारे में सर्वे करने वाली एडवांस सर्विसेज ऑफ डूइंग बिजनेस प्रोग्राम कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि यमुना एक्सप्रेस वे को कम से 10 इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन की जरूरत है. इसमे से एक-एक आगरा और ग्रेटर नोएडा की साइड और 4-4 चार्जिंग स्टेशन यमुना एक्सप्रेसवे के दोनों साइड होने चाहिए. जिससे की इलेक्ट्रिक वाहन चलाने वालों को ईंधन को लेकर किसी भी तरह की कोई परेशानी न आए.

2 महीने तक पर्थला गोलचक्कर पर रहेगा ट्रैफिक रूट डायवर्जन, जानें प्लान

ग्रेटर नोएडा में बनेंगे 100 चार्जिंग स्टेशन की तैयारी

शॉपिंग करते हुए या मूवी देखते हुए आप अपनी इलेक्ट्रिक कार या स्कूटी-बाइक को चार्ज करा सकते हैं. इसके लिए आपको अलग से वक्त नहीं निकालना होगा. इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन लगाए जाने के लिए केन्द्र सरकार कुछ इसी तरह की योजना पर काम कर रही है. ग्रेटर नोएडा में इसी तर्ज पर 100 इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन लगाए जाने पर काम चल रहा है.

गौरतलब रहे अकेले गौतम बुद्ध नगर में ही 2021 तक दो साल में करीब 7 हजार इलेक्ट्रिक वाहनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है. जानकारों की मानें तो गौतम बुद्ध नगर आरटीओ में इस वक्त 5,938 इलेक्ट्रिक रिक्शा, 611 दोपहिया, 299 इलेक्ट्रिक कार्ट्स, 82 चार पहिया वाहन और सात तिपहिया वाहन पंजीकृत हैं. बीते कुछ महीने से आंकड़ों में और सुधार आया है. अब हर रोज करीब आम तौर पर एक दिन में यह आंकड़ा 15 इलेक्ट्रिक वाहनों से ऊपर निकल रहा है.

Tags: Electric vehicle, Greater Noida Authority, Noida Authority, Yamuna Expressway

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर