Home /News /uttar-pradesh /

ऊर्जा संरक्षण के लिए नोएडा के गांव बने रोल मॉडल

ऊर्जा संरक्षण के लिए नोएडा के गांव बने रोल मॉडल

ऊर्जा संरक्षण के लिए नोएडा के गांव बने रोल मॉडल

ऊर्जा संरक्षण के लिए नोएडा के गांव बने रोल मॉडल

राजीव त्यागी के अनुसार नोएडा के गांव में जब भी दौरा पर जाना होता था, लाइट की शिकायत लोग करते रहते थे. अब 62 हैं में टाटा द्वारा 11298 एलईडी लाइट लगाई गई है और ईईएसएल ने 7667 बल्ब लगाया है इस तरह कुल 18965 एलईडी लाइट से नोएडा के गांव दूधिया रोशनी में चमक रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा: ऊर्जा बचत करना देश की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है. बहुत बड़ी आबादी अभी भी देश की ऐसी है जहां बिजली की कमी रहती है. ऐसे में उत्तर प्रदेश के नोएडा और वहां के गांव ने ऐसा तरीका निकाला गया जिस से गांव तो रोशन होगा ही साथ ही ऊर्जा की बचत भी होगी.

    नोएडा प्राधिकरण के मुख्य महाप्रबंधक राजीव त्यागी ने गुरुवार को बताया कि नोएडा के ग्रामीण क्षेत्रों में अंधेरे को दूर करना बहुत जरूरी था, लूटपाट और अन्य स्ट्रीट क्राइम से जनता को बचाने के लिए भी और गांव सुन्दर दिखे इसलिए भी. एक बात जो अहम थी वह कि बिजली की बचत कैसे किया जाए? इसलिए हमने टाटा कंपनी और ईईएसएल के साथ मिलकर करारा किया था. करार के अनुसार सभी गांव जो नोएडा से सटे है उनके एलईडी लाइट लगाई जाए चाहे वो स्ट्रीट लाइट हो या कही सजावट के लिए लाइट लगाई गई हो. त्यागी ने बताया कि एलईडी लाइट की कुछ खासियत होती है जैसे पावर खपत बहुत कम होती इसीलिए एलईडी लगाई गई है.

    नोएडा के 62 गांव में लगाई गई है एलईडी लाइट
    राजीव त्यागी के अनुसार नोएडा के गांव में जब भी दौरा पर जाना होता था, लाइट की शिकायत लोग करते रहते थे. अब 62 हैं में टाटा द्वारा 11298 एलईडी लाइट लगाई गई है और ईईएसएल ने 7667 बल्ब लगाया है इस तरह कुल 18965 एलईडी लाइट से नोएडा के गांव दूधिया रोशनी में चमक रहे हैं. उन्होंने कहा कि कुछ जगह जहां अभी एलईडी नहीं लगाई गई है वहां पर भी जल्द ही लगा दिया जाएगा. इस से बिजली बचत लगभग 50 प्रतिशत से ऊपर होगी.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर