होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /दिल्ली-एनसीआर में भयावह हुई प्रदूषण की स्थिति, सुबह में ही 400 के पार हुआ AQI

दिल्ली-एनसीआर में भयावह हुई प्रदूषण की स्थिति, सुबह में ही 400 के पार हुआ AQI

दिल्ली में प्रदूषण का ग्राफ एक बार फिर से बढ़ गया है

दिल्ली में प्रदूषण का ग्राफ एक बार फिर से बढ़ गया है

Delhi-NCR Pollution: शुक्रवार की सुबह भी दिल्ली में प्रदूषण का ग्राफ काफी उंचा रहा. सुबह ते पांच बजे दिल्ली का एक्यूआई ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

दिल्ली और एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए ग्रैप-4 सिस्टम लागू कर दिया गया है
स्कूलों में 8 नवम्बर तक पूरी तरह आउटडोर एक्टिविटी बंद रहेगी
सुबह पांच बजे दिल्ली का एक्यूआई 455 तक दर्ज किया गया

नोएडा.  दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की वजह से हालात भयावह हो गए हैं. नोएडा और ग्रेटर नोएडा का भी कमोबेश यही हाल है. ऐसे में एहतियात के तौर पर नोएडा में जिला प्रशासन ने कक्षा 8 तक के स्कूल 8 नवम्बर तक बंद कर दिए हैं, वहीं प्रदूषण नियंत्रण के लिए दिल्ली-एनसीआर में ग्रैप-4 सिस्टम लागू कर दिया गया है.

सुबह भी चार सौ पार एक्यूआई

दिल्ली समेत एनसीआर में प्रदूषण का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है. शुक्रवार की सुबह पांच बजे दिल्ली का एक्यूआई 455 तक दर्ज किया गया जबकि नोएडा का 427 और ग्रेटर नोएडा का 444 एक्यूआई रिकॉर्ड किया गया. ऐसे में सुबह-सुबह नोएडा, दिल्ली, गाजियाबाद समेत पूरे एनसीआर पर सफेद चादर छायी रही.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्ली-एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर

ग्रैप-4 सिस्टम लागू, वर्क फ्रॉम होम की सलाह

दिल्ली और एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए ग्रैप-4 सिस्टम लागू कर दिया है. इसमें बीएस-6 वाहन के अलावा अन्य डीजल वाहन के संचालन पर रोक रहेगी. वहीं नर्सरी से कक्षा 8 तक नोएडा और ग्रेटर नोएडा के स्कूल बंद कर दिए गए हैं. जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर कक्षा 9 से कक्षा 12 तक के स्कूलों को ऑनलाइन क्लास की सलाह दी गई है, वहीं स्कूलों में 8 नवम्बर तक पूरी तरह आउटडोर एक्टिविटी बंद रहेगी. उधर वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने वर्क फ्रॉम होम की सलाह दी है.

सांस रोगियों के लिए बड़ा खतरा 

प्रदूषण आमजन के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक तो है ही, वही सांस रोगियों के लिए सबसे बड़ा खतरा है. अस्थमा और सीओपीडी मरीजों को अटैक का खतरा बढ़ गया है, वहीं एलर्जी की समस्या भी उभर कर आ गई है. इसके साथ ही बच्चों बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य पर भी संकट मंडरा रहा है, ऐसे में प्रदूषण से राहत देने के लिए वाटर स्प्रिंकलिंग, एंटी स्मॉग गन, मैकेनिकल स्वीपिंग कराई जा रही जा रही है. सरकारी प्रोजेक्ट, हाईवे के काम को छोड़कर प्राइवेट और बिल्डर प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गयी है.

शुक्रवार की सुबह 5 बजे का एक्यूआई
दिल्ली -455
फरीदाबाद-418
गुरुग्राम- 450
नोएडा-433
ग्रेटर नोएडा-444
गाजियाबाद-421

Tags: AQI, Delhi news, Delhi pollution, Delhi-NCR Pollution

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें