नोएडा में अवैध रूप से रह रहे 4 बांग्लादेशी गिरफ्तार

सिपाही ने जब पूछा कि वे पासपोर्ट क्यों बनवाना चाहते हैं तो रहीमा के मुंह से निकल गया कि उनके रिश्तेदार बांग्लादेश में रहते हैं. उनसे मिलने के लिए पासपोर्ट बनवा रहे हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 10, 2018, 11:37 AM IST
नोएडा में अवैध रूप से रह रहे 4 बांग्लादेशी गिरफ्तार
बांग्लादेशी परिवार
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 10, 2018, 11:37 AM IST
नोएडा में पिछले 8- 10 साल से छिपकर रहे बांग्लादेशी परिवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इन लोगों ने फर्जी तरीके से वोटर कार्ड, आधार कार्ड और पैन कार्ड भी बनवा लिए थे. अब वे पासपोर्ट बनवाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वेरिफिकेशन के दौरान पुलिस की पकड़ में आ गए. पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी की सूचना विदेश मंत्रालय को दे दी है. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है.

सीओ- 2 राजीव कुमार ने बताया कि फेज-3 पुलिस के पास छिजारसी कॉलोनी में रहने वाली रहीमा और उसके बेटे मोहम्मद रुबैल के पासपोर्ट वेरिफिकेशन का प्रार्थना पत्र पहुंचा था. इसकी जांच के लिए छिजारसी चौकी के पास भेज दिया गया. जांच के दौरान रहीमा ने बताया कि वे यहां किराये पर रहते हैं. उन्होंने अपनी नागरिकता के सबूत के लिए वोटर कार्ड, पैन कार्ड और आधार कार्ड दिखाए.

सिपाही ने जब पूछा कि वे पासपोर्ट क्यों बनवाना चाहते हैं तो रहीमा के मुंह से निकल गया कि उनके रिश्तेदार बांग्लादेश में रहते हैं. उनसे मिलने के लिए पासपोर्ट बनवा रहे हैं. बांग्लादेश का नाम सुनते ही सिपाही को शक हुआ. वह रिपोर्ट लगाने की बात कहकर चौकी पर लौटा और इंचार्ज को पूरी बात बताई. अगले दिन इंचार्ज के नेतृत्व में पूरी टीम फिर रहीमा के घर पहुंची. वहां पर उनसे स्थायी पता पूछा गया. उन्होंने माल्दा पश्चिम बंगाल का पता बताया. जब वहां के गांव और थाने के बारे में जानकारी मांगी गई तो वे लोग कुछ नहीं बता पाए.

पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने कबूल कर लिया कि वे बांग्लादेश की राजधानी ढाका के खुलना गांव के रहने वाले हैं. करीब 10 साल पहले बॉर्डर पार कर कोलकाता होते हुए नोएडा आए और फिर यहीं बस गए. उन्होंने एक गैस एजेंसी की मदद से वोटर कार्ड, पैन कार्ड और आधार कार्ड भी बनवा लिए थे. इस मामले में कागजात बनवाने में मदद करने वाले लोगों और गैस एजेंसी संचालक की भूमिका की जांच की जा रही है.

(रिपोर्ट: कुणाल)

ये भी पढे़ं:

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में रैगिंग, बीटेक के 5 छात्र किए गए निलंबित

मथुरा के इस थाने में रिश्वत के बिना कोई काम नहीं होता, धरने पर बैठे BJP विधायक

महराजगंज: प्रॉपर्टी विवाद में पिता-पुत्र की चाकू मारकर हत्या
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर