Home /News /uttar-pradesh /

cctv and three types of high tech cameras are installing on 84 traffic spot in noida for traffic and security purposes dlnh

नोएडा के 84 चौराहे, यूटर्न और ट्रैफिक स्पॉट पर नहीं होगी पुलिस, जानें वजह

नोएडा की सड़कों पर चलते हुए शहर में लगने वाले ट्रैफिक जाम और रूट डायवर्जन की जानकारी इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से मिल जाएगी. इसके लिए नोएडा अथॉरिटी करीब 88 करोड़ रुपये खर्च कर रही है. Demo Pic

नोएडा की सड़कों पर चलते हुए शहर में लगने वाले ट्रैफिक जाम और रूट डायवर्जन की जानकारी इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम से मिल जाएगी. इसके लिए नोएडा अथॉरिटी करीब 88 करोड़ रुपये खर्च कर रही है. Demo Pic

नोएडा (Noida) की सड़कों पर चलते हुए शहर में लगने वाले ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) और रूट डायवर्जन की जानकारी इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (ITMS) से मिल जाएगी. इसके लिए नोएडा अथॉरिटी करीब 88 करोड़ रुपये खर्च कर रही है. नोएडा में 22 जगहों पर वैरिएबल मैसेज साइन बोर्ड लगाए जा रहे हैं. बोर्ड की खासियत यह है कि रास्ता बताने के साथ ही यह आपको शहर के ट्रैफिक की जानकारी भी देते रहेंगे. यह सब शहर में लग रहे सीसीटीवी (CCTV) समेत चार तरह के खास कैमरों के चलते होगा.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. जल्द ही रेड लाइट (Red Light), यूटर्न और दूसरे ट्रैफिक स्पॉट पर पुलिस नजर नहीं आएगी. बिना ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) के चौराहे और यूटर्न संचालित होंगे. यूपी के नोएडा (Noida) में पहली बार यह प्रयोग शुरू होने जा रहा है. इंटेलीजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (ITMS) के तहत नोएडा का ट्रैफिक सिस्टम बदलने की कवायद शुरू हो गई है. योजना के मुताबिक शहर में सीसीटीवी (CCTV) समेत चार तरह के खास कैमरे लगाए गए हैं. शुरुआत शहर के 20 चौराहों से हो रही है. खास बात यह है कि रेड लाइट पर वाहनों की भीड़ के हिसाब से लाइट की टाइमिंग ऑटोमैटिक तरीके से खुद ही सेट हो जाएगी.

    ऐसे काम करेंगे वो तीन खास तरह के कैमरे

    RLVD कैमरा

    रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन कैमरा उन लोगों पर निगाह रखता है जो रेड लाइट जंप करते हैं. यह कैमरा ऐसे लोगों की इमेज कैप्चर करके वाहन के नंबर के आधार पर खुद ही चालान काट देता है.

    ANPR कैमरा

    यह नंबर प्लेट रिकॉग्निशन कैमरा होता है. नोएडा अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक शहर के करीब 693 पाइंट पर यह कैमरे लगाए जाएंगे. इस कैमरे की खासियत यह है कि यह खुद से वाहनों की नंबर प्लेट पढ़कर चालान काट देता है. इतना ही नहीं कमांड कंट्रोल रूम में बैठे पुलिसकर्मी भी इस कैमरे की मदद से सड़क पर नज़र रख सकते हैं और रूल तोड़ने वाले का चालान काट सकते हैं.

    यूपी में अब तीन गुना हो जाएगा अंडे और चिकन का उत्पादन, जानें प्लान

    Surveillance कैमरा

    सर्विलांस कैमरा खासतौर पर पुलिस की मदद के लिए लगाया जाएगा. शहर के करीब 354 पाइंट पर लगा यह कैमरा वाहनों पर चलने वाले लोगों के चेहरों पर फोकस करेगा. यह कैमरा बेहद नजदीक से इंसान के चेहरे को फोसक करता है. इस कैमरे से पुलिस बदमाशों को आसानी से पहचान और पकड़ सकेगी.

    अपनी टाइमिंग खुद सैट करेगी ग्रीन लाइट

    आईटीएमएस के तहत एडेप्टिव ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम बेहद खास माना जाता है. इसकी खासियत यह है कि ट्रैफिक लाइट पर वाहनों की संख्या ज़्यादा होने पर ग्रीन लाइट का वक्त खुद से ही बढ़ जाएगा. जिससे ज़्यादा से ज़्यादा वाहनों को निकलने का मौका मिल सके. अगर थोड़ी देर बाद वाहनों की संख्या कम हो जाएगी तो ग्रीन लाइट फिर से अपना टाइम बदल लेगी. शुरुआत में नोएडा के करीब के 40 हैवी ट्रैफिक वाली रेड लाइट पर यह सिस्टम लगाया जाएगा.

    सड़क पर चलते हुए ऐसे मिलेगी ट्रैफिक की जानकारी

    आईटीएमएस के तहत नोएडा में 22 जगहों पर वैरिएबल मैसेज साइनबोर्ड लगाने की भी योजना है. इन बोर्ड की खासियत यह है कि रास्ता बताने के साथ ही यह आपको शहर के ट्रैफिक की भी जानकारी देते रहेंगे जिससे आप कहीं भी ट्रैफिक जाम में न फंसे. जैसे अगर कहीं जाम लगा है, ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया है या फिर कोहरे के चलते रास्ता साफ नहीं है तो इसकी सूचना इस बोर्ड पर मिल जाएगी.

    Tags: CCTV camera footage, Noida news, Traffic Police

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर