Noida news

नोएडा

अपना जिला चुनें

Noida News: हाईराइज सोसाइटी में रहने वालों ने बिजली विभाग पर लगाए गंभीर आरोप, जानें क्‍या है मामला

Noida News: हाईराइज सोसाइटी में रहने वालों ने बिजली विभाग पर लगाए गंभीर आरोप, जानें क्‍या है मामला

मल्टीपाइंट बिजली कनेक्शन को लेकर हाईराइज सोसाइटियों ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं. (सांकेतिक फोटो)

स्‍थानीय लोगों का कहना है कि गौतमबुद्ध नगर में जो बिजली सर्विस (Electricity Service) दूसरे लोगों को फ्री दी जा रही है, उसके लिए हम लोगों से फीस मांगी जा रही है. क्या हाईराइज सोसाइटियां गौतमबुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) में नहीं आती हैं?

SHARE THIS:
नोएडा. बिजली विभाग (Electricity Department) और बिल्डर्स के खिलाफ नोएडा और ग्रेटर नोएडा में रहने वाले लोगों ने गंभीर आरोप लगाए हैं. खासतौर से हाईराइज सोसाइटियों में रहने वालों का आरोप है कि बिजली सर्विस (Electricity Service) के नाम पर उनके साथ सौतेला बर्ताव किया जा रहा है. एक ही काम के दोबारा से पैसे मांगे जा रहे हैं. गौतमबुद्ध नगर में जो सर्विस दूसरे लोगों को फ्री दी जा रही है, उसके लिए हम लोगों से फीस मांगी जा रही है. क्या हाईराइज सोसाइटियां गौतमबुद्ध नगर (Gautam Budh Nagar) में नहीं आती हैं?

हाल ही में हाईराइज सोसाइटियों में बिजली की परेशानी को लेकर एक वेबिनार आयोजित की गई थी. इस वेबिनार में नोएडा और ग्रेटर नोएडा के करीब 250 से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया. वेबिनार में आरोप लगाए गए कि आज मल्टीपाइंट कनेक्शन के लिए यूपी सरकार का बिजली विभग 20700 रुपये मांग रहा है. यह फीस जमा करने के बाद ही हर एक फ्लैट मालिक को अलग से कनेक्शन दिया जाए.

सवाल यह है कि फ्लैट का कब्जा लेने के दौरान ही कनेक्शन के लिए बिल्डर्स को 50 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक दिए गए थे. अगर हम विभाग को 20700 रुपये देते हैं तो क्या पहले से जमा हमारे रुपये वापस कराए जाएंगे? क्या बिल्डर्स ने बिजली के नाम पर जो वसूली की है उसका सरकार ऑडिट कराएगी?

Noida में इस दिवाली 110 करोड़ से बन रहे बस टर्मिनल से मिलेगा सफर का मौका

उपभोक्‍ताओं ने बताया कि बिजली विभाग का कहना है कि पहले से लगे मीटर भी बदले जाएंगे. मीटर के लिए विभाग 15 हजार मांग रहा है. जबकि उसी क्वालिटी के मीटर जो 3 से 4 हजार रुपये की कीमत के हैं जो हमारे यहां पहले से ही लगे हुए हैं.



तार और ट्रांसफार्मर का पैसा भी हम दें?
वेबिनार के दौरान एक आरोप यह भी लगा कि इसी गौतमबुद्ध नगर के तमाम सेक्टर में बिजली के तार बिछाने और ट्रांसफार्मर लगाने का काम किया गया है. यह सभी बिजली विभाग ने अपनी तरफ से किया है, लेकिन जब हाईराइज सोसाइटियों की बात आती है तो विभाग तार और ट्रांसफार्मर का पैसा मांगता है. यह सौतेला बर्ताव हम लोगों के साथ क्यों. क्या हम गौतमबुद्ध नगर के रहने वाले नहीं हैं?

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

ई-नीलामी में नोएडा के डीएम सुहास के बैडमिंटन रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये पहुंची

ई-नीलामी में नोएडा के डीएम सुहास के बैडमिंटन रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये पहुंची

e-auction : केंद्र सरकार की वेबसाइट पीएम मेमेंटोज पर चल रही ई-नीलामी में गौतमबुद्ध नगर के डीएम सुहास यतिराज का वह बैडमिंटन रैकेट भी है, जिससे उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में सिल्वर मेडल जीता था. फिलहाल इस रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये हो चुकी है. इससे हुई आय का उपयोग नमामि गंगे प्रोजेक्ट में होगा.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 17, 2021, 16:50 IST
SHARE THIS:

हिमांशु शुक्ला

नोएडा. गौतमबुद्ध नगर के DM सुहास यतिराज ने जिस बैडमिंटन रैकेट से टोक्यो पैरालंपिक 2020 में इतिहास रचा, उसे ई-ऑक्शन में रखा गया है. यह ई-ऑक्शन केंद्र सरकार करा रही है. डीएम सुहास के इस रैकेट पर अब तक 4 बिडर्स ने बोली लगाई है. आज यानी 17 सितंबर से शुरू हुए इस ई-ऑक्शन में रैकेट की बेस प्राइस 50 लाख रुपये रखी गई थी, जो अब 10 करोड़ रुपये हो चुकी है. इसी बैडमिंटन रैकेट से डीएम सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल जीता था. 7 अक्टूबर की शाम 5 बजे तक ई-ऑक्शन की खुला है, जो भी चाहे वह बोली लगा सकता है.

बोली लगाने के लिए आपको वेबसाइट पीएम मेमेंटोज पर जाना होगा. यहां आपको नीरज चोपड़ा के उस जेबलिन की बोली लगते हुए भी दिख जाएगी जिससे नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड मेडल जीता था. इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी को अलग-अलग अवसरों पर मिले गिफ्ट आइटमों की भी ई-नीलामी में शामिल होने का अवसर केंद्र सरकार की इस वेबसाइट पर मिलेगा. संस्कृति मंत्रालय की ओर से आयोजित इस ई-ऑक्शन से आए पैसों का इस्तेमाल नमामि गंगे में किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें : Tokyo Paralympics में नोएडा के डीएम सुहास यतिराज ने सिल्वर जीतकर रचा था इतिहास

जाने सुहास यतिराज को

टोक्यो पैरालंपिक 2020 के एसएल4 क्लास फाइनल में सुहास यतिराज फ्रांस के लुकास माजूर से हारकर गोल्ड मेडल से चूक गए थे. माजूर ने सुहास को 15-21, 21-17, 21-15 से हराया था. टोक्यो पैरालंपिक में बैडमिंटन में यह भारत का तीसरा पदक है. गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) के 38 वर्षीय जिलाधिकारी (डीएम) सुहास पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी हैं. कर्नाटक के 38 वर्ष के सुहास के टखनों में विकार है. कोर्ट के भीतर और बाहर कई उपलब्धियां हासिल कर चुके सुहास कम्प्यूटर इंजीनियर है और 2007 बैच के आईएसएस अधिकारी भी. वह 2020 से नोएडा के जिलाधिकारी हैं.

UP Elections : कांग्रेस ने स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया, जितेंद्र सिंह अध्यक्ष बनाए गए

UP Elections : कांग्रेस ने स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया, जितेंद्र सिंह अध्यक्ष बनाए गए

कांग्रेस मुख्‍यालय के मुताबिक, चुनाव लड़ने के इच्छुक पार्टी कार्यकर्ताओं से आवेदन मांगे हैं. कांग्रेस की प्रदेश इकाई के प्रवक्‍ता उमाशंकर पांडेय ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि चुनाव लड़ने के इच्छुक कार्यकर्ता अपना आवेदन प्रदेश या जिला मुख्यालय पर 26 सितंबर, 2021 तक जमा कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 17, 2021, 16:40 IST
SHARE THIS:

नोएडा. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर तमाम पार्टियों की गतिविधियां बढ़ चुकी हैं. शुक्रवार को कांग्रेस ने भी यूपी चुनाव के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन कर दिया गया है. कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में इस बात की जानकारी दी गई है.

केसी वेणुगोपाल ने बताया कि कांग्रेस ने आनेवाले यूपी चुनावों के लिए स्क्रीनिंग कमेटी का गठन किया जिसमें जितेंद्र सिंह अध्यक्ष, दीपेंद्र एस हुड्डा और वर्षा गायकवाड़ सदस्य के रूप में हैं. इनके अलावा महासचिव प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा, पार्टी के यूपी प्रमुख अजय लल्लू, सीएलपी नेता आराधना मिश्रा मोना पदेन सदस्य होंगे.

इस बीच, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी यूपी में लगातार सक्रिय हैं और दौरा कर रही हैं. इस दौरान वे अपने पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल भी बढ़ा रही हैं और पार्टी के भीतर चुनावी माहौल तैयार कर रही हैं. प्रियंका गांधी ने अपने दौरों में संगठन निर्माण पर जोर दिया है.

UP Assembly Elections यूपी विधानसभा चुनाव, Congress Party कांग्रेस पार्टी, Screening Committee स्क्रीनिंग कमेटी, General Secretary KC Venugopal महासचिव केसी वेणुगोपाल, Priyanka Gandhi प्रियंका गांधी, Deependra S Hooda दीपेंद्र एस हुड्डा, Varsha Gaikwad वर्षा गायकवाड़, UP Chief Ajay Lallu यूपी प्रमुख अजय लल्लू, Aradhana Mishra Mona आराधना मिश्रा मोना, Congress politics कांग्रेस की राजनीति, electoral strategy चुनावी रणनीति

स्क्रीनिंग कमिटी की घोषणा.

कांग्रेस मुख्‍यालय के मुताबिक, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव, 2022 की तैयारियों में जुटी कांग्रेस ने चुनाव लड़ने के इच्छुक पार्टी कार्यकर्ताओं से आवेदन मांगे हैं. कांग्रेस की प्रदेश इकाई के प्रवक्‍ता उमाशंकर पांडेय ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है कि चुनाव लड़ने के इच्छुक कार्यकर्ता अपना आवेदन प्रदेश या जिला मुख्यालय पर 26 सितंबर, 2021 तक जमा कर सकते हैं. प्रियंका गांधी ने एक समीक्षा बैठक में कहा था कि टिकट बंटवारे में संगठन और पदाधिकारियों की राय महत्‍वपूर्ण होगी. उन्होंने कहा कि सिर्फ कांग्रेस के लिए ही नहीं वरन राष्ट्र निर्माण के लिए भी एक मजबूत संगठन की जरूरत है.

UP News Live Updates: ग्रेटर नोएडा में फर्जी निकला छात्रा का अपहरण, प्रेमी संग हुई थी फरार

UP News Live Updates: ग्रेटर नोएडा में फर्जी निकला छात्रा का अपहरण, प्रेमी संग हुई थी फरार

Uttar Pradesh News Live: उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट को घटना का जल्‍दी खुलासा करने के लिए 1 लाख रुपये का ईनाम देने की घोषण की है.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 17, 2021, 14:26 IST
SHARE THIS:

UP News Live Updates 17 September 2021: यूपी के ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) पर निकली छात्रा के अपहरण की कहानी फर्जी निकली (Fake Kidnapping Story) है. दरअसल छात्रा के अपहरण की कहानी परिवारजनों ने ही रची थी, क्‍योंकि वह एक दिन पहले प्रेमी के साथ घर से फरार हो गई थी. वहीं, परिवार ने अपनी इज्जत बचाने के चक्कर में अपहरण की साजिश रच डाली. यही नहीं, उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट को घटना का जल्‍दी खुलासा करने के लिए 1 लाख रुपये का ईनाम देने की घोषण की है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ज्यादातर इलाकों में हो रही मूसलाधार बारिश (Incessant Rain) ने आम जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. शुक्रवार सुबह से प्रदेश के कई जिलों में तेज बारिश का सिलसिला जारी है. सूत्रों के मुताबिक अलग-अलग जगहों पर मकान ढहने और दीवार गिरने की वजह से अब तक 22 लोगों की जान जा चुकी हैं, जबकि कई घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है. फिलहाल सरकार की तरफ से कोई अधिकारिक आंकड़ा सामने नहीं आया है.

यूपी में भारी बारिश को देखते हुए योगी सरकार ने दो दिन यानी की 17 और 18 सितंबर को प्रदेश के सभी स्कूल-कॉलेज को बंद रखने का ऐलान कर दिया है. वहीं समाजवादी पार्टी ने कहा, उत्तर प्रदेश में भारी बारिश के चलते 50 लोगों की मृत्यु, हृदय विदारक घटना! मृतकों की आत्माओं को शांति दे भगवान. शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना. पीड़ित परिवारों को उचित मुआवज़ा प्रदान करे सरकार.

कई जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट
विभाग की ओर से कई जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है. बारिश के साथ साथ 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा के तेज झोंके भी चलेंगे. जिन जिलों में बारिश जारी रहेगी, वह जिले हैं- अमेठी, अयोध्या, बाराबंकी, बहराइच, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, कन्नौज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर और नोएडा.

OMG! फर्जी निकला 20 साल की छात्रा का अपहरण, इज्जत बचाने के लिए परिवार ने रची कहानी, युवती प्रेमी संग हुई थी फरार

OMG! फर्जी निकला 20 साल की छात्रा का अपहरण, इज्जत बचाने के लिए परिवार ने रची कहानी, युवती प्रेमी संग हुई थी फरार

UP Crime News: यूपी के गौतम बुद्ध नगर के ग्रेटर नोएडा में गुरुवार को 20 साल की छात्रा के अपहरण (Kidnapping) से हड़कंप मच गया था. परिवार के मुताबिक, 20 साल की ज्‍योति अपने तीन छोटे भाई-बहनों के साथ मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) निकली थी. इसी दौरान वैन में सवार लोगों ने उसका अपहरण कर लिया. हालांकि ग्रेटर नोएडा पुलिस (Greater Noida Police) ने इस मामले का 24 घंटे में खुलासा करते हुए परिवार की फर्जी अपहरण की कहानी की पोल खोल दी है.

SHARE THIS:

हिमांशु शुक्‍ला

ग्रेटर नोएडा. यूपी के ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) पर निकली छात्रा के अपहरण की कहानी फर्जी निकली (Fake Kidnapping Story) है. दरअसल छात्रा के अपहरण की कहानी परिवारजनों ने ही रची थी, क्‍योंकि वह एक दिन पहले प्रेमी के साथ घर से फरार हो गई थी. वहीं, परिवार ने अपनी इज्जत बचाने के चक्कर में अपहरण की साजिश रच डाली. यही नहीं, ग्रेटर नोएडा पुलिस (Greater Noida Police) ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए छात्रा को उसके प्रेमी के साथ यूपी के गोंडा के जानकी नगर से बरामद कर लिया है. यही नहीं, उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट को घटना का जल्‍दी खुलासा करने के लिए 1 लाख रुपये का ईनाम देने की घोषण की है.

बता दें कि परिजनों ने गुरुवार को आरोप लगाया था कि पहले तो छात्रा के साथ छेड़छाड़ की गई और फिर बदमाश उसको कार में डालकर ले गए. यही नहीं, जब तक लड़की के साथ मॉर्निंग वॉक पर गए भाई-बहनों ने शोर मचाया, तब तक बदमाश गाड़ी लेकर फरार हो चुके थे. लड़की अपने तीन भाई-बहनों के साथ वॉक पर निकली थी. इस घटना के बाद लोगों ने नेशनल हाइवे 91 (National Highway) जाम कर दिया था.

24 घंटे में खोला मामला
ग्रेटर नोएडा में अपहरण (Kidnapping) का मामला सामने के साथ इलाके में सनसनी फैल गई थी. जबकि पुलिस ने इस मामले की जांच करने के लिए 5 टीम का गठन किया था. हालांकि इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस हैरान है, क्‍योंकि परिवार के द्वारा झूठी कहानी बनाई गई ताकि समाज में इज्जत बनी रहे. यही नहीं, इस घटना को सही साबित करने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के बाद थाने का भी घेराव किया गया था, लेकिन मामले का खुलासा होने से परिवार बेनकाब हो गया है. 24 घंटे के भीतर अपहरण के मामले को पुलिस ने खोल दिया है.

नितिन गडकरी ने जेवर एयरपोर्ट को दी 2100 करोड़ की सौगात, Delhi-NCR को चमकाने के लिए उठाया ये कदम

क्या थी झूठी कहानी?
ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को सुबह 5 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकली छात्रा के अपहरण की बात सामने आई. अपहरणकर्ता छात्रा को कार में बैठा कर फरार हो गए. शुरू में परिवार द्वारा बताया गया कि अपहरणकर्ता छात्रा अपनी एक बहन और दो भाइयों के साथ मॉर्निंग पर निकली थी, लेकिन वापस नहीं पहुंची. शुरुआत से ही पुलिस को भ्रमित किया गया. पुलिस भी प्रेशर में आकर जांच अपहरण की दिशा में जांच करने लगी, लेकिन पूछताछ में मामला स्पष्ट नहीं होने पर पुलिस अन्य एंगल पर भी जांच कर रही थी. जिसके लिए डीसीपी ने 5 टीमें भी गठित की थीं. परिवार ने पुलिस पर जबरन प्रेशर बनाने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के साथ थाने का घेराव भी किया था. हालांकि अपहरण शुरू से संदेह के घेरे में था, क्योंकि जब युवती स्‍वाति के परिवार से पुलिस ने पूछताछ की तो कोई भी सदस्य स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया था. इसके अलावा पुलिस के मुताबिक, सुबह 4.30 बजे कंट्रोल रूम को इस मामले की जानकारी दी गयी थी. जबकि पीड़ित परिजनों ने कहा था कि अपहरण सुबह 6 बजे के आसपास हुआ है.

Encounter in Noida: नोएडा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, कैब ड्राइवरों को लूटने वाले 4 बदमाश गिरफ्तार

Encounter in Noida: नोएडा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, कैब ड्राइवरों को लूटने वाले 4 बदमाश गिरफ्तार

Noida Crime News: उत्‍तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के ईकोटेक 3 थाना पुलिस (Ecotech 3 Station Police) ने एक मुठभेड़ में ओला और उबेर टैक्सी (Ola and Uber Cab) को बुक करके उनके ड्राइवर से लूटपाट करने वाले चार बदमाशों (Miscreants) को मुठभेड़ के बाद दबोच लिया है. हालांकि इस दौरान एक बदमाश फरार होने में सफल रहा.

SHARE THIS:

नोएडा. यूपी के गौतमबुद्ध नगर के ईकोटेक 3 थाना पुलिस (Ecotech 3 Station Police) ने एक मुठभेड़ के बाद 4 बदमाशों (Miscreants) को गिरफ्तार किया है. हालांकि इस दौरान एक बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया. पुलिस के मुताबिक, ये गैंग ओला और उबेर टैक्सी (Ola and Uber Cab) को बुक कराकर उनके ड्राइवर से लूटपाट की एक दर्जन से ज्यादा वारदातों को अंजाम दे चुका है.

दरअसल बीती रात ईकोटेक 3 थाना पुलिस ने खेड़ा चौगानपुर पर चेकिंग पॉइंट लगाया हुआ था. उसी दौरान दो बाइक पर सवार पांच बदमाश वहां से निकले, जिन्हें पुलिस ने रुकने का इशारा किया गया. वहीं, उन्होंने रुकने के बजाय पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी. जबकि पुलिस की जवाबी फायरिंग में 4 बदमाशों के पैर में गोली लगी और सभी घायल होकर पुलिस के हाथ लग गए. हालांकि एक बदमाश मौके से फरार हो गया. पुलिस ने इन आरोपियों के कब्जे से तीन अवैध तमंचे, छह जिंदा कारतूस, दो बाइक और 6 मोबाइल भी बरामद किए हैं.

ऐसे करते थे लूटपाट
इस गैंग ने 28 अगस्त को उबेर कैब बुक करके उसके चालक को चाकू मारकर लूटपाट की थी. पुलिस के मुताबिक, यह सभी सवारी बनकर ओला उबर टैक्सियों को बुक करते थे और उसके बाद ड्राइवरों के साथ लूटपाट करते थे.

नितिन गडकरी ने जेवर एयरपोर्ट को दी 2100 करोड़ की सौगात, Delhi-NCR को चमकाने के लिए उठाया ये कदम

अब तक ये गैंग इस तरह की लूटपाट की एक दर्जन वारदातों को अंजाम दे चुका है. इन बदमाशों के नाम रिंकू, अमित, सोनवीर और सचिन हैं. जबकि यह सभी यूपी के गाजियाबाद के रहने वाले हैं.

नितिन गडकरी ने जेवर एयरपोर्ट को दी 2100 करोड़ की सौगात, Delhi-NCR को चमकाने के लिए उठाया ये कदम

नितिन गडकरी ने जेवर एयरपोर्ट को दी 2100 करोड़ की सौगात, Delhi-NCR को चमकाने के लिए उठाया ये कदम

Jewar International Airport: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को एक बड़ी सौगात देते हुए इसे दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे (Delhi-Mumbai Expressway) से जोड़ने का ऐलान किया है. इस पर 2100 करोड़ रुपये की लागत आएगी. इसके अलावा दिल्‍ली-एनसीआर (Delhi-NCR) को लेकर भी 53,000 करोड़ की योजनाएं चल रही हैं.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 17, 2021, 06:59 IST
SHARE THIS:

ग्रेटर नोएडा. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने उत्‍तर प्रदेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्‍ट जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jewar International Airport) को एक बड़ी सौगात दी है. केंद्रीय मंत्री ने हरियाणा के गुरुग्राम जिले के सोहना में कहा कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे (Delhi-Mumbai Expressway) से जोड़ा जाएगा. इसके साथ उन्‍होंने कहा कि करीब 2,100 करोड़ रुपये की लागत से 31 किलोमीटर 6 लेन ग्रीनफील्ड मार्ग जेवर एयरपोर्ट के लिए बना रहे हैं.

इसके अलावा नितिन गडकरी ने कहा कि हमने ईस्टर्न पेरीफेरल रोड़ बनाकर दिल्ली में प्रदूषण कम किया है. इसे और कम करने के लिए दिल्ली-एनसीआर में हम करीब 53,000 करोड़ रुपये की 15 योजनाएं लाए हैं और 14 पर काम शुरू हो गया. दिल्ली के लोगों को ट्रैफिक और प्रदूषण से राहत मिलेगी. बता दें कि आठ लेन का दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात से होकर गुजरेगा.

वहीं, नितिन गडकरी ने कहा कि हरियाणा में 6 जगहों पर सड़क किनारे जन-सुविधाएं मिलेंगी जिससे स्थानीय उत्पादकों को प्राथमिकता दी जाएगी. इसमें हेलीकॉप्टर एंबुलेंस की सेवाएं भी दी जाएंगी. हम इसमें ड्रोन का उपयोग भी करेंगे जो उद्योग और व्यवसाय के लिए उपयोगी होगा. गडकरी ने कहा कि एक्सप्रेस-वे पर वाहनों की न्यूनतम गति सीमा 100 किलोमीटर प्रति घंटा होगी. सड़क मंत्रालय इसे बढ़ाकर 120 किलोमीटर प्रति घंटा करने पर विचार कर रहा है. दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के मार्च 2023 तक पूरा होने की संभावना है. इसे भारतमाला परियोजना के पहले चरण के हिस्से के रूप में बनाया जा रहा है.

जेवर एयरपोर्ट का काम शुरू
बता दें कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पहले चरण का काम शुरू हो चुका है. पहले चरण में जमीन को समतल करने और बाउंड्रीवाल बनाने का काम होना है. इस बीच जेवर के रोही गांव में 70 साल पुरानी और 20 फीट ऊंची हनुमानजी की मूर्ति को धार्मिक रीति-रिवाज से हटा दिया गया. गौरतलब रहे साल 2024 तक जेवर एयरपोर्ट से पहली हवाई उड़ान सेवा शुरू हो जाएगी. वैसे पहले चरण में 1334 हेक्टेयर जमीन पर जेवर एयरपोर्ट का निर्माण होगा. कुल 30 हजार करोड़ रुपए एयरपोर्ट पर लागत आएगी. पहले चरण में 9 हजार करोड़ से निर्माण कार्य किया जाएगा. जेवर एयरपोर्ट की क्षमता की बात करें तो पहले वर्ष से 1.2 करोड़ यात्रियों की क्षमता से लैस होगा जेवर एयरपोर्ट और अपने आखिरी चरण यानी चौथे चरण में 7 करोड़ की क्षमता से लैस हो जाएगा.

Weather Update: Delhi-NCR में आज भी होगी मूसलाधार बारिश, IMD ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

जेवर एयरपोर्ट पर मिलेगा न्यूयॉर्क जैसा फील
यही नहीं, जेवर एयरपोर्ट वर्ल्ड क्लास हो इसके लिए तमाम तैयारियां की जा रही हैं. इसके लिए बेहतर कनेक्टिविटी से लेकर मनोरंजन साधनों तक का खास ध्यान रखा जायेगा. यहां सफर करने वालों को हांगकांग और न्यूयॉर्क जैसा फील हो इस पर जार दिया जा रहा है. उम्मीद है नवरात्रि में इसके भूमिपूजन का कार्य हो जाएगा.

Noida news Bulletin: नोएडा सेक्टर 18 में बिजली के खुले पैनल से लोग परेशान, बिजली विभाग को की शिकायत.

Noida news Bulletin: नोएडा सेक्टर 18 में बिजली के खुले पैनल से लोग परेशान, बिजली विभाग को की शिकायत.

सेक्टर 18 मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील कुमार जैन ने बताया कि हमने इस मामले में बिजली विभाग को शिकायत की है.

SHARE THIS:

1. नोएडा के सेक्टर 18 में बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से लोग परेशान है. पूरे सेक्टर में बिजली सप्लाई की जाने वाले पैनल खुले हुए हैं. लोगों का कहना है कि यह वहां रहने वाले लोगों के लिए जान को खतरा है. सेक्टर 18 मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील कुमार जैन ने बताया कि हमने इस मामले में बिजली विभाग को शिकायत की है, उस क्षेत्र में हजारों दुकानें है बिजली विभाग की लापरवाही के कारण हम सबको कभी भी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है.

2.  ग्रेटर नोएडा बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार की सुबह एक युवती का अपहरण कर लिया गया. डीसीपी ग्रेटर नोएडा हरीश चंद्र ने बताया कि गुरुवार की सुबह कंट्रोल रूम में सूचना मिली थी कि एक 20 वर्षीय युवती का अपहरण कर लिया गया है. मामले की जानकारी के बाद पांच टीमों को जांच में लगाया गया है जल्द ही युवती को खोज लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि युवती अपनी दो भाई और दो बहनों के साथ घूमने निकली थी.

3. नोएडा में गुरुवार को हुई बारिश ने कई जगह पर जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई. जिस से कई जगहों पर ट्रैफिक जाम रहा. कई सेक्टरों में बिजली की कटौती के कारण लोग खासा परेशान रहे.
(रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

UP Flood: पहली बार नहीं डूब रहा Lucknow, 1960 की बाढ़ ने बढ़ा दी थी सबकी धड़कन

UP Flood: पहली बार नहीं डूब रहा Lucknow, 1960 की बाढ़ ने बढ़ा दी थी सबकी धड़कन

flood in Lucknow : 1960 की बाढ़ में पुराना लखनऊ, हजरतगंज, कैसरबाग, इमामबाड़ा, विश्वविद्यालय, हुसैनाबाद, नक्खास सब डूब चुके थे. बाढ़ के पानी से बचने के लिए छत पर चढ़े लोगों की मदद में रात करीब 2 बजे सरकारी नाव चलती दिखाई पड़ी थी.

SHARE THIS:

नोएडा. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और आसपास के जिलों में बुधवार से हो रही लगातार बारिश ने लखनऊ में तबाही ला दी है. गुरुवार सुबह 8:30 बजे से लेकर शाम को 5:30 बजे तक 115 मिलीमीटर बारिश लखनऊ में दर्ज की गई है. लखनऊ की सड़कों पर पानी बुरी तरह भर चुका है. लबालब भरे गड्ढे में डूबने से दो बच्चों की मौत हो गई है. ये बच्चे सुबह 11 बजे से घर से गायब थे. काफी देर तक घर न लौटने पर परिजनों ने बच्चों की तलाश शुरू की. पुलिस की मदद से मिले बच्चों के शव. यह हादसा मड़ियांव थाना क्षेत्र के मोहिबुल्लापुर स्टेशन के पास का है. लखनऊ में हो रही झमाझम बरसात और सड़कों पर बाढ़ की स्थिति ने यहां के लोगों को 1960 की याद दिला दी. लखनऊ में रहने वाले बूढ़े-बुजुर्ग 1960 की बाढ़ को याद कर रहे हैं.

वेबसाइट पर चल रही इस चर्चा में काले बाबा के नाम से मशहूर योगेश प्रवीण बताते हैं कि 1960 वे तकरीबन 15 साल के थे. वे बताते हैं कि लखनऊ में सबसे पहली बाढ़ 1923 में आई थी, लेकिन 1960 की बाढ़ ज्यादा भयानक थी. वे बताते हैं कि तब वे जामा मस्जि‍द के पास की गली में रहते थे. जुलाई के आखिरी हफ्ते में बारिश जो शुरू हुई तो अगले कई दिनों तक होती रही. उस दिन शाम के 7 बजे होंगे तभी देखा कि बहुत तेजी से पानी सड़कों से होता हुआ घरों में घुसने लगा. जब तक मैं भागकर घर के अंदर आता, घर में घुटने तक पानी भर गया. हमसब भागकर छत पर चले गए. अगले 30 मिनट में पूरा घर डूब गया.

इन्हें भी पढ़ें :
लखनऊ में पिछले 32 घण्टों में 222 मिलीमीटर बारिश, टूट सकता है 1985 का रिकॉर्ड
Social Media पर ट्रेंड हुआ Lucknow Rains, वीडियो-फोटो पोस्ट कर लोग बता रहे हालात

वेबसाइट के मुताबिक, योगेश प्रवीण बताते हैं कि पुराना लखनऊ, हजरतगंज, कैसरबाग, इमामबाड़ा, विश्वविद्यालय, हुसैनाबाद, नक्खास सब डूब चुके थे. रात करीब 2 बजे सरकारी नाव चलती दिखाई पड़ी, वो हमारे छत के पास आई और हम उसपर बैठकर बड़े इमामबाड़े की छत पर चले गए. बाद में स्थि‍ति इतनी खराब हो गई कि पुराने लखनऊ में सभी के घर डूब चुके थे.

Good News: नोएडा अथॉरिटी प्रॉपर्टी ट्रांसफर चार्जेज में कर सकती है कटौती, जानें किसे होगा फायदा

Good News: नोएडा अथॉरिटी प्रॉपर्टी ट्रांसफर चार्जेज में कर सकती है कटौती, जानें किसे होगा फायदा

Noida Authority News: नोएडा अथॉरिटी इस वक्‍त प्रॉपर्टी के ट्रांसफर चार्जेज (Property Transfer Charges) कम करने पर मंथन कर रही है. जबकि इस पर 24 सितंबर को होने वाली मीटिंग में फैसला लिया जा सकता है. इससे पहले ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने जून 2021 में प्रॉपर्टी के ट्रांसफर चार्जेज कम कर दिये थे.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 15:10 IST
SHARE THIS:

नोएडा. ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने जून 2021 में प्रॉपर्टी के ट्रांसफर चार्जेज (Property Transfer Charges) कम कर दिये थे. इस वजह से सिटी में सेकेण्ड्री मार्केट रियलिटी ट्रांसजेक्शन्स को जबरदस्‍त प्रोत्साहन मिला. वहीं, नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने भी प्रॉपर्टी के ट्रांसफर चार्जेज कम करने पर मंथन कर रही है. वहीं, नोएडा अथॉरिटी की बोर्ड मीटिंग 24 सितम्बर को हो सकती है, जिसमें प्रॉपर्टी ट्रांसफर शुल्क को कम करने पर विचार किया जा सकता है.

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें अगले सप्ताह बोर्ड की बैठक के लिए तैयार रहने को कहा गया है, लेकिन उन्हें अभी तक प्राधिकरण के चेयरमैन संजीव मित्तल से हरी झंडी नहीं मिली है. उत्तर प्रदेश इंफ्रास्ट्रक्चर एवं इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कमिश्नर की भी भूमिका निभा रहे नोएडा प्राधिकरण चेयरमैन सुपरटेक एमेराल्ड कोर्ट मामले की भी जांच कर रही विशेष टीम का नेतृत्व कर रहे हैं और उन्होंने अपनी रिपोर्ट सरकार को अभी तक नहीं सौंपी है.

इस वजह से कदम उठा रही नोएडा अथॉरिटी
बोर्ड की बैठक में नोएडा अथॉरिटी प्रॉपर्टी ट्रांसफर प्रभार को कम करने पर भी विचार कर सकती है. कारोबारी, आरडब्ल्यूए और फ्लैट मालिक अपनी प्रॉपर्टी बिक्री करते वक्त बहुत अधिक ट्रांसफर शुल्क वसूले जाने की शिकायत सरकार से करते रहे हैं.

इस वर्ष जून में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने प्रॉपर्टी के ट्रांसफर चार्जेज कम कर दिये थे, जिससे सिटी में सेकेण्ड्री मार्केट रियलिटी ट्रांसजेक्शन्स को प्रोत्साहन मिला है. हालांकि नोएडा अथॉरिटी ने शुल्क अभी तक कम नहीं किया है. इंस्टीट्यूशनल और कॉमर्शियल प्लॉट मालिकों को फिलहाल मौजूदा लैंड प्रीमियम का 10 फीसदी ट्रांसफर चार्जेज के तौर पर देना होता है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इसे कम करके पांच प्रतिशत पर लाने का विचार किया जा रहा है.

जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी बड़ी सौगात, Delhi-NCR पर भी जमकर मेहरबानी

5 फीसदी की हो सकती है कटौती
इसी प्रकार नन-फंक्शनल इंडस्ट्रियल प्लॉट पर आवंटी को प्राधिकरण को 10 फीसदी शुल्क देना होता है. जबकि ऑपरेशनल प्लॉट पर यह प्रभार 8 प्रतिशत है. अथॉरिटी इस प्रभार में 50 फीसदी की कटौती करके इसे क्रमश: 5 और 4 फीसदी कर सकती है. बता दें कि फ्लैट और अपार्टमेंट के लिए अथॉरिटी संबंधित सेक्टर में मौजूदा लैंड प्रीमियम के अनुसार 720 रुपये वर्ग मीटर से 1980 वर्ग मीटर तक प्रभार वसूलती है. जबकि 24 सितंबर को होने वाली मीटिंग में इस बारे में निर्णय लिया जाना है.

Noida news: ऑटो और ई रिक्शा चालकों और सवारियों को यह जानकारी ले लेनी चाहिए

Noida news: ऑटो और ई रिक्शा चालकों और सवारियों को यह जानकारी ले लेनी चाहिए

Noida news bulletin: ग्रेटर नोएडा के घरों से कूड़ा उठा के नहीं इसकी जानकारी अब क्यूआर कोड से मिलेगी.

SHARE THIS:

1. नोएडा में ऑटो और ई रिक्शा चालकों के लिए जल्द ही रूट निर्धारण किया जा सकता है. इसकी तैयारी ट्रैफिक पुलिस ने पूरी कर ली है. डीसीपी ट्रैफिक गणेश प्रसाद साहा ने बताया कि ऑटो और ई रिक्शा चालक उन स्थानों पर भी चले जहां उनका जाना प्रतिबंध था, इसकी शिकायत मिल रही थी इसी लिए अब उनका रूट निर्धारण किया जाएगा.

2. ग्रेटर नोएडा के घरों से कूड़ा उठा की नहीं इसकी जानकारी अब क्यूआर कोड से मिलेगी. इसके लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने तैयारी पूरी कर ली, नई कंपनी को ठेका दस साल के लिए दिया गया है. मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी नरेंद्र भूषण ने मंगलवार को बताया कि यहां से प्रतिदिन 200 टन कूड़ा निकलता है, सबको सही से निस्तारण किया जा सके किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो इसको ध्यान में रख कर यह फैसला लिया गया है. क्यूआर में स्कैन करने के बाद अगर कूड़े उठाने का डिटेल नहीं मिलता तो संबंधित कर्मचारी पर कार्रवाई की जाएगी.

3. नोएडा में अगर किसी को जानवर पालना है तो उसको पहले पंजीकरण नोएडा प्राधिकरण के ऐप पर करना होगा. इसके लिए बुधवार को नोएडा प्राधिकरण एक ऐप लॉन्च करने वाला है. नोएडा प्राधिकरण के सीईओ रितु माहेश्वरी ने बताया कि इस ऐप पर पालतू जानवरों से संबंधित डाटा अपलोड किया जाएगा ताकि उनके लिए काम किया जा सके.
(रिपोर्ट- आदित्य कुमार)

Load More News

More from Other District