Home /News /uttar-pradesh /

UP RERA ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा के 7 बिल्डर्स पर लगाया एक करोड़ का जुर्माना, जानें वजह

UP RERA ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा के 7 बिल्डर्स पर लगाया एक करोड़ का जुर्माना, जानें वजह

उत्तर प्रदेश भूसंपदा विनियामक प्राधिकरण (यूपी रेरा) के आदेशों को भी बिल्डर्स रद्दी की टोकरी में डाल दे रहे हैं.

उत्तर प्रदेश भूसंपदा विनियामक प्राधिकरण (यूपी रेरा) के आदेशों को भी बिल्डर्स रद्दी की टोकरी में डाल दे रहे हैं.

यूपी रेरा  (UP RERA) के सचिव के मुताबिक यूपी रेरा में 40 हजार से ज्यादा केस दर्ज हो चुके हैं. जिसमे से समय रहते 30 हजार से ज्यादा केस का निपटारा किया जा चुका है. लेकिन देखने में आया है कि बहुत सारे केस (Case) में फैसला हो जाने के बाद भी नोएडा ()Noida और ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के बिल्डर सुनवाई नहीं कर रहे हैं. फ्लैट खरीदार (Flat Buyers) परेशान हो रहे हैं. उन्हें अपना घर नहीं मिल पा रहा है. इसी को देखते हुए यूपी रेरा समय-समय पर बिल्डर के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए जुर्माना लगाती है और आरसी भी जारी करती है. एक बार 7 बिल्डर्स के खिलाफ जुर्माना लगाया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. उत्तर प्रदेश भूसंपदा विनियामक प्राधिकरण (UP RERA) के आदेशों को भी बिल्डर्स रद्दी की टोकरी में डाल दे रहे हैं. जिसके चलते फ्लैट खरीदारों (Flat Buyers) को न तो फ्लैट ही मिल पा रहे हैं और न ही पैसा. फ्लैट खरीदार रेरा के चक्कर लगाने को मजबूर हैं. हाल ही में एक बिल्डर ने तो तहसील की टीम को लिफ्ट में बंदकर बंधक बना लिया था. ऐसे ही कुछ केस के चलते यूपी रेरा ने नोएडा (Noida) और ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के 7 बिल्डर्स पर एक करोड़ रुपये से ज्यादा का जुर्माना लगाया है. जुर्माने की रकम जमा करने के लिए एक महीने का वक्त दिया गया है. वक्त पर जुर्माना जमा न होने पर बिल्डर्स के खिलाफ आरसी भी जारी की जा सकती है.

    जानिए किस बिल्डर पर कितना लगा है जुर्माना

    यूपी रेरा की 82वीं बैठक के दौरान नोएडा और ग्रेटर नोएडा के 7 बिल्डरों पर 1.08 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है. यूपी रेरा के सचिव की मानें तो एक महीने में सभी 7 बिल्डर को जुर्माने की रकम जमा करानी होगी. ऐसा न होने पर राजस्व अधिनियम के तहत आरसी जारी करते हुए जुर्माने की रकम वसूल की जाएगी. जिन 7 बिल्डर्स पर जुर्माना लगाया गया है उनके नाम यह हैं.

    बिल्डर पर जुर्माना लाख रुपये में है-

    अल्फा कॉर्प डेवलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड 8.75

    अंसल अर्बन कोंडोमिनियम प्राइवेट लिमिटेड 3.09

    सुपरटेक लिमिटेड 6.37

    दो महीने से इस खास तिरंगे झंडे को बचाने में लगी है ASI की केमिकल ब्रांच, जानिए वजह

    गार्डेनिया इंडिया लिमिटेड 35.41

    सर्वोत्तम रियलकॉन प्राइवेट लिमिटेड 27.08

    आरसिटी इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड 19.33

    एसजेपी इंफ्राकॉन (मिगसन जनपथ) 8.41

    बिल्डर वक्त पर जमा नहीं कर रहे अपनी प्रोग्रेस रिपोर्ट

    जानकारों की मानें तो सभी बिल्डर्स को अपने प्रोजेक्ट की प्रोग्रेस रिपोर्ट हर तीन महीने में यूपी रेरा में जमा करनी होती है. तीन महीने पूरे होते ही अगले महीने के पहले सप्ताह में ही प्रोग्रेस रिपोर्ट यूपी रेरा के दफ्तर में जमा हो जानी चाहिए. लेकिन ऐसा हो नहीं रहा है. खास बात यह है कि अक्तूबर, नवंबर और दिसंबर की जो रिपोर्ट जनवरी के पहले सप्ताह में जमा हो जानी चाहिए थी वो अभी तक जमा नहीं हुई है. हालांकि इसके लिए भी यूपी रेरा ने रिपोर्ट जमा न कराने वाले बिल्डर्स को 28 फरवरी तक का वक्त दिया है.

    Tags: Builder Society Noida Fines, Noida news, Own flat

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर