Home /News /uttar-pradesh /

सुपरटेक मामलाः 112 करोड़ की रिकवरी करने आई टीम 1 घंटे तक लिफ्ट में रही बंद, घुटने लगीं सांसें

सुपरटेक मामलाः 112 करोड़ की रिकवरी करने आई टीम 1 घंटे तक लिफ्ट में रही बंद, घुटने लगीं सांसें

Supertech case: रेरा के आदेश पर तहसील की टीम नोएडा स्थित सुपरटे के ऑफिस में 112 करोड़ रुपये की रिकवरी करने गई थी.

Supertech case: रेरा के आदेश पर तहसील की टीम नोएडा स्थित सुपरटे के ऑफिस में 112 करोड़ रुपये की रिकवरी करने गई थी.

Noida Supertech Twin Tower News: सुपरटेक बिल्डर पर आई यह कोई पहली परेशानी नहीं है. इससे पहले एमराल्ड योजना के ट्वीन टावर विवादों में आ चुके हैं. टावर के खिलाफ कई साल से पीड़ित फ्लैट खरीदार पहले स्थानीय कोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट के चक्कर लगा रहे थे. इसके बाद ही 30 अगस्त 2021 को सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा अथॉरिटी पर सख्त टिप्पणी करते हुए तीन महीने में ट्वीन टावर को तोड़ने का आदेश जारी किया था. इसके बाद लगातार अथॉरिटी केन्द्रीय भवन अनुसंधान संस्थान और आईआईटी (IIT) के साथ मिलकर ट्वीन टावर को कैसे गिराया जाए इस योजना पर काम कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. अवैध रूप से बने ट्विन टावर (Twin Tower) मामले में घिरे सुपरटेक के बिल्डर (Supertech Builder) आरके अरोड़ा पर एक और गंभीर आरोप लगा है. थाने में दी गई तहरीर में तहसील की टीम को लिफ्ट में बंद कर जान से मारने का आरोप लगाया गया है. रेरा (Rera) के आदेश पर तहसील की टीम नोएडा (Noida) स्थित सुपरटे के ऑफिस में 112 करोड़ रुपये की रिकवरी करने गई थी. नायब तहसीलदार रामकृष्ण की तहरीर पर आधा दर्जन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. वहीं पुलिस (Police) पूरे मामले की जांच कर रही है.

नोएडा के थाना 39 में दर्ज हुए मुकदमे के मुताबिक अधिकारियों को लिफ्ट में बंद करने की घटना 5 जनवरी की है. लेकिन थाने पर इसकी सूचना 10 जनवरी को दी गई है. घटना के मुताबिक तहसील की टीम 5 जनवरी को सेक्टर-96 स्थित सुपरटेक के ऑफिस पहुंची. नायब तहसीलदार का कहना है कि रेरा के आदेश पर हमे 112 करोड़ रुपये की रिकवरी करनी थी.

लेकिन जैसा कि पहले भी दो बार सितम्बर और दिसम्बर में तहसील की टीम को लिफ्ट में बंद करने की घटनाएं हो चुकी हैं, इसलिए हमने लिफ्ट में जाने से पहले कंपनी के एक कर्मचारी और वहां मौजूद गार्ड को भी अपने साथ लिफ्ट में ले लिया.

Noida FNG: 15 मिनट का सफर करने के लिए 7 साल से हो रहा है इंतजार, जानिए वजह

लेकिन बावजूद इसके जैसे ही 5 जनवरी को लिफ्ट 5वें फ्लोर पर पहुंची तो लिफ्ट को बाहर से बंद कर दिया गया. हमारी टीम लिफ्ट में बंद हो गई. एक घंटे तक हम लिफ्ट में बंद रहे. अंदर ऑक्सीजन की कमी भी होने लगी. थोड़ी देर और अगर हमे बाहर नहीं निकाला गया होता तो दम घुटने से जान भी जा सकती थी. लेकिन किसी तरह से हम बाहर निकल आए. नायब तहसीलदार की ओर से सरकारी काम में बाधा डालने की धाराओं में भी मुकदमा दर्ज कराया गया है.

Tags: Noida news, Police, Supertech Twin Tower case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर