अवैध वसूली से 4 फर्जी पत्रकारों ने ऐसे कमाई करोड़ों की दौलत

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 24, 2019, 10:11 PM IST
अवैध वसूली से 4 फर्जी पत्रकारों ने ऐसे कमाई करोड़ों की दौलत
करोड़ों की दौलत हासिल करने वाले 4 पत्रकारों को पुलिस ने किया गिरफ्तार. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने चार ऐसे लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया जिन पर आरोप है कि वे पत्रकार होने का दावा कर अवैध वसूली करते थे और अपना हित साधने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बनाते थे.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttar Pradesh Police) ने चार ऐसे लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया जिन पर आरोप है कि वे पत्रकार होने का दावा कर अवैध वसूली करते थे और अपना हित साधने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बनाते थे. गौतमबुद्ध नगर जिले की थाना बीटा-दो पुलिस ने वसूली करने वाले चार फर्जी पत्रकारों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि इनका एक साथी अभी फरार है. उसको गिरफ्तारी करने वालों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) की ओर से 25 हजार रुपये का इनाम दिया जाएगा. गिरफ्तार फर्जी पत्रकारों में दो इससे पूर्व भी जेल जा चुके हैं.

पांच दिन की हिरासत में भेजे गए आरोपी
पुलिस के अनुसार पूछताछ के दौरान पकड़े गए आरोपियों ने कई पुलिसवालों, प्रशासनिक अधिकारियों, प्राधिकरण के अधिकारियों तथा नेताओं से सांठगांठ कर करोड़ों रुपए की कमाई करने की बात स्वीकार की है. गिरफ्तार किए गए सुशील पंडित, उदित गोयल, चंदन राय और नीतीश पांडे को एक अदालत ने पांच दिन की हिरासत में भेज दिया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मीडिया प्रभारी राकेश भदौरिया ने बताया कि चारों लोगों को शनिवार को जिला अदालत में पेश किया गया. पुलिस के आग्रह पर अदालत ने चारों को पांच दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया.

इनकी चल-अचल संपत्ति कुर्क करने की तैयारी कर रहा है जिला प्रशासन

जिला प्रशासन इनकी चल-अचल संपत्ति कुर्क करने की तैयारी कर रहा है. गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने बताया कि पत्रकारिता की आड़ में एक संगठित गिरोह बनाकर, अवैध तरीके से पैसा कमाने तथा प्रशासनिक अधिकारियों पर दबाव बनाकर अपने हित साधने वाले गिरोह के चार लोगों को थाना बीटा दो पुलिस ने शुक्रवार देर रात को गिरफ्तार कर लिया. इनकी गिरफ्तारी गैंगस्टर कानून के तहत की गई है.

रमन ठाकुर पर घोषित किया गया 25 हजार का इनाम
डीएम बृजेश नारायण सिंह ने बताया कि इस गिरोह का सरगना सुशील पंडित है. जिलाधिकारी ने बताया कि इनके साथी उदित गोयल, चंदन राय तथा नीतीश पांडे को भी गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि इनका एक साथी रमन ठाकुर अभी फरार है. उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है.
Loading...

सील किए गए आरोपियों के कार्यालय
डीएम ने बताया कि यह गिरोह मुख्य रूप से गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद और लखनऊ में सक्रिय था. उन्होंने बताया कि यह गिरोह दो प्रकार से अपना काम करता था. इस गिरोह के सदस्य सरकारी सेवकों, विशेषकर पुलिस अधिकारियों को अनुचित आर्थिक लाभ का प्रलोभन देकर व्यक्ति विशेष के पक्ष में कार्य करने के लिए प्रेरित करते थे. जिलाधिकारी ने बताया कि दो पत्रकारों की गिरफ्तारी नोएडा से, एक की गाजियाबाद से तथा एक की लखनऊ से की गई है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के कार्यालयों को सील कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 9:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...