होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /आज से नोएडा-ग्रेटर नोएडा को 20 दिन तक पीने को नहीं मिलेगा गंगाजल, जानें वजह

आज से नोएडा-ग्रेटर नोएडा को 20 दिन तक पीने को नहीं मिलेगा गंगाजल, जानें वजह

सिंचाई विभाग के अफसरों की मानें तो हर साल दिवाली से एक महीना पहले गंगनहर की सफाई शुरू हो जाती है. (सांकेतिक तस्वीर)

सिंचाई विभाग के अफसरों की मानें तो हर साल दिवाली से एक महीना पहले गंगनहर की सफाई शुरू हो जाती है. (सांकेतिक तस्वीर)

ग्रेटर नोएडा (Noida-Greater Noida) में अभी तक 70 क्यूसेक ग्राउंड वॉटर की सप्लाई (Water Supply) हो रही थी. लेकिन पीने मे ...अधिक पढ़ें

नोएडा. आज गाजियाबाद से नोएडा (Noida) आने वाले गंगाजल (Gangaajal) की सप्लाई पर ब्रेक लग जाएगा. 20 दिन तक नोएडा-ग्रेटर नोएडा (Noida-Greater Noida) को पीने के लिए गंगाजल नहीं मिल पाएगा. इस दौरान 20 दिन तक गंगनहर (Ganga Canal) की सफाई चलेगी. नोएडा-ग्रेटर नोएडा ही नहीं गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी गंगाजल की सप्लाई नहीं हो पाएगी. 20 दिन तक इस हालात से निपटने के इंतजाम किए जा रहे हैं. पानी की सप्लाई (Water Supply) के लिए टैंकर तैयार किए जा रहे हैं. ग्रेटर नोएडा में तो अभी कुछ दिन पहले ही गंगाजल की सप्लाई शुरू की गई थी, लेकिन अब 20 दिन के लिए बंद हो गई है. गौरतलब रहे बारिश के बाद जमा हुई सिल्ट निकालने के लिए गंगनहर की तली झाड़ सफाई की जाती है.

हर साल इसलिए की जाती है गंगनहर की सप्लाई

उत्तराखण्ड में ग्‍लेशियर टूटने पर उनके साथ सिल्ट भी बहकर आती है. यही सिल्ट गाद बनकर गंगनहर  में जमा हो जाती है. इसके चलते पानी भी गंदा हो जाता है. इस दौरान किसी तरह गाजियाबाद के प्‍लांट को चालू रखकर पानी की सप्लाई की जाती है. लेकिन जब तक गंगाजल के साथ सिल्ट आती है प्लांट को चालू नहीं किया जाता है.

आपके शहर से (नोएडा)

नोएडा
नोएडा

क्योंकि इससे पानी सप्लाई करने वालीं मशीनों के खराब होने का खतरा बना रहता है. इसी के चलते साल में एक बार एक से सवा महीने के लिए गंगनहर में पानी की सप्लाई रोककर सफाई की जाती है. जिसके चलते नोएडा और गाजियाबाद में कुछ वक्त के लिए परेशानी खड़ी हो जाती है.

नोएडा में बनेंगे 18 डॉग शेल्टर, डॉग बाइट के केस घटाने को अथॉरिटी ने बनाया यह प्लान

हर साल दिवाली से पहले होती है गंगनहर की सफाई

सिंचाई विभाग के अफसरों की मानें तो हर साल दिवाली से एक महीना पहले गंगनहर की सफाई शुरू हो जाती है. ऐसा ही कुछ साल 2021 अक्टूबर से शुरू किया गया था. इसी के चलते 18 अक्टूबर से नोएडा समेत दिल्ली और गाजियाबाद को गंगाजल की सपलाई रोक दी गई थी. ऐसे में गाजियाबाद में जीडीए की ओर से कौशाम्बी, वसुंधरा और इंदिरापुरम में पानी की सप्लाई बनाए रखने के लिए टैंकरों की मदद ली गई थी. नोएडा अथॉरिटी ने भी कई इलाकों में पानी की सप्लाई की. दिल्ली में भी कई वैकल्पिक उपाय अपनाए गए थे. इस साल 6 अक्टूबर से गंगनहर की सफाई शुरू हो रही है. 25 अक्टूबर तक सफाई होगी और 26 अक्टूबर से पानी की सप्लाई दोबारा से शुरू कर दी जाएगी.

दो प्लांट से होती है 150 क्यूसेक पानी की सप्लाई

गंगाजल के दोनों प्‍लांटों से 100 क्‍यूसेक और 50 क्‍यूसेक सप्‍लाई पूरी तरह रोक दी गई है. इससे वसुंधरा की 9 कॉलोनी, इंदिरापुरम और नोएडा की कालोनियों में पानी की सप्‍लाई रोक दी गई है.  गंगाजल की सप्‍लाई  बंद होने से वसुंधरा, वैशाली और डेल्‍टा कालोनी में नलकूपों से सप्‍लाई की जाएगी. वहीं, इंदिरापुरम के अहिंसाखंड, शक्तिखंड, नीतिखंड, ज्ञानखंड, वैभवखंड और अभयखंड में 22 ट्यूबवेलों से पानी की सप्‍लाई की जाएगी. कुछ इसी तरह से नोएडा अथॉरिटी भी नलकूप और पानी के टैंकर से सप्लाई की जाएगी.

Tags: Gangajal, Ghaziabad News, Greater noida news, Noida news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें