Home /News /uttar-pradesh /

Kam ki Khabar: नोएडा में एक फोन कॉल या वॉट्सएप पर कूड़ा उठाने आएगी कचरा एंबुलेंस

Kam ki Khabar: नोएडा में एक फोन कॉल या वॉट्सएप पर कूड़ा उठाने आएगी कचरा एंबुलेंस

कर्मचारी नहीं आ रहे हैं, तो इमरजेंसी के ऐसे हालात में कचरा एम्बुलेंस उस कूड़े को उठाने के लिए आएगी

कर्मचारी नहीं आ रहे हैं, तो इमरजेंसी के ऐसे हालात में कचरा एम्बुलेंस उस कूड़े को उठाने के लिए आएगी

Garbage Ambulance Quick Response Service: नोएडा अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक शहर के कई सेक्टरों में सेग्रिगेटेड गीले कूड़े से खाद बनाई जा रही है. नोएडा में सेग्रीगेटेड वेस्ट को कलेक्ट कर गीले कूड़े से खाद बनाने के लिए 3 0 बायोमीथेनेशन और सीडब्ल्यूसी मशीन लगाई गई हैं. अथॉरिटी, रेसिडेंस वेलफेयर एसोसिएशन को मशीन की खरीद पर 90 फीसद तक सब्सिडी दे रही है. लोग अपने घर और सोसाइटी में भी गीला कूड़ा अलग जमा कर मशीन की मदद से खाद बनाकर उसका इस्तेमाल कई तरह से कर सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. अगर आपकी कॉलोनी और सोसाइटी के सामने कई दिन से कूड़ा पड़ा, कूड़ा उठाने के लिए कर्मचारी नहीं आ रहे हैं, तो इमरजेंसी के ऐसे हालात में कचरा एम्बुलेंस उस कूड़े को उठाने के लिए आएगी. लेकिन इसके लिए आपको एक मोबाइल कॉल करनी होगी या फिर व्हाट्सएप पर एक मैसेज करना होगा. इसके बाद कचरा एम्बुलेंस उस कूड़े को सी एंड डी वेस्ट प्लांट में ले जाएगी. हाल ही में नोएडा अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेश्वरी ने इस योजना को शुरू किया है. इतना ही नहीं गीले कूड़े से खाद बनाने का काम भी अथॉरिटी के प्लांट में किया जा रहा है. वहीं खाद बनाने वाली मशीन खरीदने के लिए नोएडा अथॉरिटी 90 फीसद तक सब्सिडी भी दे रही है.

    शहर के विभिन्न सेक्टरों में गंदगी और कचरे को लेकर आए दिन आरडब्ल्यूए अथॉरिटी के अफसरों से शिकायत करते थे. कभी कचरा उठाने वाली गाड़ी से शिकायत होती है तो कभी ऐसे लोगों से जो कहीं शहर में कूड़ा फैलाकर गंदगी कर देते हैं. कई बार लोगों की शिकायत होती थी कि अथॉरिटी द्वारा तय की गई कूड़ा गाड़ी न तो समय से आती है और न ही उसके आने का कोई समय निश्चित है. कई बार तो यह गाड़ियां कई-कई दिनों तक कॉलोनियों और सेक्टरों में नहीं पहुंचतीं हैं. ऐसी ही समस्या से निपटने के लिए अथॉरिटी ने कचरा एम्बुलेंस सेवा की शुरुआत की है.

    नियमित व्यवस्था से हटकर इस सेवा का लाभ आपातकाल की स्थिति में उठाया जा सकेगा. कचरा एम्बुलेंस क्विक रिस्पांस टीम की तर्ज पर काम करेगी. शहर में कहीं भी गंदगी होने पर टोल फ्री नंबर पर कॉल करके इसका लाभ मुफ्त उठाया जा सकता है. अधिकारियों का मानना है कि शहर का कूड़ा उठाने के लिए एम्बुलेंस काफी सहायक सिद्ध होगी.

    Noida-Greater Noida के 18 इलाके डेंगू के क्लस्टर घोषित, मिले हैं सबसे ज्यादा मरीज

    कचरा एम्बुलेंस का ऐसे उठाया जा सकता है फायदा

    नोएडा अथॉरिटी की सीईओ रितु माहेश्वरी का कहना है कि नोएडा को साथ-सुथरा रखने के लिए कचरा एम्बुलेंस की शुरूआत की गई है. इमरजेंसी के हालात में कचरा एम्बुलेंस को बुलाया जा सकता है. वर्ना कूड़ा उठाने वालीं सामान्य गाड़ियां पहले की तरह से ही रोस्टर के मुताबिक काम करेंगी. अगर वो वक्त पर कूड़ा न उठाएं तो उनकी शिकायत की जा सकती है. इतना ही नहीं अगर कचरा एम्बुलेंस को कूड़ा उठाने की जरूरत पड़ रही है, तो इसका मतलब यह है कि कहीं न कहीं सामान्य गाड़ी वक्त से नहीं पहुंच रही है.

    कचरा एम्बुलेंस के लिए यहां कर सकते हैं संपर्क

    नोएडा अथॉरिटी के अफसरों की मानें तो कचरा एम्बुलेंस के लिए और कूड़ा पड़ा रहने और उसके न उठने पर कचरा एंबुलेंस के लिए 18001807995 नंबर पर कॉल किया जा सकता है. वहीं व्हाट्सएप पर जनस्वास्थ्य विभाग को इस नंबर 9717080605 पर जानकारी दी जा सकती है. इसके साथ ही सी एंड डी वेस्ट प्लांट को 18008919657 और डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन को इस नंबर 18001807995 पर कूड़े के बारे में जानकारी दी जा सकती है.

    Tags: Ambulance, Garbage, Noida Authority, Whatsapp

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर