होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में छाएगा न्यू नोएडा, इंदौर-औरंगाबाद की तर्ज पर बनेगा प्लान

ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में छाएगा न्यू नोएडा, इंदौर-औरंगाबाद की तर्ज पर बनेगा प्लान

साल 2023 में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का आयोजन होना है. जानकारों का कहना है कि समिट में सभी की निगाह न्यू नोएडा पर होंगी. Demo Pic

साल 2023 में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट का आयोजन होना है. जानकारों का कहना है कि समिट में सभी की निगाह न्यू नोएडा पर होंगी. Demo Pic

न्यू नोएडा (New Noida) का मास्टर प्लान तैयार हो चुका है. दादरी (Dadri)-बुलंदशहर के 84 गांवों की 210 वर्ग किमी जमीन पर न्यू नोएडा यानि दादरी-नोएडा-गाजियाबाद इंवेस्टमेंट रीजन  (DNG Investment Region) बसाने की तैयारी चल रही है. 41 फीसद जमीन पर इंडस्ट्रियल एरिया बसेगा. इसके पास ही रहने के लिए मकान भी बनाए जाएंगे. 11.5 फीसद एरिया में रेजिडेंशियल प्रोजेक्ट प्लान किए गए हैं. न्यू नोएडा से रेल, ट्रांसपोर्ट, सड़क के अलावा जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) भी जुड़ा होगा. यहां से ईस्टर्न पेरिफेरल, नेशनल हाइवे 91 जीटी रोड, कानपुर एक्सप्रेसवे भी गुजर रहा है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

नोएडा. साल 2023 में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट (Global Invester Summit 2023) का आयोजन होना है. जानकारों का कहना है कि समिट में सभी की निगाह न्यू नोएडा पर होंगी. समिट के दौरान न्यू नोएडा (New Noida) में ही ज्यादा से ज्यादा निवेश आने की उम्मीद है. इसी के चलते नोएडा अथॉरिटी ने न्यू नोएडा को समिट के दौरान पेश करने के लिए तैयारियां तेज कर दी हैं. हाल ही में इसे लेकर एक बैठक भी की गई थी. बैठक के दौरान न्यू नोएडा को इंदौर (Indore)-औरंगाबाद टाउनशिप की तर्ज पर बसाने के प्लान पर भी मुहर लगाई गई है. दिल्ली में फिक्की के ऑडिटोरियम में हुई इस बैठक में इस पर भी चर्चा हुई कि न्यू नोएडा को दादरी-नोएडा-गाजियाबाद इंवेस्टमेंट रीजन (DNG Investment Region) के नाम से जाना जाएगा. स्कूल ऑफ प्लॉनिंग एण्ड आर्किटेक्चर संस्थान ने इसका मास्टर प्लान तैयार किया है.

ऐसा होगा न्यू नोएडा का डीएनजीआईआर

नोएडा अथॉरिटी के अफसरों की मानें तो इस योजना में एसईजेड भी विकसित किया जाएगा. एसईजेड के अंतर्गत इंडस्ट्रियल यूनिट, इंडस्ट्रियल एस्टेट्स, एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग जोन, आईटी, आईटीएस और बायोटेक जोन, स्किल डेवलपमेंट सेंटर, नॉलेज हब, लॉजिस्टिक हब और इंटिग्रेटेड टाउनशिप को इस योजना में मौका दिया जाएगा. उनका कहना है कि नोएडा के अनुभव और सीईओ रितु माहेश्वरी की प्लानिंग को देखते हुए नोएडा अथॉरिटी को इस बड़े और महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट के लिए चुना गया है.

न्यू नोएडा में कारोबार करेंगे लोकल किसान

न्यू नोएडा को बसाने के दौरान नोएडा अथॉरिटी लोकल किसानों के लिए बड़ी योजना ला रही है. नए नोएडा में किसानों को कारोबार करने का मौका दिया जाएगा. न्यू नोएडा के लिए गौतम बुद्ध नगर और बुलंदशहर के 80 से ज्यादा गांवों के किसानों की जमीन ली जाएगी. लेकिन लैण्डपूलिंग के तहत जिनकी जमीन ली जाएगी उन्हें शहर विकसित करने के बाद 25 फीसद जमीन वापस कर दी जाएगी. इसे किसान बिल्डर और कंपनियों को बेच सकेंगे या खुद कारोबार कर सकेंगे.

चिल्ला एलिवेटेड रोड: जल्द खत्म होगा फिल्म सिटी का जाम, जानें प्लान

रेल-रोड और एयरपोर्ट से ऐसे जुड़ेगा न्यू नोएडा

सबसे बड़ी बात यह है कि दो अहम रेल कॉरिडोर न्यू नोएडा से होकर ही गुजरेंगे. न्यू नोएडा रेल कॉरिडोर का हब बनेगा. दिल्ली-मुम्बई और अमृतसर से कोलकाता रेल कॉरिडोर का यहां बड़ा हाल्ट होगा. इससे दिल्ली-एनसीआर के कारोबार को बड़ा फायदा मिलेगा. फरीदाबाद-नोएडा-गाजियाबाद मार्ग (एफएनजी) से भी न्यू नोएडा को कनेक्ट किया जाएगा.

न्यू नोएडा ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के दोनो तरफ बसाया जाएगा. नेशनल हाइवे 91 जीटी रोड, कानपुर एक्सप्रेसवे भी इसके नजदीक से गुजर रहा है. दिल्ली-मुम्बई और यमुना एक्सप्रेसवे से भी जुड़ जाएगा. साथ ही पास में बन रहा जेवर एयरपोर्ट भी खासा नजदीक होगा. रेल नेटवर्क के तहत नॉर्दन रेलवे, ईस्टर्न और वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर भी यहीं से गुजर रहे हैं. पड़ोस में ही मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब और ट्रांजिट हब भी बन रहा है.

Tags: Jewar airport, Noida news, Yamuna Expressway

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर