Home /News /uttar-pradesh /

जल्द नोएडा से उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी मंजूरी, जानिए पूरा प्लान

जल्द नोएडा से उड़ान भरेंगे हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी मंजूरी, जानिए पूरा प्लान

एक बैठक में नोएडा हेलीपोर्ट से जुड़ी डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट, बिड दस्तावेज और कंसेशन एग्रीमेंट रिपोर्ट को मंजूरी मिल गई है. demo pic

एक बैठक में नोएडा हेलीपोर्ट से जुड़ी डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट, बिड दस्तावेज और कंसेशन एग्रीमेंट रिपोर्ट को मंजूरी मिल गई है. demo pic

जानकार बताते हैं कि कई ऐसे बड़े प्रोजेक्ट हैं जो नोएडा (Noida) और उससे सटे इलाकों में शुरू हो गए हैं. जैसे जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport), दिल्ली-मुम्बई रेल कॉरिडोर, गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर के 80 गांवों में बसने वाला नया नोएडा शहर, यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) के किनारे राया, टप्पल और आगरा में नया शहर बसाना, टप्पल के पास डिफेंस कॉरिडोर, ग्रेटर नोएडा से सटकर बनने वाला लॉजिस्टिक और वेयर हाउस हब के साथ ही ग्रेटर नोएडा (Greater Noida), यमुना सिटी और नोएडा में कई बड़े आईटी-आईटीएमएस और टॉय पार्क जैसे प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. जल्द ही नोएडा से हेलिकाप्टर (Helicopter) भी उड़ान भरेंगे. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने हेलीपोर्ट के निर्माण को हरी झंडी दे दी है. हेलीपोर्ट पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) मॉडल पर बनकर तैयार होगा. हेलीपोर्ट के लिए सेक्टर 151 में जमीन देखी गई है. हेलीपोर्ट 9.35 एकड़ जमीन पर बनकर तैयार होगा. हेलीपोर्ट (Heliport) की लागत करीब 43.13 करोड़ रुपये आने की उम्मीद है. हेलीपोर्ट को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यहां 26 सीटर एमआई-17 हेलीकॉप्टर (MI-17 Helicopter) भी उतर सकेगा.

आईजीआई और जेवर एयरपोर्ट से इतनी दूर होगा हेलीपोर्ट

हेलीपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग 500 वर्ग मीटर में होगी. यह टर्मिनल 20 आने और 20 जाने वाले यात्रियों के हिसाब से बनाया जाएगा. हेलीपोर्ट का संचालन केवल दिन में ही होगा. यहां इलेक्ट्रिक सब स्टेशन, फायर स्टेशन और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट भी होगा. भौगोलिक दृष्टि से बात करें तो हेलीपोर्ट के सबसे नजदीक सेक्टर 147 मेट्रो स्टेशन है जो 3 किलोमीटर की दूरी पर है.

यमुना एक्सप्रेसवे से 7 किलोमीटर दूर होगा. ग्रेटर नोएडा से 17, जेवर एयरपोर्ट से 47 और दिल्ली एयरपोर्ट से 51 किलोमीटर की दूरी पर होगा यह हेलीपोर्ट. यहां से यूपी उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के दर्शनीय स्थल जुड़ेंगे. इन आगरा, मथुरा, वृंदावन, हरिद्वार, केदारनाथ, गंगोत्री, शिमला, मनाली, देहरादून आदि को भी हेलीपोर्ट से जोड़ा जाएगा.

1971 War: एक लाइन के खत को पढ़कर पाक सेना किया था सरेंडर, जानिए क्या थे वो शब्द

पीपीपी मॉडल पर तैयार होगा हेलीपोर्ट

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप पीपीपी मॉडल पर बनने वाले हेलीपोर्ट से देश के कई राज्य, धार्मिक, दर्शनीय स्थल और एयरपोर्ट को जोड़ने की योजना है. प्रदेश सरकार से लिखित में मंजूरी मिलते ही इसका टेंडर निकाल दिया जाएगा. अपर मुख्य अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग के अध्यक्षता में हेलीपोर्ट बनाने के संबंध में बैठक हुई इसमें शासन की पीपीपी मूल्यांकन समिति की ओर से हेलीपोर्ट परियोजना की उपयोगिता को देखते हुए अनुमति दे दी गई है.

Tags: CM Yogi Adityanath, Helicopter, Noida news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर