Home /News /uttar-pradesh /

Know your Heroes:देश के लिए शहीद हुए वीर सैनिकों के परिवारों को जोड़ने की कोशिश में है ये युवा

Know your Heroes:देश के लिए शहीद हुए वीर सैनिकों के परिवारों को जोड़ने की कोशिश में है ये युवा

शहीद

शहीद के परिजनों को आपस में जोड़ने वाले आशुतोष यादव

 25 साल का एक युवा इसका ख्याल रखता है और देश के लिए शहीद हुए सैनिकों के घर-घर जाकर उनके परिवार का हालचाल पूछते हैं. आशुतोष यादव का ग्रेजुएशन अभी कुछ दिनों पहले ही खत्म हुआ है और वो अब तक सैंकड़ों शहीद के परिवार से मिल चुके हैं. उनका कहना है कि हम ऐसे कम्युनिटी बनाने की सोंच रहे हैं.जिसमें सभी शहीदों के परिवार के सदस्य अपना सुख-दुख साझा कर सकें.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा: जाओ जो लौट के तुम, घर हो ख़ुशी से भरा बस इतना याद रहे एक साथी और भी था जावेद अख्तर (Jawed Akhtar) का लिखा यह गीत साल 2003 में एलओसी कारगिल फिल्म में फिल्माया गया था. यह गाना देश के लिए शहीद हुए सैनिकों की कुर्बानी को याद दिलाने के लिए लिखा गया था. लेकिन क्या हम शहीद के परिवार के हालचाल पूछते है? कुछ दिन के बाद तो हम याद भी रखते कि हमारे सुख शांति के लिए कौन शहीद हो गए.लेकिन 25 साल का एक युवा इसका ख्याल रखता है और देश के लिए शहीद हुए सैनिकों के घर-घर जाकर उनके परिवार का हालचाल पूछते हैं. आशुतोष यादव का ग्रेजुएशन अभी कुछ दिनों पहले ही खत्म हुआ है और वो अब तक सैंकड़ों शहीद के परिवार से मिल चुके हैं. उनका कहना है कि हम ऐसे कम्युनिटी बनाने की सोंच रहे हैं.जिसमें सभी शहीदों के परिवार के सदस्य अपना सुख-दुख साझा कर सकें.

    बलिदान हो जाने के बाद सिर्फ हम कहानी समझकर भूल जाते हैं, लेकिन जरूरत है उन्हे संबल प्रदान करने की
    आशुतोष यादव दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्र रहे हैं, वो बताते हैं कि जब यह खबर आती है कि कोई व्यक्ति देश के लिए अपनी जान न्योछावर कर दिया है, तो हम कुछ दिनो तक याद रखते है लेकिन फिर भूल जाते हैं. ऐसे समय मै मानता हूं कि देश इतना बड़ा है उनके वीर सैनिकों के परिवार से किसी न किसी को मिलते रहना चाहिए. ताकि उनको कभी भी अकेला पन ना लगे. आशुतोष बताते हैं कि मैं अपने पैसे से ल खर्चे पर सभी लोगों से मिलने की कोशिश करता हूं. अभी कई परिवारों से मिलना बाकी है. हम पूरे देश में ” know your Heroes” नाम से कैंपेन चला रहे हैं जिसके माध्यम से पूरे देश में शहीदों के परिवार और उनके वीर गाथाओं को लोगों तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं.
    (रिपोर्ट – आदित्य कुमार)

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर