नोएडा क्रिकेट स्टेडियम में करोड़ों रुपए का घोटाला, CBI ने नौ अफसरों पर कार्रवाई के लिए मांगी मंजूरी

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 29, 2019, 8:07 AM IST
नोएडा क्रिकेट स्टेडियम में करोड़ों रुपए का घोटाला, CBI ने नौ अफसरों पर कार्रवाई के लिए मांगी मंजूरी
नोएडा क्रिकेट स्टेडियम बनाने में करोड़ों का घोटाला सामने आया है. (फाइल फोटो)

सीबीआई (CBI) ने जांच में पवेलियन के साथ क्रिकेट स्टेडियम (Noida Cricket Stadium) बनाने में करोड़ों रुपए की अनियमितता की बात कही है. तकरीबन 138 करोड़ रुपए की अनियमितता की बात कही जा रही है.

  • Share this:
नोएडा (Noida) के सेक्टर 21ए में बने क्रिकेट स्टेडियम (Noida Cricket Stadium) को बनाने में करोड़ों रुपए का घोटाला (Scam) सामने आया है. सूत्रों के हवाले से मिल रही खबर के मुताबिक, सीबीआई (CBI) ने नोएडा प्राधिकरण से दागी अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए अनुमति मांगी है. सीबीआई की जांच में नौ तत्कालीन अफसर दोषी पाए गए हैं. कहा जा रहा है कि एफआईआर दर्ज होते ही इन अधिकारियों की गिरफ्तारी तय है.

बता दें कि सीबीआई ने अपनी जांच में पवेलियन के साथ क्रिकेट स्टेडियम बनाने में करोड़ों रुपए की वित्‍तीय अनियमितता की बात कही है. दरअसल, अफसरों की मिलीभगत से 62 करोड़ में बनने वाले क्रिकेट स्टेडियम की लागत 200 करोड़ तक पहुंच गई. सीबीआई का आरोप है कि अफसरों ने स्टेडियम की लागत बढ़ाने में बड़ा खेल किया है. इस मामले में नोएडा प्राधिकरण के नौ अधिकारियों पर सीबीआई जांच की तलवार लटक रही है.

इन अधिकारियों पर गाज गिरना तय

मायावती शासनकाल में इस क्रिकेट स्टेडियम की टेंडर प्रक्रिया शुरू हुई थी. वर्ष 2010-11 में टेंडर प्रक्रिया में शामिल प्राधिकरण में तैनात नौ तत्कालीन अधिकारियों पर अब गिरफ़्तारी की तलवार लटक रही है. इस घोटाले में संविदा पर तैनात जूनियर इंजीनियर भी शामिल बताए जाते हैं. जूनियर इंजीनियर दीपक कुमार, आरके जोहरी (जेई टेक्निकल), जेई अनिल शर्मा, असिस्‍टेंट प्रोजेक्ट इंजीनियर आरके जैन, प्रोजेक्ट इंजीनियर एसके गुप्ता, चीफ प्रोजेक्ट इंजीनियर संतोष कुमार श्रीवास्तव और संतराम, सीएमई जल यादव सिंह और फाइनेंस कंट्रोलर एसी सिंह का अब जेल जाना तय माना जा रहा है. यादव सिंह काली कमाई के मामले में पहले से ही जेल में है.

करीब 138 करोड़ के घोटाले की आशंका

मामले की जांच कर रही सीबीआई को अब तक जांच में पता चला है कि अफसरों ने 138 करोड़ के घोटाले को अंजाम दिया है. जिस प्रोजेक्ट की लागत 62 करोड़ थी, उसकी लागत समय-समय पर बढ़ाते हुए 200 करोड़ तक पहुंचा दी गई.

(रिपोर्ट: कुनाल जायसवाल)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 7:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...