• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • नोएडा: किसानों ने बैरिकेट्स तोड़कर नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर पर बोला धावा, लाचार दिखी पुलिस

नोएडा: किसानों ने बैरिकेट्स तोड़कर नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर पर बोला धावा, लाचार दिखी पुलिस

भारतीय किसान यूनियन के नेता प्रवीण मिलक ने उन्‍हें अपने घर जाने के लिए तक कह दिया.

भारतीय किसान यूनियन के नेता प्रवीण मिलक ने उन्‍हें अपने घर जाने के लिए तक कह दिया.

Kisan Andolan: ये किसान नोएडा प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहित अपनी जमीन के मुआवजे में वृद्धि सहित अन्य मांगों को लेकर विरोध कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नोएडा. केंद्र सरकार द्वार पारित तीनों कृषि कानून के विरोध में सोमवार को किसानों (Kisan Andolan) ने भारत बंद के तहत देश के अलग- अलग राज्यों में जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान किसानों ने जगह-जगह ट्रेनें रोकी. साथ ही साथ सड़क जाम कर विरोध जताया. इससे यातायात काफी प्रभावित हुआ. लेकिन इन सभी के बीच भारत बंद (Barat Band) का सबसे ज्यादा असर दिल्ली- एनसीआर में देखने को मिला. यहां किसानों ने जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान सैकड़ों किसान बैरिकेट्स तोड़कर सेक्टर-6 स्थित नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) के कार्यालय पहुंच गए. ये किसान नोएडा प्राधिकरण द्वारा अधिग्रहित अपनी जमीन के मुआवजे में वृद्धि सहित अन्य मांगों को लेकर विरोध कर रहे हैं.

    वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि संयुक्त किसान मोर्चा के भारत बंद से न सिर्फ दिल्‍ली-एनसीआर की ट्रैफिक व्‍यवस्‍था चौपट हो गयी है बल्कि रेलवे ट्रैक पर कब्‍जा करने के साथ दिल्‍ली-अंबाला रूट की कई ट्रेनें कैंसिल हो गयी हैं. वहीं, किसानों ने उत्‍तर प्रदेश को दिल्‍ली से जोड़ने वाले यूपी-गाजीपुर बॉर्डर (Delhi-UP-Ghazipur Border) पर नेशनल हाईवे-9 और नेशनल हाईवे-24 पर कब्‍जा कर लिया है. इस दौरान भारत बंद का समर्थन करने पहुंचे दिल्‍ली पीसीसी अध्‍यक्ष अनिल चौधरी को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा. यही नहीं, भारतीय किसान यूनियन के नेता प्रवीण मिलक ने उन्‍हें अपने घर जाने के लिए तक कह दिया.

    उनके समर्थक वहां से उठकर चले गए
    भारतीय किसान यूनियन के नेताओं ने धरने पर बैठे चौधरी से कहा कि आप इस कांग्रेस का आंदोलन बनाना चाहते हैं, लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे. अगर आपको भारत बंद करना था, तो दिल्‍ली में करते. यहां से आप उठ जाइए. हम अपने आंदोलने को हाईजैक नहीं होने देंगे. वहीं, प्रवीण मलिक ने चौधरी से कहा कि आप यहां से उठ जाइए. इसके बाद वह और उनके समर्थक वहां से उठकर चले गए.

    अनिल चौधरी ने कही ये बात
    कांग्रेस नेता और डीपीसीसी अध्यक्ष अनिल चौधरी ने इस घटना के बाद कहा कि मैं किसानों की परेशानी समझ सकता हूं. कांग्रेस पार्टी सड़क पर अपना विरोध करेगी. किसान कहेंगे हमें यहां से जाना है, हम चले जाएंगे. हम यहां किसानों के लिए आए हैं. हमारा कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है. वहीं, भारतीय किसान यूनियन के नेता प्रवीण मलिक कहा, ‘ हमने उनसे कहा कि हम उन्हें भारत बंद के दौरान उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं, लेकिन हमारा एक गैर-राजनीतिक विरोध और मंच है. हमने पहले घोषणा की थी कि हम अपने मंच पर राजनीतिक दलों को अनुमति नहीं देंगे, इसलिए हमने उनसे अनुरोध किया कि वे हमारी साइट से थोड़ी दूर पर विरोध करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज