अपने ही DGP को नहीं पहचानते यूपी पुलिस के दरोगा और सिपाही

दरअसल, डीजीपी सिविल ड्रेस में थे लेकिन उनके साथ उनकी तीन सितारा गाड़ी और एस्कॉर्ट भी था. बावजूद उसके दोनों अपने मुखिया को नहीं पहचान पाए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 13, 2018, 7:42 AM IST
अपने ही DGP को नहीं पहचानते यूपी पुलिस के दरोगा और सिपाही
डीजीपी ओपी सिंह की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 13, 2018, 7:42 AM IST
यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह को उनके विभाग के ही कर्मचारी नहीं पहचानते हैं. जी हां ये सच है. बुधवार को बिना सूचना के नोएडा पहुंचे डीजीपी ओपी सिंह जब सेक्टर-45 स्थित पुलिस चौकी के पास से गुजर रहे थे तो उन्होंने एक दरोगा और सिपाही को वर्दी गलत ढंग से पहने हुए देखा. जिसके बाद वे उतरे और दरोगा व सिपाही को वर्दी ठीक से न पहनने पर टोका. जिसके बाद दोनों ने उनसे बहस करते हुए कहा कि अपना काम करिए.

दरअसल, डीजीपी सिविल ड्रेस में थे लेकिन उनके साथ उनकी तीन सितारा गाड़ी और एस्कॉर्ट भी था. बावजूद उसके दोनों अपने मुखिया को नहीं पहचान पाए. इसके बाद डीजीपी ने इसकी सूचना एसएसपी को दी. एसएसपी ने कार्रवाई करते हुए दोनों को सस्पेंड कर दिया.

डीजीपी बुधवार को अचानक दिल्ली पहुंचे थे. जिसकी सूचना किसी को नहीं थी. जब वे नोएडा का जायजा लेने पहुंचे. वे आम्रपाली चौकी के पास से गुजरे तो वहां पर सब इंस्पेक्टर हरिभान सिंह और कांस्टेबल योगेश कुमार खड़े थे. हरिभान ने टोपी नहीं लगा रखी थी जबकि सिपाही की टोपी पर अशोक चिन्ह का निशान गायब था. जिसके बाद डीजीपी ने दोनों को बुलाया तो वे उन्हें पहचान नहीं पाए. हालांकि डीजीपी ने वर्दी नहीं पहनी थी लेकिन दोनों पुलिसकर्मी गाड़ी पर तीन स्टार और एस्कॉर्ट होने के बाद भी अंदाजा नहीं लगा पाए.

विबह्ग के अधिकारियों ने बताया कि हरिभान सिंह ने कल ही सेक्टर-45 चौकी पर कार्यभार ग्रहण किया था. 3 घंटे की ही ड्यूटी कर पाए थे कि डीजीपी का दौरा हो गया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर