• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • अब नोएडा में बनेंगे ई-रिक्शा, ई-स्कूटी, ई-बाइक और ई-कार, बसाई जा रही है इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी

अब नोएडा में बनेंगे ई-रिक्शा, ई-स्कूटी, ई-बाइक और ई-कार, बसाई जा रही है इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी

यमुना अथॉरिटी सिटी बसा रही इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी. (फोटो क्रेडिट-revoltmotors.com)

यमुना अथॉरिटी सिटी बसा रही इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी. (फोटो क्रेडिट-revoltmotors.com)

जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के नजदीक किसी एक इंडस्ट्री को पार्क विकसित करने के लिए जमीन दी जा रही है. करीब आधा दर्जन पार्क पर पहले से ही काम चल रहा है. सेक्टर-28 में इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी (Electric Vehicle City) के लिए जमीन दी जा सकती है.

  • Share this:

    नोएडा. ई-रिक्शा, ई स्कूटी, ई बाइक (E-Bike) और इलेक्ट्रिक कार अब नोएडा में ही बनेंगी. इसके लिए एक बड़े प्रोजेक्ट पर काम भी प्रारंभ कर दिया गया है. कंपनियों को जगह देने के लिए 100 एकड़ में इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी (Electric Vehicle City) विकसित की जाएगी. इस मामले को लेकर हाल ही में इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चर संस्था का प्रधिनिधिमंडल यमुना अथॉरिटी के सीईओ से मिला था. सीईओ ने भी प्रस्ताव में दिलचस्पी दिखाते हुए 100 एकड़ जमीन देने की बात कही है. यह कोई पहला मौका नहीं है जब जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) के नजदीक किसी एक इंडस्ट्री को पार्क विकसित करने के लिए जमीन दी जा रही है. करीब आधा दर्जन पार्क पर पहले से ही काम चल रहा है. सेक्टर-28 में इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी के लिए जमीन दी जा सकती है.

    इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी में आएंगी 50 कंपनियां
    इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चर संस्था के प्रधिनिधिमंडल ने यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुणवीर सिंह से मुलाकात की. उन्होंने सीईओ को यकीन दिलाते हुए कहा कि अगर अथॉरिटी इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी विकसित करता है तो सिटी में कम से कम 50 कंपनियां अपनी यूनिट शुरू कर देंगी. इसके बाद ई-रिक्शा, ई स्कूटी, ई बाइक और इलेक्ट्रीक कार तो बनेंगी ही, साथ में ई वाहनों में इस्तेमाल होने वाली लिथियम बैटरी पर इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी में ही बनेगी.

    साथ ही अथॉरिटी ने भी कारोबारियों को यह यकीन दिलाया है कि जब इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी बनेगी तो जमीन के साथ ही कॉमन फैसिलिटी सेंटर, रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेंटर, लैब टेस्टिंग स्किल डेवलपमेंट सेंटर, ग्रीन इनोवेशन सेंटर की सुविधाएं भी दी जाएंगी. अथॉरिटी ने इसी के चलते सभी कारोबारियों से डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट मांगी है.

    Jewar Airport की सुरक्षा को लेकर पुलिस कमिश्नर और एयरपोर्ट के सीईओ संग हुई मीटिंग

    इलेक्ट्रिक व्हीकल सिटी में यह सुविधाएं भी मिलेंगी
    अथॉरिटी का कहना है कि अगर ई व्हीकल कारोबारी शर्तों को पूरा करते हैं तो उन्हें एक ही छत के नीचे तमाम सुविधाएं दी जाएंगी. कारोबारियों को भटकना नहीं जाना पड़ेगा. उन्हें एक छत के नीचे ही सारी सुविधाएं मिल जाएंगी. इलेक्ट्रिक व्हीकल यूनिट लगाने वालों को 7 साल तक ब्याज में 50 प्रतिशत छूट मिलेगी. यह पैसा सरकार देगी.

    रिसर्च एंड डेवलपमेंट पर 5 प्रतिशत की सब्सिडी मिलेगी. इलेक्ट्रिक ड्यूटी 10 साल के लिए माफ होगी. स्टांप शुल्क में 50 प्रतिशत की छूट मिलेगी. स्टेट जीएसटी में 10 साल तक 90 प्रतिशत की छूट दी जाएगी. 200 कर्मचारियों तक पीएफ में सरकार सहयोग करेगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज