चाचा अधिकारी तो भतीजा केंद्रीय मंत्री बन करते थे वसूली, गिरफ्तार

भाषा
Updated: August 19, 2019, 9:03 AM IST
चाचा अधिकारी तो भतीजा केंद्रीय मंत्री बन करते थे वसूली, गिरफ्तार
नोएडा में पुलिस ने एक चाचा-भतीजे की जोड़ी को गिरफ्तार किया है जो मंत्री और अधिकारी बन लोगों से ठगी करते थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) में फर्जी मंत्री (Fake Minister) और क्राइम ब्रांच (Crime Branch) का अधिकारी बनकर वसूली और ठगी करने वाले चाचा-भतीजे को कोतवाली फेज तीन की पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) में फर्जी मंत्री (Fake Minister) और क्राइम ब्रांच (Crime Branch) का अधिकारी बनकर वसूली और ठगी करने वाले चाचा-भतीजे को कोतवाली फेज तीन की पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है. चाचा क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनता था तो भतीजा कभी केंद्रीय मंत्री, तो कभी राज्य के मंत्री तो कभी मंत्रियों के पीएस बनकर ट्रांसफर-पोस्टिंग कराने का लालच देकर लाखों की कमाई करता था

एक आरोपी ने शनिवार को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बनकर एक शख्स को गाड़ी में बंधक बना लिया और जेल भेजने के नाम पर उससे 33 हजार रुपए वसूल लिए. पुलिस ने जब आरोपी को पकड़ा, तो उसे छुड़ाने के लिए दूसरे आरोपी ने मंत्री बनकर नोएडा के एसपी सिटी को फोन किया. बहरहाल जांच में माजरा सामने आने पर पूरे रैकेट का खुलासा हुआ.

चाचा क्राइम ब्रांच का अधिकारी तो भतीजा खुद को बताता था मंत्री
कोतवाली फेज तीन पुलिस ने दिल्ली के मयूर विहार (Mayur Vihar) फेज तीन के रहने वाले प्रेम शर्मा और बुलंदशहर के सिकंदराबाद निवासी आकाश शर्मा को ममूरा चौक से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि प्रेम और आकाश रिश्ते में चाचा भतीजे लगते हैं. चाचा प्रेम शर्मा खुद को नोएडा पुलिस का क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताता था, जबकि आकाश खुद को मंत्री बताता था.

एसपी सिटी विनीत जयसवाल ने बताया कि 17 अगस्त को कोतवाली फेज तीन में ममूरा निवासी भारत उर्फ अर्जुन ने मुकदमा दर्ज कराया था कि उसे कुछ लोगों ने क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताकर बंधक बना लिया था और जेल भेजने की धमकी देकर 33 हजार रुपए वसूल लिए थे.

फर्जी मंत्री ने पुलिस को फोन कर दबाव नहीं बनाने की दी हिदायत
उन्होंने बताया, ‘जब इस मामले की जांच पुलिस ने शुरू की और प्रेम शर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तब एसपी सिटी के पास दूसरे आरोपी ने एक मंत्री बनकर फोन किया और प्रेम पर पर किसी प्रकार का दबाव नहीं बनाने की हिदायत दी. इसके बाद फर्जी मंत्री ने अन्य अधिकारियों को भी फोन किया.’
Loading...

एसपी सिटी को बातचीत संदिग्ध लगी. इसके बाद जांच के दौरान रविवार की सुबह दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. इस मामले में एक अन्य आरोपी का नाम प्रकाश में आया है. इसकी भूमिका की भी जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें-

तीन तलाक मिलने पर पुलिस में की शिकायत, पति और ससुराल वालों ने जिंदा जलाया

कमाठीपुरा रेड लाइट एरिया छोड़कर जाने को मजबूर सेक्स वर्कर्स, ये है वजह...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नोएडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 9:03 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...