Home /News /uttar-pradesh /

residential industrial and institutional plots will expensive in noida dlnh

नोएडा में फिर महंगा होगा आशियना और कारोबार का सपना, बढ़ेंगे जमीन के दाम

नोएडा अथॉरिटी के एक सर्वे में यह सामने आया है कि नोएडा के कई सेक्टर में रेजिडेंशियल प्लाट के दाम दोगुना तक हो गए हैं. Demo Pic

नोएडा अथॉरिटी के एक सर्वे में यह सामने आया है कि नोएडा के कई सेक्टर में रेजिडेंशियल प्लाट के दाम दोगुना तक हो गए हैं. Demo Pic

नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) के एक सर्वे में यह सामने आया है कि नोएडा के कई सेक्टर में रेजिडेंशियल प्लाट (Residential Plot) के दाम दोगुना तक हो गए हैं. कुछ ऐसा ही हाल इंडस्ट्रियल और इंस्टीट्यूशनल प्लाट का भी है. इसी के चलते रेट बढ़ाने पर विचार किया गया है. हालांकि डिमांड न होने के चलते कमर्शियल प्लाट को इससे दूर रखा जा रहा है. क्योंकि बहुत सारे मामलों में अथॉरिटी के कमर्शियल प्लाट (Commercial Plot) को खरीदार नहीं मिल रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. आशियना और कारोबार का सपना महंगा होने जा रहा है. जल्द ही नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) रेजिडेंशियल, इंडस्ट्रियल और इंस्टीट्यूशनल प्लाट के दाम बढ़ाने जा रही है. कई वर्ष बाद यह पहला मौका है जब अथॉरिटी नोएडा में जमीन (Land) महंगी करने का प्रस्ताव बोर्ड बैठक में लाने की तैयारी कर रही है. खुले बाजार में प्लाट के दाम बढ़ने के चलते अथॉरिटी यह कदम उठा रही है. गौरतलब रहे इससे पहले अथॉरिटी मेट्रो स्टेशन (Metro Station), नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे (Noida-Greater Noida Expressway) और ग्रीन बेल्ट के पास की जमीन पर एक्सट्रा चार्ज लगा चुकी है.

ऐसे लगेगा लोकेशन और ग्रीन बेल्ट चार्ज

जानकारों की मानें तो गौतम बुद्ध नगर प्रशासन मेट्रो रेल कॉरिडोर और नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे के किनारे होने वाली जमीन की खरीद-फरोख्त पर लोकेशन चार्ज वसूलेगा. नए नियमों के तहत मेट्रो रेल कॉरिडोर और नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस वे के दोनों और एक किमी के दायरे में होने वाली जमीन की खरीद पर 5 से 10 फीसदी तक लोकेशन चार्ज लगेगा. लोकेशन चार्ज रेजिडेंशियल और कमर्शियल दोनों तरह की प्रापर्टी पर देना होगा. अगर कोई प्रापर्टी रीसेल हो रही है तो उस पर 2 फीसद का लोकेशन चार्ज देना होगा.

इसी तरह से अगर आपके रेजिडेंशियल प्लॉट के सामने ग्रीन बेल्ट हैं तो इस पर भी आपको सर्किल रेट के साथ 5 फीसद रकम ज्यादा चुकानी होगी. ऐसा करने के बाद ही आपके प्लॉट की रजिस्ट्री हो पाएगी.

यहां देना होगा लोकेशन और ग्रीन बेल्ट चार्ज

अगर मेट्रो लाइन की बात करें तो एक्वा लाइन मेट्रो कॉरिडोर के एक तरफ जैतपुर डिपो स्टेशन से लेकर ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी दफ्तर, सेक्टर डेल्टा, अल्फा, परी चौक और नॉलेज पार्क है. जबकि दूसरी ओर कुछ हाउसिंग प्रोजेक्ट, कमर्शियल प्रॉपर्टी, जेपी ग्रीन्स समेत कई परियोजनाएं हैं. यह सभी जगह लोकेशन चार्ज की दायरे में आएंगी

31 जुलाई तक नहीं खुला अंडरपास तो लगेगा जुर्माना, सीईओ ने दी चेतावनी

यहां भी देना होगा लोकेशन चार्ज

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी जैतपुर डिपो से बोड़ाकी तक मेट्रो जाएगी. यही मेट्रो मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब तक भी जाएगी. यह कॉरिडोर करीब 3 किलोमीटर का होगा. इसमें भी ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के कई आवासीय सेक्टर और औद्योगिक सेक्टर आ जाएंगे.

नोएडा से ग्रेटर नोएडा वेस्ट मेट्रो आनी है. इसमें गौर सिटी और आसपास की सोसाइटी आ जाएंगी. इसके अलावा दूसरे चरण में नॉलेज पार्क-5 तक मेट्रो जाएगी. इस कॉरिडोर में अथॉरिटी के कई आवासीय सेक्टर, बिल्डरों के हाउसिंग प्रोजेक्ट आएंगे.

ग्रेटर नोएडा में कितनी महंगी हो चुकी है जमीन

जेवर एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, इंडस्ट्रियल, कमर्शियल और इंस्टीट्यूशनल डवलपमेंट के चलते ग्रेटर नोएडा में सभी तरह के प्लाट की डिमांड बढ़ गई है. खासतौर से रेजिडेंशियल प्लाट की डिमांड दिन-बा-दिन बढ़ती जा रही है. लेकिन ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी का कहना है कि शहर के विकास को देखते हुए उसने जमीनों के रेट में इजाफा किया है. जिसमे सभी तरह की कैटेगिरी शामिल हैं.

यह हैं रेजिडेंशियल प्लाट के नए और पुराने रेट

जोन      पुराने रेट           नए रेट

ए             33,330         39,000

बी            31,250         36,000

सी            27,088         34,000

डी             24, 060        29,000.

Tags: Greater noida news, Land Purchase Case, Noida Authority

अगली ख़बर