Home /News /uttar-pradesh /

आरटीआई के दम पर नोएडा के गांव की तस्वीर बदलने में लगे है रंजन तोमर.

आरटीआई के दम पर नोएडा के गांव की तस्वीर बदलने में लगे है रंजन तोमर.

Rti

Rti activist from noida Ranjan tomar.

रंजन कहते हैं कि आरटीआई मैं समाज में बदलाव लाने के लिए करता हूं, किसी से घबराता तो कब का छोड़ चुका होता

    नोएडा: कबीर ने लिखा है करत-करत अभ्यास के, जड़मति होत सुजान, रसरी आवत जात तें, सिल पर परत निशान. इसका अर्थ है  कि किसी काम को बार बार करने से सफलता जरूर मिलती है. उत्तर प्रदेश के जिला गौतमबुद्ध नगर (Noida) के एक गांव रोहिल्लापुर के रहने वाले रंजन तोमर इस बात को चरितार्थ कर रहे हैं. रंजन तोमर एक आरटीआई कार्यकर्ता है और अपने आरटीआई के दम पर इन्होंने नोएडा के ग्रामीण क्षेत्रों की दशा बदल दी है. तोमर की आरटीआई की धमक नोएडा के अलावा और कई राज्यों एवं मंत्रालयों में गूंजती है.
    नोएडा प्राधिकरण के पार्किंग व्यवस्था में भ्रष्टाचार को खत्म किया
    रंजन तोमर अपने पीएचडी के लिए लिख रहे थिसिस को साइड में रखते हुए कहते हैं कि आरटीआई देश के आम नागरिक को शक्ति देता है, जिससे वो भ्रष्टाचार और सरकारी तंत्र में फैले अनियमितता को खत्म कर सके. साल 2005 में यह एक्ट आया था, जिसके माध्यम से वो अभी चीजे जो भ्रष्ट अधिकारी या कार्यालय गुप्त रख लेते थे उसको उजागर कर सकते हैं. 2018 में नोएडा प्राधिकरण के पार्किंग व्यवस्था में बड़ा धांधली चलता था. इसमें 14.5 प्रतिशत टैक्स के हिसाब से 14.50 पैसे पार्किंग शुल्क लगता था, दिखने में तो यह मात्र 14.50 रुपए है लेकिन असल खेल बांकी के खुले पैसे में होता था. 50 पैसे किसी के पास चेंज होता नहीं था, इसलिए कोई 15 रुपए देकर चला जाता था,कुछ तो 20 रुपए देकर चला जाता था. यह धांधली सालों से चल रही थी, ये पैसा या तो नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को जाता था या ठेकेदार गलत तरीके से पैसा वसूल रहे थे. जब आरटीआई डाली तो यह व्यवस्था बदली.

    जीव जंतुओं के लिए है स्पेशल प्रेम
    तोमर की शादी 3 साल पहले हुई थी, उनका एक बेटा है. बेटे की तस्वीर दिखाते हुए रंजन तोमर कहते हैं कि मेरी दुनियां यही है. मैं किसी के साथ गलत नहीं कर सकता या किसी के साथ गलत होते नहीं देख सकता, जानवर जो होते है वो बोल नहीं सकते उसका शिकार बहुत होता है. इस पर भी मैने कई आरटीआई डाल कर  वाइल्डलाइफ के सरंक्षण के लिए भी कई काम सरकार को उठाने के लिए मजबूर कर दिया. एक सींग वाला गैंडा काजीरंगा नेशनल पार्क में ही मिलता है सबसे ज्यादा शिकारी उसका शिकार करते थे मैने इतनी बार इसके खिलाफ आरटीआई डाली की सरकार ने काजीरंगा में 82 जवानों को तैनात सिर्फ एक सींग वाले राइनो के बचाव के लिए किया है.

    गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन आरटीआई को कमजोर कर रहा है.
    रंजन तोमर से अपने जिले के बारे में पूछने पर बताते हैं कि जिला गौतमबुद्ध नगर में जिला प्रशासन आरटीआई के कानून को कमजोर कर रहा है, कोई भी आरटीआई का जवाब नहीं देते है, कई बार अपील करने पर जवाब आता है. वो कहते हैं कि हम तो इस बात को भलीभांति जानते हैं लेकिन जो आम जनता है वो थक हार कर घर बैठ जाती है और कोई जवाब नहीं दिया जाता. इसलिए जिला प्रशासन और डीएम सुहास एलवाई (Suhas Ly) से रिक्वेस्ट कर रहे हैं कि इस पर ध्यान दे ताकि आरटीआई की आत्मा जिंदा रहे.

    कई बार मिली है धमकी, लेकिन डरता किसी से नहीं
    यह पूछने पर कि क्या आरटीआई करने के बाद कोई अधिकारी या कोई खास व्यक्ति कुछ कहता नहीं है? इस पर रंजन अपने कुर्ते की बांह को ऊपर चढ़ाते हुए कहते हैं कि आरटीआई मैं समाज में बदलाव लाने के लिए करता हूं, किसी से घबराता तो कब का छोड़ चुका होता, सालों से लोग धमकियां देते है, अधिकारी कई बार नाराज हो जातें है, मुझे तो सीधे कुछ नहीं कहते लेकिन मेरे पहचान के लोगों को बोलते हैं कि रंजन तोमर बुरा फंसेगा.
    (रिपोर्ट -आदित्य कुमार)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर